Friday, August 19, 2022

आदिवासी परिवार को गांव से बेदखल करने की धमकी, डिप्टी रेंजर के खिलाफ पुलिस से शिकायत

कोटा (रोहित साहू)- लॉक डाउन में भी नहीं बख्शे जा रहे राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासी समुदाय के लोग गाँव से बाहर निकालने की दी जा रही है, धमकी डरे सहमे बैगा आदिवासियों के द्वारा सरपंच को दी, जिसके बाद सरपंच ने पुलिस चौकी बेलगहना में लिखित शिकायत की है।

बिलासपुर जिले के कोटा ब्लाक के सहायक वन परिक्षेत्र बेलगहना के अंतर्गत आने वाले परिक्षेत्र सहायक खोंगसरा के आदिवासी गाँवों में डिप्टी रेंजर हैवत खान द्वारा बैगा परिवारों के साथ अभद्र व्यवहार गाली गलौज एवं गाँव से निकालने की धमकी लगातार देने की शिकायत सामने आई हैl बैगा परिवारों के मुताबिक डिप्टी रेंजर हैवात खान के इस कृत्य से सभी ग्रामीण डरे सहमे हुए हैंl

पीडित बैगा परिवार के लोगों ने बताया कि उनका परिवार पूरी तरह जंगल पर आश्रित है. लॉक डाउन के कठिन समय में जंगल में महुआ ,तेंदू,बीन कर हम सब जीवन यापन कर रहे हैं. इन लोगों ने बताया कि उनके परिवार के महिला,पुरुषो को आये दिन डिप्टी रेंजर द्वारा गाली गलौच की जाती है और घर से निकलाने की धमकी दी जाती है,जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने लॉक डाउन की वजह से जिलाधीश बिलासपुर को मोबाइल के माध्यम से दी है. साथ ही इसकी शिकायत बेलगहना चौकी में भी लिखित में कराई गई है.
मिली जानकारी के अनुसार खोंगसरा एवं टाटीधार के जंगलो में लकड़ी तस्करों के द्वारा आये दिन लकड़ी चोरी का काम किया जा रहा है,जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने वन विभाग को दी थी,जिस पर कोई कार्यवाही नही की जा रही थी. इसकी जानकारी ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों को दी , जिससे आक्रोशित डिप्टी रेंजर ने गाँव वालो को ही डराने-धमकाने का काम शुरू कर किया और गाँव से बैगा परिवार को निकालने की धमकी भी दी, जिसमें ग्रामीण रामसिंह बैगा द्वारा ग्रामीणों के सहयोग से बेलगहना चौकी में पहुँच कर मामला की शिकायत की है.
ग्रामीणों ने बताया कि आये दिन डिप्टी रेंजर हैवत खान द्वारा गाँव के रामसिंह बैगा, असडू बैगा, इन्द्रावती बैगा, साम्भर सिंह बैगा, रामप्रसाद बैगा, सन्तु बैगा के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए गाँव से निकालने की धमकी दी जाती है. ग्रामीणों ने कहा कि ऐसे में हम कहाँ जाएं. ग्रामीणों ने बताया कि डिप्टी रेंजर के खिलाफ शिकायत कलेक्टर महोदय से की गई है. उन्होंने बताया कि डिप्टी रेंजर द्वारा ग्रामीणों के साथ ग्राम पंचायत खोंगसरा, टाटीधार, आमागोहन के प्रतिनिधियों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया है. मुख्यमंत्री जन चौपाल में भी डिप्टी रेंजर को हटाने का पूर्व में भी लिखित आवेदन दिया जा चुका उसके बाद भी अब तक डिप्टी रेंजर को हटाने की कार्यवाही नही की गई. जब इस मामले में बेलगहना रेंज के रेन्जर विजय साहू से फोन पर जानकारी ली गई तो इस मामले में तोल – मोल जवाब देते हुए उनका कहना था, की इसकी लिखित शिकायत नहीं आया है शिकायत आने पर जाँच करने की बात कही गई,जिससे साफ इनकार नहीं किया जा सकता कि जिम्मेदार अधिकारी भी अपने कर्मचारी को बचाने में तुले हैं,

वहीँ इस मामले बेलगहना चौकी प्रभारी दिनेश चंद्रा से हमने फोन पर मामले की जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि प्रार्थी राम सिंह बैगा के द्वारा लिखित में शिकायत मिली है मामले की जाँच करने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी.बहरहाल हाल देखने वाली बात है कि लॉक डाउन में रोजमर्रा कमाने खाने वाले राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासियों को धमकाने वाले अपने पद का धौस दिखाने वाले जिम्मेदार डिप्टी रेन्जर पर क्या कार्यवाही होती है।

GiONews Team
Editor In Chief

26 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

कोटा (रोहित साहू)- लॉक डाउन में भी नहीं बख्शे जा रहे राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासी समुदाय के लोग गाँव से बाहर निकालने की दी जा रही है, धमकी डरे सहमे बैगा आदिवासियों के द्वारा सरपंच को दी, जिसके बाद सरपंच ने पुलिस चौकी बेलगहना में लिखित शिकायत की है।

बिलासपुर जिले के कोटा ब्लाक के सहायक वन परिक्षेत्र बेलगहना के अंतर्गत आने वाले परिक्षेत्र सहायक खोंगसरा के आदिवासी गाँवों में डिप्टी रेंजर हैवत खान द्वारा बैगा परिवारों के साथ अभद्र व्यवहार गाली गलौज एवं गाँव से निकालने की धमकी लगातार देने की शिकायत सामने आई हैl बैगा परिवारों के मुताबिक डिप्टी रेंजर हैवात खान के इस कृत्य से सभी ग्रामीण डरे सहमे हुए हैंl

पीडित बैगा परिवार के लोगों ने बताया कि उनका परिवार पूरी तरह जंगल पर आश्रित है. लॉक डाउन के कठिन समय में जंगल में महुआ ,तेंदू,बीन कर हम सब जीवन यापन कर रहे हैं. इन लोगों ने बताया कि उनके परिवार के महिला,पुरुषो को आये दिन डिप्टी रेंजर द्वारा गाली गलौच की जाती है और घर से निकलाने की धमकी दी जाती है,जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने लॉक डाउन की वजह से जिलाधीश बिलासपुर को मोबाइल के माध्यम से दी है. साथ ही इसकी शिकायत बेलगहना चौकी में भी लिखित में कराई गई है.
मिली जानकारी के अनुसार खोंगसरा एवं टाटीधार के जंगलो में लकड़ी तस्करों के द्वारा आये दिन लकड़ी चोरी का काम किया जा रहा है,जिसकी शिकायत ग्रामीणों ने वन विभाग को दी थी,जिस पर कोई कार्यवाही नही की जा रही थी. इसकी जानकारी ग्रामीणों ने जनप्रतिनिधियों को दी , जिससे आक्रोशित डिप्टी रेंजर ने गाँव वालो को ही डराने-धमकाने का काम शुरू कर किया और गाँव से बैगा परिवार को निकालने की धमकी भी दी, जिसमें ग्रामीण रामसिंह बैगा द्वारा ग्रामीणों के सहयोग से बेलगहना चौकी में पहुँच कर मामला की शिकायत की है.
ग्रामीणों ने बताया कि आये दिन डिप्टी रेंजर हैवत खान द्वारा गाँव के रामसिंह बैगा, असडू बैगा, इन्द्रावती बैगा, साम्भर सिंह बैगा, रामप्रसाद बैगा, सन्तु बैगा के साथ अभद्र व्यवहार करते हुए गाँव से निकालने की धमकी दी जाती है. ग्रामीणों ने कहा कि ऐसे में हम कहाँ जाएं. ग्रामीणों ने बताया कि डिप्टी रेंजर के खिलाफ शिकायत कलेक्टर महोदय से की गई है. उन्होंने बताया कि डिप्टी रेंजर द्वारा ग्रामीणों के साथ ग्राम पंचायत खोंगसरा, टाटीधार, आमागोहन के प्रतिनिधियों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया है. मुख्यमंत्री जन चौपाल में भी डिप्टी रेंजर को हटाने का पूर्व में भी लिखित आवेदन दिया जा चुका उसके बाद भी अब तक डिप्टी रेंजर को हटाने की कार्यवाही नही की गई. जब इस मामले में बेलगहना रेंज के रेन्जर विजय साहू से फोन पर जानकारी ली गई तो इस मामले में तोल – मोल जवाब देते हुए उनका कहना था, की इसकी लिखित शिकायत नहीं आया है शिकायत आने पर जाँच करने की बात कही गई,जिससे साफ इनकार नहीं किया जा सकता कि जिम्मेदार अधिकारी भी अपने कर्मचारी को बचाने में तुले हैं,

वहीँ इस मामले बेलगहना चौकी प्रभारी दिनेश चंद्रा से हमने फोन पर मामले की जानकारी ली तो उन्होंने बताया कि प्रार्थी राम सिंह बैगा के द्वारा लिखित में शिकायत मिली है मामले की जाँच करने के बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी.बहरहाल हाल देखने वाली बात है कि लॉक डाउन में रोजमर्रा कमाने खाने वाले राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र बैगा आदिवासियों को धमकाने वाले अपने पद का धौस दिखाने वाले जिम्मेदार डिप्टी रेन्जर पर क्या कार्यवाही होती है।