Thursday, December 8, 2022

कॉलेज में सुविधाओं का अभाव, विद्यार्थी परेशान

पेण्ड्रा– नवगठित जिले गौरैला-पेण्ड्रा-मरवाही के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के सबसे बड़े और एकमात्र महाविद्यालय में विगत तीन सालों से छात्रों को उचित सुविधाएं नही मिल रही है, वही मौलिक सुविधाओ के लिए आदिवासी छात्र छात्राएं दर बदर भटक रहे है। वही शासन द्वारा करोड़ो का बजट तो दिया जाता है, मगर उसका सही तरीके से क्रियान्वयन नही होने से छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
वही महाविद्यालय के अध्ययनरत छात्र छात्राओं ने बताया, कि महाविद्यालय के चारो ओर बाउंड्री वाल नही होने से महाविद्यालय में आये दिन असामाजिक तत्वों का जमावड़ा बना रहता है, जहाँ छात्राएं भी पढ़ती है और कई गंभीर मामले भी होते है मगर महाविद्यालय प्रबंधन इस ओर ध्यान नही देता है
बात करे मूलभूत सुनविधाओ की तो महाविद्यालय की बिल्डिंग जर्जर हालात में है जहाँ महाविद्यालय के छात्र एवं छात्राएं अपनी जान जोखिम में डालकर अध्ययन करते है।

जहाँ महाविद्यालय की छत गिरने के कगार पर है जिससे कभी भी कोई गंभीर हादसा होने का खतरा बना रहता है . वही न तो छात्र छात्राओं के लिए उचित लाइब्रेरी की सुविधा है वही अध्य्यनरत छात्र छात्राओं ने बताया कि पहले हर साल वार्षिक उत्सव मनाया जाता था मगर जब से नई प्राचार्या आई है तब से वार्षिक उत्सव भी नही मनाने दिया जाता है .
इन सभी समस्याओं को लेकर महाविद्यालय के छात्र छात्राओं द्वारा उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया जिसके बाद इन समस्याओं को लेकर जांच के आदेश हुए . समस्याओं से अवगत कराएं जाने पर छात्रों ने बताया उन्हें महाविद्यालय की प्राचार्या द्वारा धमकी भी दी जाती है कि जो भी महाविद्यालय की शिकायत करेगा उसकी स्कॉलरशिप रोक दी जाएगी और साथ ही परीक्षा में बैठने की अनुमति भी नही दी जाएगी और साफ शब्दों में केरियर खराब करने की धमकी दी जाती है जिससे महाविद्यालय के छात्राओ में काफी डर का माहौल भी बना हुआ है।

GiONews Team
Editor In Chief

4 COMMENTS

  1. Evde tek başına kalınca hizmetçiyi sikiyor araması için 564⭐ porno filmi listeniyor.

    En iyi evde tek başına kalınca hizmetçiyi sikiyor sikiş
    videoları 7DAK ile, kaliteli sikiş videoları,
    türkçe izlenme rekoru kıran seks izle. 7 311.665 Video.

  2. In Meyler’s Side Effects of Drugs (Sixteenth Edition), 2016.
    Teratogenicity. Dicycloverine was formerly combined with doxylamine succinate and sometimes with pyridoxine in Debendox (Bendectin) tablets, which were used in certain countries for the treatment of nausea and
    vomiting in pregnancy. There has been a widely discussed suggestion that
    Debendox might cause a range of fetal malformations.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

पेण्ड्रा– नवगठित जिले गौरैला-पेण्ड्रा-मरवाही के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र के सबसे बड़े और एकमात्र महाविद्यालय में विगत तीन सालों से छात्रों को उचित सुविधाएं नही मिल रही है, वही मौलिक सुविधाओ के लिए आदिवासी छात्र छात्राएं दर बदर भटक रहे है। वही शासन द्वारा करोड़ो का बजट तो दिया जाता है, मगर उसका सही तरीके से क्रियान्वयन नही होने से छात्रों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
वही महाविद्यालय के अध्ययनरत छात्र छात्राओं ने बताया, कि महाविद्यालय के चारो ओर बाउंड्री वाल नही होने से महाविद्यालय में आये दिन असामाजिक तत्वों का जमावड़ा बना रहता है, जहाँ छात्राएं भी पढ़ती है और कई गंभीर मामले भी होते है मगर महाविद्यालय प्रबंधन इस ओर ध्यान नही देता है
बात करे मूलभूत सुनविधाओ की तो महाविद्यालय की बिल्डिंग जर्जर हालात में है जहाँ महाविद्यालय के छात्र एवं छात्राएं अपनी जान जोखिम में डालकर अध्ययन करते है।

जहाँ महाविद्यालय की छत गिरने के कगार पर है जिससे कभी भी कोई गंभीर हादसा होने का खतरा बना रहता है . वही न तो छात्र छात्राओं के लिए उचित लाइब्रेरी की सुविधा है वही अध्य्यनरत छात्र छात्राओं ने बताया कि पहले हर साल वार्षिक उत्सव मनाया जाता था मगर जब से नई प्राचार्या आई है तब से वार्षिक उत्सव भी नही मनाने दिया जाता है .
इन सभी समस्याओं को लेकर महाविद्यालय के छात्र छात्राओं द्वारा उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया जिसके बाद इन समस्याओं को लेकर जांच के आदेश हुए . समस्याओं से अवगत कराएं जाने पर छात्रों ने बताया उन्हें महाविद्यालय की प्राचार्या द्वारा धमकी भी दी जाती है कि जो भी महाविद्यालय की शिकायत करेगा उसकी स्कॉलरशिप रोक दी जाएगी और साथ ही परीक्षा में बैठने की अनुमति भी नही दी जाएगी और साफ शब्दों में केरियर खराब करने की धमकी दी जाती है जिससे महाविद्यालय के छात्राओ में काफी डर का माहौल भी बना हुआ है।