Tuesday, December 6, 2022

कोटा राजस्थान से बिलासपुर जोन की बसें 26 को होंगी रवाना.. प्रशासन की देखरेख में रहेंगे लौटे विद्यार्थी.. डीईओ होंगे प्रभारी..

बिलासपुर– कोटा राजस्थान में लॉकडाउन के बाद से रुके छात्र-छात्राओं को लेकर छत्तीसगढ़ के लिए बसें 26 अप्रैल को रवाना होगी।

बिलासपुर जोन की 28 बसें शाम को 7.30 बजे रवाना होगी। प्रस्थान स्थल काउन्ट्री इन से 9, सत्यार्थ से 8 और कुन्हाड़ी से 11 बसें रवाना की जायेंगी। बच्चों को शाम 7 बजे निर्धारित स्थल पर पहुंचने के लिए कहा गया था। बिलासपुर जोन की बसों में बिलासपुर, मुंगेली, कोरबा, जांजगीर-चाम्पा, रायगढ़ तथा गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले के छात्र-छात्राओं को लाया जायेगा।

बच्चों की अभिभावक की तरह होगी देखभाल, डीईओ बनाये गये प्रभारी

कोटा राजस्थान से वापस आ रहे बिलासपुर जिले के बच्चों की देखभाल प्रशासन द्वारा अभिभावकों की तरह की जायेगी, जिसके लिए तैयारी की जा रही है। कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने जिला शिक्षा अधिकारी को प्रभारी अधिकारी बनाया है, और उन्हें विद्यार्थियों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।
कलेक्टर ने कहा है, कि प्रत्येक बच्चे का रिकॉर्ड रखा जाये, जिसमें उनका पता, अभिभावकों का नाम-पता, मोबाइल नंबर आदि जानकारी रहेंगी। जिला शिक्षा अधिकारी इन सभी कार्यों की मॉनिटरिंग करेंगे।

क्वारेंटाइन रहेंगे सभी बच्चे
वापस आने वाले सभी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा। शासन के निर्देशानुसार इन छात्रों को क्वारांटाइन पर रखने के लिए आवश्यक तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश कलेक्टर ने दिया। उनके भोजन, चिकित्सा एवं अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा, कि किसी भी बच्चे को कोई परेशानी न हो। क्वारांटइन पर रखे जाने वाले बच्चों के लिये सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खेल एवं मनोरंजन की सामग्री उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– कोटा राजस्थान में लॉकडाउन के बाद से रुके छात्र-छात्राओं को लेकर छत्तीसगढ़ के लिए बसें 26 अप्रैल को रवाना होगी।

बिलासपुर जोन की 28 बसें शाम को 7.30 बजे रवाना होगी। प्रस्थान स्थल काउन्ट्री इन से 9, सत्यार्थ से 8 और कुन्हाड़ी से 11 बसें रवाना की जायेंगी। बच्चों को शाम 7 बजे निर्धारित स्थल पर पहुंचने के लिए कहा गया था। बिलासपुर जोन की बसों में बिलासपुर, मुंगेली, कोरबा, जांजगीर-चाम्पा, रायगढ़ तथा गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही जिले के छात्र-छात्राओं को लाया जायेगा।

बच्चों की अभिभावक की तरह होगी देखभाल, डीईओ बनाये गये प्रभारी

कोटा राजस्थान से वापस आ रहे बिलासपुर जिले के बच्चों की देखभाल प्रशासन द्वारा अभिभावकों की तरह की जायेगी, जिसके लिए तैयारी की जा रही है। कलेक्टर डॉ. संजय अलंग ने जिला शिक्षा अधिकारी को प्रभारी अधिकारी बनाया है, और उन्हें विद्यार्थियों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है।
कलेक्टर ने कहा है, कि प्रत्येक बच्चे का रिकॉर्ड रखा जाये, जिसमें उनका पता, अभिभावकों का नाम-पता, मोबाइल नंबर आदि जानकारी रहेंगी। जिला शिक्षा अधिकारी इन सभी कार्यों की मॉनिटरिंग करेंगे।

क्वारेंटाइन रहेंगे सभी बच्चे
वापस आने वाले सभी बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जायेगा। शासन के निर्देशानुसार इन छात्रों को क्वारांटाइन पर रखने के लिए आवश्यक तैयारी सुनिश्चित करने का निर्देश कलेक्टर ने दिया। उनके भोजन, चिकित्सा एवं अन्य व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही है। उन्होंने कहा, कि किसी भी बच्चे को कोई परेशानी न हो। क्वारांटइन पर रखे जाने वाले बच्चों के लिये सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खेल एवं मनोरंजन की सामग्री उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।