Wednesday, August 10, 2022

कोरोना अलर्ट: क्या खुद की सुरक्षा के लिए भी पुलिसिया सख्ती की जरूरत है?

बिलासपुर– कोरोना वायरस के फैलाव को लेकर पूरे देश के साथ प्रदेश में सावधानी बरती जा रही है, लेकिन कभी के देश लिए जान दे देने की कसमें खाने वाले लोग संकट की इस घड़ी से देश को उबारने सड़क पर निकलने और अपनी दुकान बंद रखने से परहेज कर रहे हैं, पुलिस प्रशासन को जबरिया दुकानें बंद करानी पड़ रही है, तो वही बेवजह सड़कों पर निकलने वालों पर कार्रवाई करने की मजबूरी है।

प्रदेश में लॉक डाउन और धारा 144 लागू है, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर देश के नेता, अभिनेता और प्रशासनिक अधिकारी लोगों से घर मे रहने की अपील कर रहे हैं, देश कोरोना महामारी की भयावह संकट से जूझ रहा है, लेकिन बावजूद लोग अपनी और देश की सुरक्षा को लेकर बेपरवाह बने हुए हैं।

अफसोस, कि लॉक डाउन के आदेश के बाद भी शहरों में लोग नियम का उल्लंघन करते हुए सड़कों पर निकलते दिख रहे थे। इससे वायरस के संक्रमण की स्थिति खतरनाक हो सकती थी। इसको देखते हुए सरकार ने पूरे ऑटो टैक्सी समेत सभी वाहनों के सड़क पर चलने पर पाबंदी लगा दी है। वही इस नियम को सख्ती से लागू करने के लिए पुलिस के जवान अधिकारियों के सहित प्रदेश की सड़कों पर निकल पड़े हैं। इस बीच जिन लोगों को भी सड़कों पर बेवजह निकलते-घूमते पाया जा रहा है। उन्हें पकड़ कर पुलिस इसी तरह जलील कर रही है। उसके हाथ में “मैं समाज का दुश्मन हूं” वाला पोस्टर लगाकर, उसके साथ उसकी फोटो खिंचवाई आ रही है।

ये दुख और शर्म की बात है, कि हमारी सलामती के लिए पुलिस और प्रशासन को सख्ती बरतनी पड़ रही है।

साहब..देश को जरूरत के मौके पर अपनी जान की कुर्बानी देने की कसमें खाने का दिखावा और सोशल मीडिया पर ज्ञान देने का नहीं..आज आपको अपने लिए सावधानी बरतने अपील की जा रही है.. प्लीज मान जाइये..और इस भयावह महामारी से खुद को..अपने परिवार को..और अपने देशवासियों को बचाइए..घर पर रहिए..सुरक्षित रहिए..

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– कोरोना वायरस के फैलाव को लेकर पूरे देश के साथ प्रदेश में सावधानी बरती जा रही है, लेकिन कभी के देश लिए जान दे देने की कसमें खाने वाले लोग संकट की इस घड़ी से देश को उबारने सड़क पर निकलने और अपनी दुकान बंद रखने से परहेज कर रहे हैं, पुलिस प्रशासन को जबरिया दुकानें बंद करानी पड़ रही है, तो वही बेवजह सड़कों पर निकलने वालों पर कार्रवाई करने की मजबूरी है।

प्रदेश में लॉक डाउन और धारा 144 लागू है, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर देश के नेता, अभिनेता और प्रशासनिक अधिकारी लोगों से घर मे रहने की अपील कर रहे हैं, देश कोरोना महामारी की भयावह संकट से जूझ रहा है, लेकिन बावजूद लोग अपनी और देश की सुरक्षा को लेकर बेपरवाह बने हुए हैं।

अफसोस, कि लॉक डाउन के आदेश के बाद भी शहरों में लोग नियम का उल्लंघन करते हुए सड़कों पर निकलते दिख रहे थे। इससे वायरस के संक्रमण की स्थिति खतरनाक हो सकती थी। इसको देखते हुए सरकार ने पूरे ऑटो टैक्सी समेत सभी वाहनों के सड़क पर चलने पर पाबंदी लगा दी है। वही इस नियम को सख्ती से लागू करने के लिए पुलिस के जवान अधिकारियों के सहित प्रदेश की सड़कों पर निकल पड़े हैं। इस बीच जिन लोगों को भी सड़कों पर बेवजह निकलते-घूमते पाया जा रहा है। उन्हें पकड़ कर पुलिस इसी तरह जलील कर रही है। उसके हाथ में “मैं समाज का दुश्मन हूं” वाला पोस्टर लगाकर, उसके साथ उसकी फोटो खिंचवाई आ रही है।

ये दुख और शर्म की बात है, कि हमारी सलामती के लिए पुलिस और प्रशासन को सख्ती बरतनी पड़ रही है।

साहब..देश को जरूरत के मौके पर अपनी जान की कुर्बानी देने की कसमें खाने का दिखावा और सोशल मीडिया पर ज्ञान देने का नहीं..आज आपको अपने लिए सावधानी बरतने अपील की जा रही है.. प्लीज मान जाइये..और इस भयावह महामारी से खुद को..अपने परिवार को..और अपने देशवासियों को बचाइए..घर पर रहिए..सुरक्षित रहिए..