Tuesday, December 6, 2022

कोरोना: स्वास्थ्य मंत्री ने माना सिविल अस्पताल का लिया जायजा, स्टैंड-बाई मोड में रहने के निर्देश

रायपुर– स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज कोविड-19 के इलाज के लिए माना में बनाए गए विशेषीकृत अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां उपलब्ध तमाम सुविधाओं की जानकारी ली, और कोरोना वायरस संक्रमितों के इलाज के लिए पूरी तरह तैयार रहने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा राजधानी रायपुर के नजदीक माना स्थित सिविल अस्पताल को कोविड-19 के इलाज के लिए 100 बिस्तरों वाले विशेष अस्पताल के रूप में विकसित किया गया है। यहां 24 बिस्तरों का आईसीयू भी बनाया गया है। वेंटिलेटर्स सहित कोरोना वायरस संक्रमितों के हर तरह की इलाज की व्यवस्था यहां की गई है। कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी की भी व्यवस्था यहां है।

कोविड-19 के इलाज के दौरान बरती जाने वाली सभी सावधानियों और मानकों के साथ इस अस्पताल को तैयार किया गया है। अलग-अलग प्रवेश और निकास द्वार के साथ ही संक्रमितों के उपचार व देखभाल के बाद डॉक्टरों एवं अन्य मेडिकल स्टॉफ के डिसइन्फेक्शन (Disinfection) की सभी व्यवस्थाएं अस्पताल में है। उपयोग किए गए पीपीई, मास्क, दस्तानों और अन्य सुरक्षात्मक उपायों को डिस्पोजल के पहले संक्रमणरहित करने की भी व्यवस्था यहां है।

GiONews Team
Editor In Chief

1 COMMENT

  1. Excellent post and it helps new internet visitors who are willing/ wishing for blogging. Really thanks for another great aricle. Where else could any body get such type of information in a perfect way.
    Greetings! A very useful and particular post, I read it and learned a lot.mp3juice

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर– स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज कोविड-19 के इलाज के लिए माना में बनाए गए विशेषीकृत अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने यहां उपलब्ध तमाम सुविधाओं की जानकारी ली, और कोरोना वायरस संक्रमितों के इलाज के लिए पूरी तरह तैयार रहने के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा राजधानी रायपुर के नजदीक माना स्थित सिविल अस्पताल को कोविड-19 के इलाज के लिए 100 बिस्तरों वाले विशेष अस्पताल के रूप में विकसित किया गया है। यहां 24 बिस्तरों का आईसीयू भी बनाया गया है। वेंटिलेटर्स सहित कोरोना वायरस संक्रमितों के हर तरह की इलाज की व्यवस्था यहां की गई है। कोरोना संक्रमित गर्भवती महिलाओं की डिलीवरी की भी व्यवस्था यहां है।

कोविड-19 के इलाज के दौरान बरती जाने वाली सभी सावधानियों और मानकों के साथ इस अस्पताल को तैयार किया गया है। अलग-अलग प्रवेश और निकास द्वार के साथ ही संक्रमितों के उपचार व देखभाल के बाद डॉक्टरों एवं अन्य मेडिकल स्टॉफ के डिसइन्फेक्शन (Disinfection) की सभी व्यवस्थाएं अस्पताल में है। उपयोग किए गए पीपीई, मास्क, दस्तानों और अन्य सुरक्षात्मक उपायों को डिस्पोजल के पहले संक्रमणरहित करने की भी व्यवस्था यहां है।