Monday, November 28, 2022

गुरुघासीदास केंद्रीय विवि में विवेकानंद जयंती पर हुआ विचार गोष्ठी का आयोजन

बिलासपुर– गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय कला मंच के द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर विचार गोष्ठी कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुरुआत दीप प्रज्वलन कर के किया गया।दिए गए विषय राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका के संदर्भ में बोलते हुए अभाविप के प्रदेश संग़ठन मंत्री आदिशेसु ने कहा, कि राष्ट्र निर्माण में युवा की भूमिका बेहद अहम है जिस प्रकार एक माँ घर में है उसी प्रकार एक मां भारत माँ भी है भगत सिंह इसी मां के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार थे वह भी एक युवा थे हमें उनसे सीखने की जरूत है।देश के लिए पढ़ना देश के लिए लड़ना चाहिए।जरूरी नहीं कि हर कोई बॉर्डर पर जाकर लड़ाई लड़े देश की सेवा कई तरीकों से की जा सकती है जिसमें साफ सफाई गरीब बच्चों को पढ़ाना भी हो सकता है।
गरीबों के लिए सोचने के लिए और दिमाग रखना भी एक देश भक्ति है। उन्होंने सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार का उदाहरण देते हुए कहा की उनके द्वारा जिस गरीब बच्चों को हर साल पढ़ाना और उन्हें शिक्षित करना अपने आप में ही देशभक्ति है उन्होंने कहा कि भारत माता की जय बोलने या नारा लगाने से से सिर्फ नहीं होता भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए सोचना भी पड़ता है।उन्होंने सर्वे भवंतु सुखिनःके सद्भाव को बनाए रखने की विनती की अब समय आ गया है कि भारत दुनिया को नई दिशा दें अब हमें छोटे स्तरों से इन सब चीजों की शुरुआत करना होगा अभी जो हिंसा चल रहा है नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर पूरी तरह से निंदनीय है।जबकि इस अधिनियम का देश के किसी भी नागरिक से कोई संबंध नहीं है। देश में गंगा को माँ तुसली को माँ और देश को माँ मानते है 1947 में देश के दो हिस्से हुए एक मुस्लिम राष्ट्र बना जबकि एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र बना उन्होंने कहा कि जब भी छत्तीसगढ़ के बारे मैं किसी बाहरी से पूछो वह लोग इसे सिर्फ नक्सल से जोड़कर देखते हैं जबकि असली सच्चाई कुछ और है एक बहुत ही शांत और सुंदर सा प्रदेश है वही हर्षवर्धन पांडेय ने अपने विचार रखते हुए कहां की विवेकानंद के आदर्शों को अपने जीवन में उतारने की जरूरत है कभी जाकर भारत विश्व गुरु बनने के सपने को शिकार कर पाएगा हर इंसान को भगवान के प्रतिनिधि के रूप में देखा जाना चाहिए राशि त्रिवेदी ने कहा कि जिस ओर जवानी चलती है उस ओर जमाना चलता है इसलिए देश का विकास युवा वर्ग के हाथ में है अब उन्हें यह सोचना है कि वह देश को किस दिशा में लेकर जाएंगे प्रगति की राह की तरफ या फिर पतन की तरफ|वही शोएब अख्तर ने बताया कि देश का निर्माण में युवाओं की भूमिका बेहद अहम है हमे देश की जिम्मेदारी लेनी चाहिए वही निधि भारद्वाज ने आपको अपने देश पर गर्व इसलिए नहीं होना चाहिए कि वह महान है,बल्कि देश महान इसलिए है क्यूंकि आप उसके गर्व हैं।वही अशुतोष कुमार,सौरभ दुबे,अंकित कुमार,रंजन कुमार ने भी अपनी बातों को रखा वही शुभन पाठक ने मंच का संचालन करते हुए युवाओं को आगे आकर देश की जिमेदारी लेनी चाहिए।वही अध्यक्ष अमन कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन किया।कार्यक्रम मे प्रदेश सहमंत्री मोरध्वज पैकरा,प्रदेश SFD प्रमुख़ यशवर्धन मरार,प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रौनक केसरी,शुभम शेंडे,महानगर सहमंत्री राघवेन्द्र राठौर,लोकेन्द्र कुर्रे,अविनाश खलको,श्रेयश अवस्थी,ऋषभ तिवारी,जीतू अवस्थी,अमन प्रकाश,अनमोल कुमार,हर्ष सौदर्शन,अर्पित,भूमि औऱ सभी छात्र मौजूद थे।
GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय कला मंच के द्वारा स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर पर विचार गोष्ठी कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम का शुरुआत दीप प्रज्वलन कर के किया गया।दिए गए विषय राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका के संदर्भ में बोलते हुए अभाविप के प्रदेश संग़ठन मंत्री आदिशेसु ने कहा, कि राष्ट्र निर्माण में युवा की भूमिका बेहद अहम है जिस प्रकार एक माँ घर में है उसी प्रकार एक मां भारत माँ भी है भगत सिंह इसी मां के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार थे वह भी एक युवा थे हमें उनसे सीखने की जरूत है।देश के लिए पढ़ना देश के लिए लड़ना चाहिए।जरूरी नहीं कि हर कोई बॉर्डर पर जाकर लड़ाई लड़े देश की सेवा कई तरीकों से की जा सकती है जिसमें साफ सफाई गरीब बच्चों को पढ़ाना भी हो सकता है।
गरीबों के लिए सोचने के लिए और दिमाग रखना भी एक देश भक्ति है। उन्होंने सुपर 30 के संस्थापक आनंद कुमार का उदाहरण देते हुए कहा की उनके द्वारा जिस गरीब बच्चों को हर साल पढ़ाना और उन्हें शिक्षित करना अपने आप में ही देशभक्ति है उन्होंने कहा कि भारत माता की जय बोलने या नारा लगाने से से सिर्फ नहीं होता भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए सोचना भी पड़ता है।उन्होंने सर्वे भवंतु सुखिनःके सद्भाव को बनाए रखने की विनती की अब समय आ गया है कि भारत दुनिया को नई दिशा दें अब हमें छोटे स्तरों से इन सब चीजों की शुरुआत करना होगा अभी जो हिंसा चल रहा है नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर पूरी तरह से निंदनीय है।जबकि इस अधिनियम का देश के किसी भी नागरिक से कोई संबंध नहीं है। देश में गंगा को माँ तुसली को माँ और देश को माँ मानते है 1947 में देश के दो हिस्से हुए एक मुस्लिम राष्ट्र बना जबकि एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र बना उन्होंने कहा कि जब भी छत्तीसगढ़ के बारे मैं किसी बाहरी से पूछो वह लोग इसे सिर्फ नक्सल से जोड़कर देखते हैं जबकि असली सच्चाई कुछ और है एक बहुत ही शांत और सुंदर सा प्रदेश है वही हर्षवर्धन पांडेय ने अपने विचार रखते हुए कहां की विवेकानंद के आदर्शों को अपने जीवन में उतारने की जरूरत है कभी जाकर भारत विश्व गुरु बनने के सपने को शिकार कर पाएगा हर इंसान को भगवान के प्रतिनिधि के रूप में देखा जाना चाहिए राशि त्रिवेदी ने कहा कि जिस ओर जवानी चलती है उस ओर जमाना चलता है इसलिए देश का विकास युवा वर्ग के हाथ में है अब उन्हें यह सोचना है कि वह देश को किस दिशा में लेकर जाएंगे प्रगति की राह की तरफ या फिर पतन की तरफ|वही शोएब अख्तर ने बताया कि देश का निर्माण में युवाओं की भूमिका बेहद अहम है हमे देश की जिम्मेदारी लेनी चाहिए वही निधि भारद्वाज ने आपको अपने देश पर गर्व इसलिए नहीं होना चाहिए कि वह महान है,बल्कि देश महान इसलिए है क्यूंकि आप उसके गर्व हैं।वही अशुतोष कुमार,सौरभ दुबे,अंकित कुमार,रंजन कुमार ने भी अपनी बातों को रखा वही शुभन पाठक ने मंच का संचालन करते हुए युवाओं को आगे आकर देश की जिमेदारी लेनी चाहिए।वही अध्यक्ष अमन कुमार ने धन्यवाद ज्ञापन किया।कार्यक्रम मे प्रदेश सहमंत्री मोरध्वज पैकरा,प्रदेश SFD प्रमुख़ यशवर्धन मरार,प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रौनक केसरी,शुभम शेंडे,महानगर सहमंत्री राघवेन्द्र राठौर,लोकेन्द्र कुर्रे,अविनाश खलको,श्रेयश अवस्थी,ऋषभ तिवारी,जीतू अवस्थी,अमन प्रकाश,अनमोल कुमार,हर्ष सौदर्शन,अर्पित,भूमि औऱ सभी छात्र मौजूद थे।