Wednesday, August 10, 2022

चाहे कोनो गारी देवंय..चाहे छोंडंय जात ले.. वाह रे गुड़ाखुर डबिया.. नई तो छूटय हाथ ले !! गुड़ाखुर वाली मैडम गिरफ्तार..

बिलासपुर– चाहे कोनो गारी देवंय..चाहे छोंडंय जात ले.. वाह रे गुड़ाखुर डबिया.. नई तो छूटय हाथ ले.. हाय रे गुड़ाखुर डबिया.. नई तो छूटय हाथ ले..

रतनपुर तिर हमर गांव रानीगांव के सियान मन के बनाए ए छत्तीसगढ़ी गाना के सुरता आज एकर सेती आ गिस.. काबर के आज बिलासपुर म एक महिला हर तोरवा म लोगन ल गुड़ाखुर डबिया बाँटत रहिस.. गुड़ाखुर के नसा अईसे.. के फोकट म गुड़ाखुर पाए बर लोगन के भीड़ लग गिस.. अतके म कोनो पुलिस ल बता दिन.. अउ तोरवा पुलिस लॉकडाउन के पालन नई करे के जुर्म म जम्मो झन ल पकड़ के थाना ले गिस.. अउ धारा 188 के तहत कार्रवाई करे हे..

कहते हैं..नशा सर चढ़कर बोलता है.. चाहे वो शराब, शबाब, दौलत, शोहरत किसी का भी हो.. छत्तीसगढ़ में एक नशा ऐसा है, कि लोग गुड़ाखु के बिना नहीं रह पाते.. शायद इसी वजह से तोरवा क्षेत्र के हेमूनगर में बेबी खान नामक एक महिला ने लोगों को गुड़ाखू डब्बा बांटना शुरू किया, तो भनक लगते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी, जिसमें महिलाओं की संख्या ज्यादा थी।

इसकी जानकारी तोरवा पुलिस को लगी, तो पुलिस मौके पर पहुंची, तो पाया, कि बेबी खान धारा 144 नियम को तोड़ते हुए बिना मास्क, सोशल डिस्टेंस का पालन किए लोगों को गुड़ाखू बांट रही है, और लोगों में भी गुड़ाखू की ऐसी दीवानगी, कि वे कोरोना और अपनी जान की फिक्र से बेपरवाह होकर गुड़ाखू की एक डिबिया पाने के प्रयास में किसी भी हद तक गुजरते दिखे। पुलिस ने नियम की अनदेखी कर गुड़ाखू बांट रही महिला को गिरफ्तार कर लिया, और उसके पास से 12 पैकेट गुड़ाखू की डिबिया बरामद की।

इस मामले में तोरवा पुलिस ने बेबी खान के साथ रानी यादव, मालती साहू, चंद्रिका जांगड़े, माया माधवानी, विमला यादव, शालिनी निषाद और कचरा बाई के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया है।

GiONews Team
Editor In Chief

31 COMMENTS

  1. [url=https://sildenafilmg.online/#]online doctor prescription for viagra[/url] how much is viagra

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– चाहे कोनो गारी देवंय..चाहे छोंडंय जात ले.. वाह रे गुड़ाखुर डबिया.. नई तो छूटय हाथ ले.. हाय रे गुड़ाखुर डबिया.. नई तो छूटय हाथ ले..

रतनपुर तिर हमर गांव रानीगांव के सियान मन के बनाए ए छत्तीसगढ़ी गाना के सुरता आज एकर सेती आ गिस.. काबर के आज बिलासपुर म एक महिला हर तोरवा म लोगन ल गुड़ाखुर डबिया बाँटत रहिस.. गुड़ाखुर के नसा अईसे.. के फोकट म गुड़ाखुर पाए बर लोगन के भीड़ लग गिस.. अतके म कोनो पुलिस ल बता दिन.. अउ तोरवा पुलिस लॉकडाउन के पालन नई करे के जुर्म म जम्मो झन ल पकड़ के थाना ले गिस.. अउ धारा 188 के तहत कार्रवाई करे हे..

कहते हैं..नशा सर चढ़कर बोलता है.. चाहे वो शराब, शबाब, दौलत, शोहरत किसी का भी हो.. छत्तीसगढ़ में एक नशा ऐसा है, कि लोग गुड़ाखु के बिना नहीं रह पाते.. शायद इसी वजह से तोरवा क्षेत्र के हेमूनगर में बेबी खान नामक एक महिला ने लोगों को गुड़ाखू डब्बा बांटना शुरू किया, तो भनक लगते ही लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी, जिसमें महिलाओं की संख्या ज्यादा थी।

इसकी जानकारी तोरवा पुलिस को लगी, तो पुलिस मौके पर पहुंची, तो पाया, कि बेबी खान धारा 144 नियम को तोड़ते हुए बिना मास्क, सोशल डिस्टेंस का पालन किए लोगों को गुड़ाखू बांट रही है, और लोगों में भी गुड़ाखू की ऐसी दीवानगी, कि वे कोरोना और अपनी जान की फिक्र से बेपरवाह होकर गुड़ाखू की एक डिबिया पाने के प्रयास में किसी भी हद तक गुजरते दिखे। पुलिस ने नियम की अनदेखी कर गुड़ाखू बांट रही महिला को गिरफ्तार कर लिया, और उसके पास से 12 पैकेट गुड़ाखू की डिबिया बरामद की।

इस मामले में तोरवा पुलिस ने बेबी खान के साथ रानी यादव, मालती साहू, चंद्रिका जांगड़े, माया माधवानी, विमला यादव, शालिनी निषाद और कचरा बाई के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई करते हुए गिरफ्तार किया है।