Sunday, November 27, 2022

चौकसे कॉलेज में आयोजित सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम का हुआ समापन, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने किया नारी शक्तियों का सम्मान

बिलासपुर– चौकसे कॉलेज में महिलाओं और छात्राओं के लिए तीन दिवसीय सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया, जिसके समापन मौके पर आज प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और शहर के विधायक शैलेष पाण्डेय शामिल हुए। इस मौके पर गृहमंत्री ने कहा, कि पढ़ाई के साथ संस्कार भी ज़रूरी है, बच्चे संस्कारित होंगे, तो आने वाली पीढ़ी संवर जाएगी।

‘चौकसे ग्रुप ऑफ कॉलेज’ और ‘द विशडम ट्री फाउंडेशन’ द्वारा 15 से 17 जनवरी तक सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया, जिसमें तकरीबन 50 स्कूल के डेढ़ हजार छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी गई, जिसमें बिलासपुर, रायगढ़, जांजगीर, मुंगेली समेत प्रदेश अलग अलग जिलों से छात्राएं आई थी। जिन्हें करीब एक दर्जन ट्रेनर्स ने आत्मरक्षा का गुर सिखाया।

महिलाओं व बालिकाओं के लिये आयोजित महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम और अवार्ड सेरेमनी के समापन के इस मौके पर मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा, कि बच्चों को पढ़ाएं-लिखाएं, लेकिन उन्हें संस्कारित भी करें। यह समाज, देश और मानवता के प्रति आपका उपकार होगा। संस्कार जरूरी है, वरना हमारी आने वाली पीढ़ी खराब होती जाएगी। इस पर गंभीर चिंतन करने की जरूरत है। आज के युग की यह महती आवश्यकता है, कि महिलाएं एवं बालिकाएं आत्मरक्षा के तरीके से परिचित हों। हम किसी वृक्ष के फूल, पत्ते और फल की ओर ही ध्यान देते हैं, जड़ की ओर हमारा ध्यान नहीं जाता। जड़ की ओर ध्यान देने से पेड़ के सभी अंग अच्छे रहते हैं। उसी तरह सामाजिक व्यवस्था भी एक जड़ है, यह व्यवस्था ठीक रहेगी तो महिलाओं को आत्मरक्षा के लिये प्रशिक्षण लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा, कि वर्तमान शिक्षा प्रणाली मानवता के निर्माण की दिशा में अनुपयोगी है, और यह शिक्षा केवल नौकरी प्राप्त करने का साधन बन गया है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम जीवन के मूल उद्देश्य ही भूल गये हैं। इसके लिये सरकार के साथ ही समाज व परिवार को प्रयास करना होगा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बिलासपुर के विधायक शैलेष पाण्डेय ने कहा, कि हमारा देश बहुत वर्षों तक गुलामी से जकड़ा रहा। इससे हमारी संस्कृति भी प्रभावित हुई। जिसके कारण हमारी महिलाओं और बेटियों को सबसे ज्यादा समस्या आयी है। महिलाओं को आगे बढ़ने की जरूरत है। सरकार ने भी इसके लिये प्रयास किया है। बेटियों ने भी बहुत से उपलब्धियां हासिल कर देश को सम्मान दिलाया। आज हर लड़की को शिक्षित और जागरूक बनाना समय की मांग है।

कार्यक्रम को तेलंगाना से आये विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर के.वेंकटस्वामी ने भी संबोधित किया। चौकसे ग्रुप आॅफ काॅलेज की डायरेक्टर डाॅ.पलक जायसवाल ने महिलाओं के लिये आत्मरक्षा प्रोग्राम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, कि महिलाओं ने अपने दायरे में रहकर उपलब्धियां हासिल की हैं, लेकिन उन्हें आत्मरक्षा की जरूरत भी है। विस्डम ट्री फाउंडेशन ने इस दिशा में पहल कर लगभग डेढ़ हजार बालिकाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया।

कार्यक्रम में शुभदा जोगलेकर, एएसपी मधुलिका सिंह, अर्चना झा समेत विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली नारी शक्तियों को सम्मानित किया गया, और काॅलेज के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को अवार्ड दिया गया।


इस अवसर पर काॅलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर आशीष जायसवाल, काॅलेज के प्राचार्य श्री अहिरवार, कांग्रेस नेता अभय नारायण राय, प्रमोद नायक सहित शिक्षक-शिक्षिकाएं, छात्र-छात्राएं बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

GiONews Team
Editor In Chief

96 COMMENTS

  1. The very next time I read a blog, I hope that it won’t fail me as much as this one. I mean, I know it was my choice to read through, nonetheless I genuinely thought you’d have something interesting to talk about. All I hear is a bunch of complaining about something that you can fix if you were not too busy searching for attention.

  2. An impressive share! I have just forwarded this onto a coworker who had been doing a little homework on this. And he actually bought me breakfast due to the fact that I found it for him… lol. So let me reword this…. Thank YOU for the meal!! But yeah, thanx for spending some time to talk about this topic here on your internet site.

  3. I’d like to thank you for the efforts you’ve put in writing this website. I really hope to see the same high-grade content from you in the future as well. In truth, your creative writing abilities has motivated me to get my own website now ;)

  4. Hello there! This post couldn’t be written any better! Going through this post reminds me of my previous roommate! He constantly kept talking about this. I will forward this information to him. Fairly certain he’ll have a great read. I appreciate you for sharing!

  5. Aw, this was an extremely good post. Finding the time and actual effort to generate a great article… but what can I say… I procrastinate a whole lot and never seem to get anything done.

  6. Way cool! Some extremely valid points! I appreciate you penning this article and also the rest of the website is also very good.

  7. I blog frequently and I truly appreciate your content. This article has really peaked my interest. I will book mark your website and keep checking for new information about once per week. I opted in for your RSS feed too.

  8. Hello, I believe your website might be having browser compatibility problems. When I take a look at your site in Safari, it looks fine however, if opening in I.E., it’s got some overlapping issues. I merely wanted to provide you with a quick heads up! Besides that, fantastic blog!

  9. CC NPs have displayed to have a promising potential in the development of drug carriers, but little research has been conducted regarding their safe dosage for maximizing the therapeutic activity without harming the biosystems nolvadex

  10. The fibroblasts are what make ER cancer cells resistant to the tamoxifen, said Dr priligy for sale Due to mutations in DNA mismatch repair MMR genes like MSH2, MLH1, MSH6 and PMS2 leading to microsatellite instability MSI patients with HNPCC have a lifetime risk of 40 60 for development of EC 45

  11. Hi, I think your website might be having web browser compatibility problems. Whenever I take a look at your blog in Safari, it looks fine however, if opening in I.E., it’s got some overlapping issues. I merely wanted to give you a quick heads up! Aside from that, excellent website!

  12. Greetings, There’s no doubt that your web site might be having browser compatibility problems. When I take a look at your blog in Safari, it looks fine however when opening in I.E., it’s got some overlapping issues. I simply wanted to provide you with a quick heads up! Besides that, excellent website!

  13. An outstanding share! I’ve just forwarded this onto a coworker who was doing a little research on this. And he actually ordered me dinner due to the fact that I discovered it for him… lol. So allow me to reword this…. Thanks for the meal!! But yeah, thanx for spending some time to discuss this matter here on your site.

  14. I blog quite often and I truly appreciate your content. Your article has really peaked my interest. I will book mark your site and keep checking for new information about once per week. I subscribed to your RSS feed too.

  15. May I simply say what a comfort to discover someone that really understands what they’re talking about online. You definitely realize how to bring an issue to light and make it important. More and more people must look at this and understand this side of your story. I was surprised you are not more popular given that you certainly have the gift.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– चौकसे कॉलेज में महिलाओं और छात्राओं के लिए तीन दिवसीय सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया, जिसके समापन मौके पर आज प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और शहर के विधायक शैलेष पाण्डेय शामिल हुए। इस मौके पर गृहमंत्री ने कहा, कि पढ़ाई के साथ संस्कार भी ज़रूरी है, बच्चे संस्कारित होंगे, तो आने वाली पीढ़ी संवर जाएगी।

‘चौकसे ग्रुप ऑफ कॉलेज’ और ‘द विशडम ट्री फाउंडेशन’ द्वारा 15 से 17 जनवरी तक सेल्फ डिफेंस ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया, जिसमें तकरीबन 50 स्कूल के डेढ़ हजार छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी गई, जिसमें बिलासपुर, रायगढ़, जांजगीर, मुंगेली समेत प्रदेश अलग अलग जिलों से छात्राएं आई थी। जिन्हें करीब एक दर्जन ट्रेनर्स ने आत्मरक्षा का गुर सिखाया।

महिलाओं व बालिकाओं के लिये आयोजित महिला आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम और अवार्ड सेरेमनी के समापन के इस मौके पर मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा, कि बच्चों को पढ़ाएं-लिखाएं, लेकिन उन्हें संस्कारित भी करें। यह समाज, देश और मानवता के प्रति आपका उपकार होगा। संस्कार जरूरी है, वरना हमारी आने वाली पीढ़ी खराब होती जाएगी। इस पर गंभीर चिंतन करने की जरूरत है। आज के युग की यह महती आवश्यकता है, कि महिलाएं एवं बालिकाएं आत्मरक्षा के तरीके से परिचित हों। हम किसी वृक्ष के फूल, पत्ते और फल की ओर ही ध्यान देते हैं, जड़ की ओर हमारा ध्यान नहीं जाता। जड़ की ओर ध्यान देने से पेड़ के सभी अंग अच्छे रहते हैं। उसी तरह सामाजिक व्यवस्था भी एक जड़ है, यह व्यवस्था ठीक रहेगी तो महिलाओं को आत्मरक्षा के लिये प्रशिक्षण लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा, कि वर्तमान शिक्षा प्रणाली मानवता के निर्माण की दिशा में अनुपयोगी है, और यह शिक्षा केवल नौकरी प्राप्त करने का साधन बन गया है। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम जीवन के मूल उद्देश्य ही भूल गये हैं। इसके लिये सरकार के साथ ही समाज व परिवार को प्रयास करना होगा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए बिलासपुर के विधायक शैलेष पाण्डेय ने कहा, कि हमारा देश बहुत वर्षों तक गुलामी से जकड़ा रहा। इससे हमारी संस्कृति भी प्रभावित हुई। जिसके कारण हमारी महिलाओं और बेटियों को सबसे ज्यादा समस्या आयी है। महिलाओं को आगे बढ़ने की जरूरत है। सरकार ने भी इसके लिये प्रयास किया है। बेटियों ने भी बहुत से उपलब्धियां हासिल कर देश को सम्मान दिलाया। आज हर लड़की को शिक्षित और जागरूक बनाना समय की मांग है।

कार्यक्रम को तेलंगाना से आये विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर के.वेंकटस्वामी ने भी संबोधित किया। चौकसे ग्रुप आॅफ काॅलेज की डायरेक्टर डाॅ.पलक जायसवाल ने महिलाओं के लिये आत्मरक्षा प्रोग्राम के उद्देश्य पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा, कि महिलाओं ने अपने दायरे में रहकर उपलब्धियां हासिल की हैं, लेकिन उन्हें आत्मरक्षा की जरूरत भी है। विस्डम ट्री फाउंडेशन ने इस दिशा में पहल कर लगभग डेढ़ हजार बालिकाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया।

कार्यक्रम में शुभदा जोगलेकर, एएसपी मधुलिका सिंह, अर्चना झा समेत विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली नारी शक्तियों को सम्मानित किया गया, और काॅलेज के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को अवार्ड दिया गया।


इस अवसर पर काॅलेज के मैनेजिंग डायरेक्टर आशीष जायसवाल, काॅलेज के प्राचार्य श्री अहिरवार, कांग्रेस नेता अभय नारायण राय, प्रमोद नायक सहित शिक्षक-शिक्षिकाएं, छात्र-छात्राएं बड़ी संख्या में उपस्थित थे।