Saturday, December 3, 2022

ट्रक में दूध का बैनर लगाकर महुआ का परिवहन, ट्रक ज़ब्त, चालक गिरफ्तार

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- चेक पोस्ट बरेला में पुलिस को धोखा देने के लिये अमूल दूध का बेनर लगाकर अवैध रूप से महुआ का परिवहन कर रहे ट्रक को जरहागांव पुलिस ने रोक कर जाॅच की, तो पाया ट्रक में दूध का एक भी पैकेट नही था, और पूरी ट्रक लगभग 10 टन महुआ जिसकी कीमत लगभग ढाई लाख रूपये से लदी हुई थी, जरहागांव पुलिस ने धारा 188 और वन अधिनियम की धारा 4 छ ग वन उपज व्यापार नियमन नियम 1969 की तहत कार्यवाही की गई।

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते देश में लॉकडाउन है, और सभी जिले को चेक पोस्ट बनाकर पुलिस अधीक्षक डी वैष्णव मुंगेली के निर्देशन में तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेशवर चंदेल मुंगेली, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी साधना सिंह मुंगेली के निर्देश पर मुंगेली जिले में अनावश्यक आवागमन को बंद कर के रखा गया है, और सभी आने जाने वाले वाहनों की जांच की निर्देश दिये गये है। आज 12 अप्रेल को पुलिस अनुविभागीय अधिकारी साधना सिह जरहागांव थाना प्रभारी कविता धुर्वे बिलासपुर और मुंगेली जिले बार्डर बरेला चेक पोस्ट पर सभी गाडीयों के परिवहन की जांच कर रहे थे, तभी एक ट्रक क्रमांक सीजी 08 जेड 7265 को रोका, जिसके वाहन के सामने में अमूल मिल्क का बैनर लगा हुआ था, और कांच पर आवश्यक सर्विस मिल्क एंव मिल्क अमूल उत्पाद का कागज लगा हुआ था, शंका के आधार पर पुलिस अधिकारियों ने वाहन को रोककर जांच की, तो पाया कि ट्रक में एक पैकेट अमूल दूध नही था, और महुआ की खुशबू आ रही थी, जहा ट्रक को अवैध रूप से महुआ परिवहन करने को दोषी पाया गयाज़ जिस पर भादवि की धारा 188 कोरोना संक्रमण लाक डाउन में नियम को तोडने एंव वन अधिनियम की धारा 4 छ ग वन उपज व्यापार नियमन नियम 1969 के तहत चालाक आरोपी दिनेश सप्रे पिता मनहरण सप्रे उम्र 30 वर्ष निवासी देवरी थाना मुंगेली के विरुद्ध अपराध पंजीबद्व किया गया। पुछताछ में अरोपी चालक ने बताया, कि वह महुआ को रायपुर से भरा था। उसे तखतपूर में डिलवरी देना था। पुलिस ने ट्रक में लदे लगभग 10 टन कीमत करीब दो लाख पचास हजार को जप्त कर आरोपी चालक को गिरफ्तार किया गया ।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- चेक पोस्ट बरेला में पुलिस को धोखा देने के लिये अमूल दूध का बेनर लगाकर अवैध रूप से महुआ का परिवहन कर रहे ट्रक को जरहागांव पुलिस ने रोक कर जाॅच की, तो पाया ट्रक में दूध का एक भी पैकेट नही था, और पूरी ट्रक लगभग 10 टन महुआ जिसकी कीमत लगभग ढाई लाख रूपये से लदी हुई थी, जरहागांव पुलिस ने धारा 188 और वन अधिनियम की धारा 4 छ ग वन उपज व्यापार नियमन नियम 1969 की तहत कार्यवाही की गई।

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते देश में लॉकडाउन है, और सभी जिले को चेक पोस्ट बनाकर पुलिस अधीक्षक डी वैष्णव मुंगेली के निर्देशन में तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेशवर चंदेल मुंगेली, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी साधना सिंह मुंगेली के निर्देश पर मुंगेली जिले में अनावश्यक आवागमन को बंद कर के रखा गया है, और सभी आने जाने वाले वाहनों की जांच की निर्देश दिये गये है। आज 12 अप्रेल को पुलिस अनुविभागीय अधिकारी साधना सिह जरहागांव थाना प्रभारी कविता धुर्वे बिलासपुर और मुंगेली जिले बार्डर बरेला चेक पोस्ट पर सभी गाडीयों के परिवहन की जांच कर रहे थे, तभी एक ट्रक क्रमांक सीजी 08 जेड 7265 को रोका, जिसके वाहन के सामने में अमूल मिल्क का बैनर लगा हुआ था, और कांच पर आवश्यक सर्विस मिल्क एंव मिल्क अमूल उत्पाद का कागज लगा हुआ था, शंका के आधार पर पुलिस अधिकारियों ने वाहन को रोककर जांच की, तो पाया कि ट्रक में एक पैकेट अमूल दूध नही था, और महुआ की खुशबू आ रही थी, जहा ट्रक को अवैध रूप से महुआ परिवहन करने को दोषी पाया गयाज़ जिस पर भादवि की धारा 188 कोरोना संक्रमण लाक डाउन में नियम को तोडने एंव वन अधिनियम की धारा 4 छ ग वन उपज व्यापार नियमन नियम 1969 के तहत चालाक आरोपी दिनेश सप्रे पिता मनहरण सप्रे उम्र 30 वर्ष निवासी देवरी थाना मुंगेली के विरुद्ध अपराध पंजीबद्व किया गया। पुछताछ में अरोपी चालक ने बताया, कि वह महुआ को रायपुर से भरा था। उसे तखतपूर में डिलवरी देना था। पुलिस ने ट्रक में लदे लगभग 10 टन कीमत करीब दो लाख पचास हजार को जप्त कर आरोपी चालक को गिरफ्तार किया गया ।