Saturday, August 13, 2022

प्रीति चड्ढा सुसाइड मामला: आरोपी पति मुम्बई से गिरफ्तार, दहेज हत्या का आरोप

बिलासपुर– शहर की गोल्ड मेडलिस्ट प्रीति चड्डा की अबूधाबी (यूएई) में हुई संदिग्ध मौत की जांच कर रही बिलासपुर पुलिस ने आरोपी पति सिंधु घोष को गिरफ्तार कर लिया है। यूएई से भारत पहुंचते ही मुंबई एयरपोर्ट अथार्टी ने उसे पकड़ लिया, और एसपी को इसकी सूचना दी।

वरिष्ठ पत्रकार प्राण चड्डा की बेटी प्रीति चड्डा दुबई में मल्टीनेशल कंपनी में एचआर प्रमुख पद पर कार्यरत थीं। कोलकाता के सिंधु घोष भी दुबई में पायलट है। प्रीति ने करीब तीन साल पहले उससे शादी की थी। शादी के महज एक साल बाद सिंधु उसे प्रताड़ित करने लगा था।दरअसल, शादी के बाद उसके मन में लालच आ गया। वह हमेशा प्रीति पर अपने पिता के नाम की जमीन की हिस्सेदारी की मांग करने के लिए दबाव डालता था। लेकिन, प्रीति इसके लिए तैयार नहीं थी। सिंधु बेहिसाब रकम खर्च करता और प्रीति के डेबिट कार्ड वगैरह को जबरिया ले लेता। जब तक प्रीति उसे रकम देती, तब तक रिश्ता ठीक रहता। स्र्पये खत्म होने के बाद वह मारपीट कर परेशान करता। यही नहीं, प्रीति ने अबूधाबी में मकान खरीदा था, जिसे वह अपने नाम पर करने के लिए दबाव डालता। इसके साथ ही प्रीति पर एफडी तोड़ने के लिए दबाव डालता। पति की हरकतों की जानकारी प्रीति ने बिलासपुर में रहने वाली अपनी बहन प्रिया महाणिक चड्डा व पिता प्राण चड्डा को दी थी। इस पर उन्होंने उसे पति से अलग रहने का सुझाव दिया था। घटना के दिन 23जून को प्रीति दुबई से अपने कपड़े लेने गई थी। उसी दौरान सिंधु ने यहां उसकी मौत की खबर दी। इस पर परिजन को भरोसा नहीं हुआ। लिहाजा, उन्होंने दूसरे माध्यम से जानकारी जुटाई। फिर शव को बिलासपुर लाया गया। बेटी की संदिग्ध मौत पर पिता प्राण चड्डा ने बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिस पर पुलिस ने मर्ग कायम कर प्रीति के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराया। इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने आरोपित सिंधु घोष के खिलाफ धारा 304बी दहेज हत्या का अपराध दर्ज किया था। तब से पुलिस इस मामले की जांच कर आरोपित को दुबई से भारत लाने के लिए प्रयासरत थी। इस बीच एसपी प्रशांत अग्रवाल ने लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया था। बीते गुस्र्वार को उसके भारत पहुंचते ही मुंबई एयरपोर्ट अथार्टी ने उसे पकड़ लिया। फिर इसकी सूचना एसपी अग्रवाल को दी। उनके निर्देश पर एएसपी सिटी ओपी शर्मा, टीआइ कलीम खान ने एक टीम भेजकर उसे गिरफ्तार करने के लिए मुंबई रवाना किया। पुलिस की टीम उसे लेकर बिलासपुर पहुंची। फिर उससे पूछताछ करने के बाद उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

प्रीति ने लगाई थी फांसी

पुलिस ने डॉक्टर से पोस्टमार्टम रिपोर्ट लिया, तब पता चला कि प्रीति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही पुलिस ने इस मामले में दहेज हत्या का अपराध दर्ज किया था। इसके साथ ही इस मामले की जांच की जा रही थी।

आरोपी को लेने फ्लाइट से मुंबई पहुंची पुलिस

आरोपित सिंधु घोष के मुंबई एयरपोर्ट में पकड़े जाने की खबर मिलते ही एसपी अग्रवाल के निर्देश पर आनन-फानन में टीम गठित की गई। फिर सिविल लाइन टीआइ खान ने टीम के लिए जल्दी मुंबई पहुंचने के लिए फ्लाइट का टिकट बुक कराया। आरोपित के गिरफ्तार होने के बाद पुलिस की टीम उसे लेकर बिलासपुर पहुंची।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– शहर की गोल्ड मेडलिस्ट प्रीति चड्डा की अबूधाबी (यूएई) में हुई संदिग्ध मौत की जांच कर रही बिलासपुर पुलिस ने आरोपी पति सिंधु घोष को गिरफ्तार कर लिया है। यूएई से भारत पहुंचते ही मुंबई एयरपोर्ट अथार्टी ने उसे पकड़ लिया, और एसपी को इसकी सूचना दी।

वरिष्ठ पत्रकार प्राण चड्डा की बेटी प्रीति चड्डा दुबई में मल्टीनेशल कंपनी में एचआर प्रमुख पद पर कार्यरत थीं। कोलकाता के सिंधु घोष भी दुबई में पायलट है। प्रीति ने करीब तीन साल पहले उससे शादी की थी। शादी के महज एक साल बाद सिंधु उसे प्रताड़ित करने लगा था।दरअसल, शादी के बाद उसके मन में लालच आ गया। वह हमेशा प्रीति पर अपने पिता के नाम की जमीन की हिस्सेदारी की मांग करने के लिए दबाव डालता था। लेकिन, प्रीति इसके लिए तैयार नहीं थी। सिंधु बेहिसाब रकम खर्च करता और प्रीति के डेबिट कार्ड वगैरह को जबरिया ले लेता। जब तक प्रीति उसे रकम देती, तब तक रिश्ता ठीक रहता। स्र्पये खत्म होने के बाद वह मारपीट कर परेशान करता। यही नहीं, प्रीति ने अबूधाबी में मकान खरीदा था, जिसे वह अपने नाम पर करने के लिए दबाव डालता। इसके साथ ही प्रीति पर एफडी तोड़ने के लिए दबाव डालता। पति की हरकतों की जानकारी प्रीति ने बिलासपुर में रहने वाली अपनी बहन प्रिया महाणिक चड्डा व पिता प्राण चड्डा को दी थी। इस पर उन्होंने उसे पति से अलग रहने का सुझाव दिया था। घटना के दिन 23जून को प्रीति दुबई से अपने कपड़े लेने गई थी। उसी दौरान सिंधु ने यहां उसकी मौत की खबर दी। इस पर परिजन को भरोसा नहीं हुआ। लिहाजा, उन्होंने दूसरे माध्यम से जानकारी जुटाई। फिर शव को बिलासपुर लाया गया। बेटी की संदिग्ध मौत पर पिता प्राण चड्डा ने बिलासपुर के सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिस पर पुलिस ने मर्ग कायम कर प्रीति के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराया। इस मामले की जांच के बाद पुलिस ने आरोपित सिंधु घोष के खिलाफ धारा 304बी दहेज हत्या का अपराध दर्ज किया था। तब से पुलिस इस मामले की जांच कर आरोपित को दुबई से भारत लाने के लिए प्रयासरत थी। इस बीच एसपी प्रशांत अग्रवाल ने लुक आउट सर्कुलर भी जारी किया था। बीते गुस्र्वार को उसके भारत पहुंचते ही मुंबई एयरपोर्ट अथार्टी ने उसे पकड़ लिया। फिर इसकी सूचना एसपी अग्रवाल को दी। उनके निर्देश पर एएसपी सिटी ओपी शर्मा, टीआइ कलीम खान ने एक टीम भेजकर उसे गिरफ्तार करने के लिए मुंबई रवाना किया। पुलिस की टीम उसे लेकर बिलासपुर पहुंची। फिर उससे पूछताछ करने के बाद उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

प्रीति ने लगाई थी फांसी

पुलिस ने डॉक्टर से पोस्टमार्टम रिपोर्ट लिया, तब पता चला कि प्रीति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही पुलिस ने इस मामले में दहेज हत्या का अपराध दर्ज किया था। इसके साथ ही इस मामले की जांच की जा रही थी।

आरोपी को लेने फ्लाइट से मुंबई पहुंची पुलिस

आरोपित सिंधु घोष के मुंबई एयरपोर्ट में पकड़े जाने की खबर मिलते ही एसपी अग्रवाल के निर्देश पर आनन-फानन में टीम गठित की गई। फिर सिविल लाइन टीआइ खान ने टीम के लिए जल्दी मुंबई पहुंचने के लिए फ्लाइट का टिकट बुक कराया। आरोपित के गिरफ्तार होने के बाद पुलिस की टीम उसे लेकर बिलासपुर पहुंची।