Saturday, December 3, 2022

नए जिले में पुलिस की ताबड़तोड़ कार्यवाही से मचा हड़कंप

पेण्ड्रा– नए जिले के अस्तित्व में आते ही और पुलिस अधीक्षक की पदस्थापना के बाद मध्य प्रदेश से सटे इलाके में अंतरराज्यीय स्तर पर हो रहे अवैध कारोबार पर पुलिस ने लगाम लगाना शुरू कर दिया है इसी के तहत नए जिले के तीनों थानों में GPM पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिभा तिवारी , एसडीओपी अशोक वद्गाओंकर और तीनों थानों के टी॰आई॰ के नेतृत्व में सघन चेकिंग और मुखबिर की सूचना पर घेराबंदी करते हुए तीन अलग-अलग कार्यवाही की जिससे अवैध कारोबार को अंजाम देने वालों में हड़कंप मच गया है। अंतर राज्य स्तर पर काले कारोबार को अंजाम देने वाले तीनों ही मामलों में आरोपी मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं जिससे इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अंतर राज्य स्तर पर अवैध कारोबार संचालित होने की बात सामने आ रही है।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार पहला मामला मरवाही थाना क्षेत्र का है जहाँ पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मध्य प्रदेश की ओर से अवैध तरीके से पिक अप में कोयले की तस्करी की जा रही है जिस पर मरवाही के निरीक्षक सुनील कुमार एवं अन्य स्टाफ ने घेराबंदी करते हुए एक नई पिक अप जिसमें सीमेंट की बोरियों में कोयला भर कर ले जाया जा रहा था को पकड़ने में सफलता हासिल की इस पिक अप में ढाई टन कोयला लोड था जिसकी अनुमानित कीमत ₹10000 तथा पिकअप कीमत 6 लाख 50 हजार दोनो की कुल कीमत 6 लाख 60 हजार बताई जा रही है यह कोयला मध्य प्रदेश के आमाडाण्ड के फुलवारी टोला खदान से लाई जा रही थी इस के संदर्भ में पर्याप्त दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने जाने पर उक्त पिकअप के चालक प्रकाश केवट पिता धनीराम केवट निवासी आमाडॉण्ड मध्य प्रदेश के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धारा 41(1-4) और IPC 379 के तहत अपराध कायम कर लिया है ।

वहीं दूसरी घटना पेंड्रा थाना क्षेत्र की है यहां धनपुर गांव में नंदकुमार के यहां मध्य प्रदेश से चोरी का डीजल ला कर खपाए जाने की शिकायत पुलिस को मिल रही थी जिस पर पुलिस ने धनपुर गांव में आरोपी के घर में दबिश दी जहां कई जरीकेन में डीजल भरा हुआ मिला जिसे की मध्य प्रदेश से लाया जाना बताया गया वहीं पुलिस को जानकारी मिली कि अभी और डीजल आ रहा है जिस पर पुलिस ने टीम बनाकर घेराबंदी की और यहां एक स्कॉर्पियो में डीजल लाकर बेचने के लिए जैसे ही पहुंचे थे पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया इस मामले में पुलिस ने तकरीबन 380 लीटर डीजल और स्कोर्पियो वाहन क्रमांक cg10 f 2640 को और 18790 रुपये ज़ब्त किया है वहीं आरोपियों से और भी पूछताछ की जा रही है। इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी बुढार निवासी बादल सोनी, पारसी निवासी किशन चौहान, कोतमा निवासी बसंत सोनी और सिरपुर कोतमा निवासी वृंदावन सोनी है। इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 379, 34 कायम करते हुए गिरफ्तार करके न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है ज्ञात हो कि पुलिस को इन लोगों के खिलाफ काफी समय से शिकायत मिल रही थी पर यह बचते आ रहे थे।

वहीं तीसरा मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है जहां पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मध्य प्रदेश से अवैध तरीके से मध्यप्रदेश के रास्ते होकर मवेशियों की तस्करी की जानी है जिस पर पुलिस ने गौरेला सब इंस्पेक्टर लकड़ा के नेतृत्व में घेराबंदी की जिसमें झाबर के रास्ते दरमोहली गाँव के पास मध्य प्रदेश की सीमा के ही कुछ दूर पहले ही पुलिस ने कुल 14 नग मवेशियों को चार आरोपियों के साथ गिरफ्तार करते हुए जप्त किया है पुलिस यदि इस कार्यवाही में कुछ मिनट लेट होती तो मवेशी सहित आरोपी मध्य प्रदेश की सीमा में दाखिल हो जाते पुलिस की चौकसी एवं तत्परता के चलते मवेशियों एवं तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी अमर प्रसाद निवासी जैतहरी जीवन सिंह निवासी जैतहरी लालमन निवासी जैतहरी वेद प्रकाश पनिका निवासी जैतहरी है इनके खिलाफ छत्तीसगढ़ कृषिक पशु परिरक्षण अधिनियम 2004 की धारा 4, 5 और 6 के तहत तथा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत मामला कायम कर आगे की कार्यवाही की जा रही है। नए पुलिस अधीक्षक अपने एक्शन मोड के लिए जाने जाते हैं और डोंगरगढ़ टीआई, रायपुर सीएसपी और दंतेवाड़ा एडिशनल SP के तौर पर काफ़ी सक्रिय रहे थे।अपनी पहली प्रेस वार्ता में ही उन्होंने अपने इरादे काफ़ी स्पष्ट कर दिए थे कि सरकार के दिए फ़ार्मूले विकास-विश्वास-सुरक्षा पर पुलिस महकमे के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सतत काम किया जाएगा । पिछले २४ घंटे में ३ बड़ी कार्यवाहियों से अवैध कारोबारियों में दहशत का माहौल व्याप्त है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

पेण्ड्रा– नए जिले के अस्तित्व में आते ही और पुलिस अधीक्षक की पदस्थापना के बाद मध्य प्रदेश से सटे इलाके में अंतरराज्यीय स्तर पर हो रहे अवैध कारोबार पर पुलिस ने लगाम लगाना शुरू कर दिया है इसी के तहत नए जिले के तीनों थानों में GPM पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिभा तिवारी , एसडीओपी अशोक वद्गाओंकर और तीनों थानों के टी॰आई॰ के नेतृत्व में सघन चेकिंग और मुखबिर की सूचना पर घेराबंदी करते हुए तीन अलग-अलग कार्यवाही की जिससे अवैध कारोबार को अंजाम देने वालों में हड़कंप मच गया है। अंतर राज्य स्तर पर काले कारोबार को अंजाम देने वाले तीनों ही मामलों में आरोपी मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं जिससे इस क्षेत्र में बड़े पैमाने पर अंतर राज्य स्तर पर अवैध कारोबार संचालित होने की बात सामने आ रही है।

घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार पहला मामला मरवाही थाना क्षेत्र का है जहाँ पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मध्य प्रदेश की ओर से अवैध तरीके से पिक अप में कोयले की तस्करी की जा रही है जिस पर मरवाही के निरीक्षक सुनील कुमार एवं अन्य स्टाफ ने घेराबंदी करते हुए एक नई पिक अप जिसमें सीमेंट की बोरियों में कोयला भर कर ले जाया जा रहा था को पकड़ने में सफलता हासिल की इस पिक अप में ढाई टन कोयला लोड था जिसकी अनुमानित कीमत ₹10000 तथा पिकअप कीमत 6 लाख 50 हजार दोनो की कुल कीमत 6 लाख 60 हजार बताई जा रही है यह कोयला मध्य प्रदेश के आमाडाण्ड के फुलवारी टोला खदान से लाई जा रही थी इस के संदर्भ में पर्याप्त दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने जाने पर उक्त पिकअप के चालक प्रकाश केवट पिता धनीराम केवट निवासी आमाडॉण्ड मध्य प्रदेश के खिलाफ प्रतिबंधात्मक धारा 41(1-4) और IPC 379 के तहत अपराध कायम कर लिया है ।

वहीं दूसरी घटना पेंड्रा थाना क्षेत्र की है यहां धनपुर गांव में नंदकुमार के यहां मध्य प्रदेश से चोरी का डीजल ला कर खपाए जाने की शिकायत पुलिस को मिल रही थी जिस पर पुलिस ने धनपुर गांव में आरोपी के घर में दबिश दी जहां कई जरीकेन में डीजल भरा हुआ मिला जिसे की मध्य प्रदेश से लाया जाना बताया गया वहीं पुलिस को जानकारी मिली कि अभी और डीजल आ रहा है जिस पर पुलिस ने टीम बनाकर घेराबंदी की और यहां एक स्कॉर्पियो में डीजल लाकर बेचने के लिए जैसे ही पहुंचे थे पुलिस ने आरोपियों को पकड़ लिया इस मामले में पुलिस ने तकरीबन 380 लीटर डीजल और स्कोर्पियो वाहन क्रमांक cg10 f 2640 को और 18790 रुपये ज़ब्त किया है वहीं आरोपियों से और भी पूछताछ की जा रही है। इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी बुढार निवासी बादल सोनी, पारसी निवासी किशन चौहान, कोतमा निवासी बसंत सोनी और सिरपुर कोतमा निवासी वृंदावन सोनी है। इस मामले में सभी आरोपियों के खिलाफ भादवि की धारा 379, 34 कायम करते हुए गिरफ्तार करके न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है ज्ञात हो कि पुलिस को इन लोगों के खिलाफ काफी समय से शिकायत मिल रही थी पर यह बचते आ रहे थे।

वहीं तीसरा मामला गौरेला थाना क्षेत्र का है जहां पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मध्य प्रदेश से अवैध तरीके से मध्यप्रदेश के रास्ते होकर मवेशियों की तस्करी की जानी है जिस पर पुलिस ने गौरेला सब इंस्पेक्टर लकड़ा के नेतृत्व में घेराबंदी की जिसमें झाबर के रास्ते दरमोहली गाँव के पास मध्य प्रदेश की सीमा के ही कुछ दूर पहले ही पुलिस ने कुल 14 नग मवेशियों को चार आरोपियों के साथ गिरफ्तार करते हुए जप्त किया है पुलिस यदि इस कार्यवाही में कुछ मिनट लेट होती तो मवेशी सहित आरोपी मध्य प्रदेश की सीमा में दाखिल हो जाते पुलिस की चौकसी एवं तत्परता के चलते मवेशियों एवं तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपी अमर प्रसाद निवासी जैतहरी जीवन सिंह निवासी जैतहरी लालमन निवासी जैतहरी वेद प्रकाश पनिका निवासी जैतहरी है इनके खिलाफ छत्तीसगढ़ कृषिक पशु परिरक्षण अधिनियम 2004 की धारा 4, 5 और 6 के तहत तथा पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत मामला कायम कर आगे की कार्यवाही की जा रही है। नए पुलिस अधीक्षक अपने एक्शन मोड के लिए जाने जाते हैं और डोंगरगढ़ टीआई, रायपुर सीएसपी और दंतेवाड़ा एडिशनल SP के तौर पर काफ़ी सक्रिय रहे थे।अपनी पहली प्रेस वार्ता में ही उन्होंने अपने इरादे काफ़ी स्पष्ट कर दिए थे कि सरकार के दिए फ़ार्मूले विकास-विश्वास-सुरक्षा पर पुलिस महकमे के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में सतत काम किया जाएगा । पिछले २४ घंटे में ३ बड़ी कार्यवाहियों से अवैध कारोबारियों में दहशत का माहौल व्याप्त है।