Saturday, December 3, 2022

नवरात्र अष्टमी पर हुआ हवन, शहर में निकली मां काली

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- चैत्र नवरात्रि पर मां महामाया मंदिर में अष्टमी पर हवन पूजा की गई और मां महामाया से प्रार्थना की गई कि देश में फैली कोराना वायरस से पूरे विश्व को मुक्त रखें।
चैत्र नवरात्रि पर संक्रमित बिमारी के चलते मंदिरों के पट पूरे समय नही खुले रहे सभी मंदिरों में ज्योति कलश प्रज्जवलित नही किए गए और न ही मंदिरों में अत्यधिक लोगों को प्रवेश दिया गया आरती और पूजा के समय में भी समिति के लोग ही उपस्थित रहे। देर रात तक पट जिन मंदिरों के खुले रहते थे उन मंदिरों के पट 9 बजे ही बंद हो जाते थे आज शाम 4 बजे मंदिर परिसर में अष्टमी का हवन किया गया जिसमें आचार्य रत्नाकर पाण्डेय जितेंद्र पाण्डेय जितेंद्र शुक्ला दिलीप तोलानी राजू सिंह ठाकुर तिलक ताम्रकार आयुष कारडा वरूण कारडा प्रमुख रूप से उपस्थित रहे और हवन पश्चात आरती की गई। और मां महामाया से प्रार्थना की गई कि शहर प्रदेश देश और पूरे विश्व को इस संक्रमित बिमारी से बचाकर रखे

मां काली‌ के हुये दर्शन


हजारों लोग जिस काली माता को दर्शन करने के लिए सप्तमी की सारी रात जागरण करते थे वहीं लाकडाउन और धारा 144 के चलते शहर में काली माता निकली तो शहर में दर्शन करने वाले कोई भी लोग सडकों पर नजर नही आए इसके लिए पुलिस ने पहले से ही तैयार कर ली थी।


नगर में हर नवरात्रि के सप्तमी को काली माता तखतपुर में निकलती है और इसके दर्शन करने के लिए दूर दराज के हजारों श्रद्धालू शहर में आ जाते है पर प्रशासन ने इस बार बडी चालाकी से काम लिया और इस सप्तमी के दिन नवरात्रि पर मां काली नगर में दर्शन देने नही निकलेगी इसकी जानकारी सोशल मिडिया में दी इसके बाद प्रशासन की इस बात को मान कर लोग अपने अपने घरों में सो गए। प्रशासन अगर ऐसा नही करता तो धारा 144 का उल्लघंन भी होता और मां काली नही निकलती तो आस्था पर भी चोट पहुंचती इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने समझदारी से काम लिया और लोगों को घर में रहने दिया और मां काली पूरे नगर में भ्रमण भी किया और नगरवासी मान रहे है कि मां काली के इस भ्रमण से नगर में कोरोना वायरस का कोई असर नही होगा।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- चैत्र नवरात्रि पर मां महामाया मंदिर में अष्टमी पर हवन पूजा की गई और मां महामाया से प्रार्थना की गई कि देश में फैली कोराना वायरस से पूरे विश्व को मुक्त रखें।
चैत्र नवरात्रि पर संक्रमित बिमारी के चलते मंदिरों के पट पूरे समय नही खुले रहे सभी मंदिरों में ज्योति कलश प्रज्जवलित नही किए गए और न ही मंदिरों में अत्यधिक लोगों को प्रवेश दिया गया आरती और पूजा के समय में भी समिति के लोग ही उपस्थित रहे। देर रात तक पट जिन मंदिरों के खुले रहते थे उन मंदिरों के पट 9 बजे ही बंद हो जाते थे आज शाम 4 बजे मंदिर परिसर में अष्टमी का हवन किया गया जिसमें आचार्य रत्नाकर पाण्डेय जितेंद्र पाण्डेय जितेंद्र शुक्ला दिलीप तोलानी राजू सिंह ठाकुर तिलक ताम्रकार आयुष कारडा वरूण कारडा प्रमुख रूप से उपस्थित रहे और हवन पश्चात आरती की गई। और मां महामाया से प्रार्थना की गई कि शहर प्रदेश देश और पूरे विश्व को इस संक्रमित बिमारी से बचाकर रखे

मां काली‌ के हुये दर्शन


हजारों लोग जिस काली माता को दर्शन करने के लिए सप्तमी की सारी रात जागरण करते थे वहीं लाकडाउन और धारा 144 के चलते शहर में काली माता निकली तो शहर में दर्शन करने वाले कोई भी लोग सडकों पर नजर नही आए इसके लिए पुलिस ने पहले से ही तैयार कर ली थी।


नगर में हर नवरात्रि के सप्तमी को काली माता तखतपुर में निकलती है और इसके दर्शन करने के लिए दूर दराज के हजारों श्रद्धालू शहर में आ जाते है पर प्रशासन ने इस बार बडी चालाकी से काम लिया और इस सप्तमी के दिन नवरात्रि पर मां काली नगर में दर्शन देने नही निकलेगी इसकी जानकारी सोशल मिडिया में दी इसके बाद प्रशासन की इस बात को मान कर लोग अपने अपने घरों में सो गए। प्रशासन अगर ऐसा नही करता तो धारा 144 का उल्लघंन भी होता और मां काली नही निकलती तो आस्था पर भी चोट पहुंचती इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने समझदारी से काम लिया और लोगों को घर में रहने दिया और मां काली पूरे नगर में भ्रमण भी किया और नगरवासी मान रहे है कि मां काली के इस भ्रमण से नगर में कोरोना वायरस का कोई असर नही होगा।