Monday, November 28, 2022

पेण्ड्रा-गौरेला-मरवाही जिले को लेकर प्रशासनिक कवायद तेज, अधिकारियों ने भवनों का किया निरीक्षण

पेण्ड्रा– छत्तीसगढ़ के 28 वें जिले गौरेला पेंड्रा मरवाही को लेकर प्रशासनिक कवायद तेज हो चुकी है। नए जिले की ओएसडी बनाई गई शिखा राजपूत तिवारी और पुलिस विभाग के ओएसडी सूरज सिंह परिहार सहित आला अधिकारियों ने आज गौरेला पेंड्रा और मरवाही के विभिन्न कार्यालयों और भवनों में पहुंचकर वस्तु स्थिति से अवगत हुए, उन्होंने सबसे पहले पेंड्रा के तहसील भवन और अन्य दूसरे शासकीय कार्यालयों का मुआयना किया, और स्थापना से अवगत हुए स्थानीय अधिकारियों से पदस्थ कर्मचारी अधिकारियों के संबंध में जानकारी ली गई, तथा सेटअप देखा गया। पेंड्रा में आईटीआई भवन, डाइट भवन, फिजिकल कॉलेज सहित कुछ अन्य भवन भी चिन्हित किए गए हैं । इसके बाद अधिकारियों की टीम मरवाही पहुंचकर मरवाही के तहसील कार्यालय, जनपद कार्यालय सहित अन्य शासकीय कार्यालयों का निरीक्षण किया गया साथ ही साथ सामुदायिक भवनों को देखा गया, तथा अधिकारियों की टीम के द्वारा आने वाले 10 फरवरी से नए जिले की स्थापना को लेकर संभावित कार्यालयों के संबंध में मुआयना किया गया, और उपयोगिता तथा और औचित्यता की जांच की गई। वहीं पुलिस विभाग के ओएसडी सूरज सिंह और शिखा राजपूत तिवारी दोनो ने मरवाही थाने का भ्रमण किया स्टाफ की जानकारी ली, साथ ही साथ मरवाही थाना क्षेत्र से लगने वाले मध्य प्रदेश की सीमाओं के बारे में जानकारी ली।
ज्ञात हो, कि नए जिले में 3 नए थाने प्रस्तावित है, जिनमें मरवाही से अलग होकर सिवनी पेंड्रा से अलग होकर कोडगार और गौरेला से अलग होकर खोडरी में नए थाना खोले जाने की प्रस्ताव शासन को भेजा गया है, हालांकि इसकी अभी मंजूरी नहीं मिली है, पर यह माना जा रहा है, कि जिला बनने के साथ ही साथ यह नए थाने भी अस्तित्व में आ सकते हैं। इस दौरान उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिभा तिवारी, तहसीलदार पेंड्रा घनश्याम तंवर, मरवाही तहसीलदार सुनील अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी तथा थाना प्रभारी शामिल रहे।

नए जिले के लिए गौरेला पेंड्रा मरवाही में अभी तक केवल गौरेला में ही अनुविभागीय अधिकारी राजस्व का पद है, वहीं नए सेटअप के अनुसार शासन को मरवाही में भी एक एसडीएम के पद का सृजन करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं, कि नए सेटअप के अस्तित्व में आने के साथ ही साथ मरवाही में अलग से एसडीएम हम होंगे, जिससे मरवाही वासियों को काफी हद तक राहत मिलने की संभावना है। मरवाही के सीमांत गांव के लोगों को अब तक गौरेला एसडीएम कार्यालय पहुंचने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था जबकि मरवाही में ही एसडीएम बैठने लगेंगे तो लोगों की दिक्कतें काफी हद तक कम हो सकेंगी।

GiONews Team
Editor In Chief

31 COMMENTS

  1. This is the right site for anybody who hopes to find out about this topic. You understand a whole lot its almost tough to argue with you (not that I actually would want toÖHaHa). You certainly put a brand new spin on a subject that’s been discussed for many years. Great stuff, just excellent!

  2. Having read this I thought it was really informative. I appreciate you spending some time and energy to put this article together. I once again find myself personally spending way too much time both reading and leaving comments. But so what, it was still worth it!

  3. Greetings, There’s no doubt that your blog might be having internet browser compatibility issues. Whenever I take a look at your website in Safari, it looks fine however, if opening in I.E., it’s got some overlapping issues. I just wanted to provide you with a quick heads up! Other than that, excellent website!

  4. I was excited to discover this web site. I need to to thank you for ones time just for this fantastic read!! I definitely loved every little bit of it and I have you bookmarked to look at new stuff on your site.

  5. After I initially left a comment I seem to have clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now each time a comment is added I receive 4 emails with the same comment. Perhaps there is a way you can remove me from that service? Cheers!

  6. Oh my goodness! Amazing article dude! Thank you so much, However I am having difficulties with your RSS. I donít know why I can’t subscribe to it. Is there anybody else getting identical RSS issues? Anyone who knows the solution will you kindly respond? Thanx!!

  7. Can I simply just say what a comfort to uncover somebody who genuinely knows what they are talking about on the web. You certainly understand how to bring an issue to light and make it important. More people have to check this out and understand this side of the story. I was surprised that you’re not more popular since you most certainly possess the gift.

  8. An impressive share! I have just forwarded this onto a coworker who has been conducting a little research on this. And he actually ordered me lunch simply because I found it for him… lol. So allow me to reword this…. Thanks for the meal!! But yeah, thanks for spending the time to discuss this issue here on your site.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

पेण्ड्रा– छत्तीसगढ़ के 28 वें जिले गौरेला पेंड्रा मरवाही को लेकर प्रशासनिक कवायद तेज हो चुकी है। नए जिले की ओएसडी बनाई गई शिखा राजपूत तिवारी और पुलिस विभाग के ओएसडी सूरज सिंह परिहार सहित आला अधिकारियों ने आज गौरेला पेंड्रा और मरवाही के विभिन्न कार्यालयों और भवनों में पहुंचकर वस्तु स्थिति से अवगत हुए, उन्होंने सबसे पहले पेंड्रा के तहसील भवन और अन्य दूसरे शासकीय कार्यालयों का मुआयना किया, और स्थापना से अवगत हुए स्थानीय अधिकारियों से पदस्थ कर्मचारी अधिकारियों के संबंध में जानकारी ली गई, तथा सेटअप देखा गया। पेंड्रा में आईटीआई भवन, डाइट भवन, फिजिकल कॉलेज सहित कुछ अन्य भवन भी चिन्हित किए गए हैं । इसके बाद अधिकारियों की टीम मरवाही पहुंचकर मरवाही के तहसील कार्यालय, जनपद कार्यालय सहित अन्य शासकीय कार्यालयों का निरीक्षण किया गया साथ ही साथ सामुदायिक भवनों को देखा गया, तथा अधिकारियों की टीम के द्वारा आने वाले 10 फरवरी से नए जिले की स्थापना को लेकर संभावित कार्यालयों के संबंध में मुआयना किया गया, और उपयोगिता तथा और औचित्यता की जांच की गई। वहीं पुलिस विभाग के ओएसडी सूरज सिंह और शिखा राजपूत तिवारी दोनो ने मरवाही थाने का भ्रमण किया स्टाफ की जानकारी ली, साथ ही साथ मरवाही थाना क्षेत्र से लगने वाले मध्य प्रदेश की सीमाओं के बारे में जानकारी ली।
ज्ञात हो, कि नए जिले में 3 नए थाने प्रस्तावित है, जिनमें मरवाही से अलग होकर सिवनी पेंड्रा से अलग होकर कोडगार और गौरेला से अलग होकर खोडरी में नए थाना खोले जाने की प्रस्ताव शासन को भेजा गया है, हालांकि इसकी अभी मंजूरी नहीं मिली है, पर यह माना जा रहा है, कि जिला बनने के साथ ही साथ यह नए थाने भी अस्तित्व में आ सकते हैं। इस दौरान उनके साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रतिभा तिवारी, तहसीलदार पेंड्रा घनश्याम तंवर, मरवाही तहसीलदार सुनील अग्रवाल सहित अन्य अधिकारी तथा थाना प्रभारी शामिल रहे।

नए जिले के लिए गौरेला पेंड्रा मरवाही में अभी तक केवल गौरेला में ही अनुविभागीय अधिकारी राजस्व का पद है, वहीं नए सेटअप के अनुसार शासन को मरवाही में भी एक एसडीएम के पद का सृजन करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। यह भी कयास लगाए जा रहे हैं, कि नए सेटअप के अस्तित्व में आने के साथ ही साथ मरवाही में अलग से एसडीएम हम होंगे, जिससे मरवाही वासियों को काफी हद तक राहत मिलने की संभावना है। मरवाही के सीमांत गांव के लोगों को अब तक गौरेला एसडीएम कार्यालय पहुंचने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था जबकि मरवाही में ही एसडीएम बैठने लगेंगे तो लोगों की दिक्कतें काफी हद तक कम हो सकेंगी।