Thursday, December 8, 2022

बिलासपुर मेरा सबसे प्रिय शहर, विकास में नहीं होगी कोई कमी- सीएम भूपेश बघेल
जनता का काम समय से नहीं निपटाया, तो मुझसे उम्मीद मत करना- मेयर रामशरण यादव

बिलासपुर– महापौर और सभापति के शपथ ग्रहण में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर को अपना सबसे प्यारा शहर बताया, और लोगों को विश्वास दिलाया, कि शहर के विकास में कोई कमी नहीं होगी। वहीं इस दौरान मेयर रामशरण यादव का तल्ख अंदाज देखने को मिला, उन्होंने निगम के कर्मचारियों को चेताया, कि आम लोगों का काम समय से नहीं निपटाया, तो उनसे मदद की उम्मीद न करें।

पुलिस मैदान में आयोजित नगर निगम के शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी उन दिनों को याद किया, जब भाजपा के शासन काल मे बिलासपुर का नाम पूरे देश मे खोदापुर और गढ्ढापुर के रूप में बदनाम हो चुका था। दरअसल भाजपा के शासनकाल में बिलासपुर में सीवरेज के नाम पर जिस तरह पूरे शहर की सड़कों को खोद दिया गया था। शहर में जगह जगह बड़े बड़े गड्ढे हो गए थे।

बिलासपुर के लोग उन गड्ढों में गिर पड़ रहे थे, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं थी। शहर का यह हाल तब था, जब प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री इसी शहर की जनता द्वारा विधायक चुने गए थे। बिलासपुर का नाम सोशल मीडिया में खोदापुर और गड्ढापुर के नाम से बदनाम होता रहा।

आज प्रदेश के मुख्यमंत्री ने शायद उन्ही दिनों की याद करते हुए कहा, कि अब हमारी सरकार और नगर निगम की नई टीम बिलासपुर को गड्ढापुर या खोदापुर नहीं बनने देगी।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर को अपना प्यारा शहर बताते हुए कहा, कि यहां के किसी भी विकास कार्य मे बाधा नहीं आएगी।

वहीं इस दौरान मेयर रामशरण यादव अपने अक्खड़ अंदाज में दिखे, उन्होंने मंच से निगम के अधिकारी कमर्चारियों को चेताया, कि जनता का काम समय से नहीं निपटाया, तो मुझसे मदद की उम्मीद मत करना।

GiONews Team
Editor In Chief

26 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– महापौर और सभापति के शपथ ग्रहण में पहुंचे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर को अपना सबसे प्यारा शहर बताया, और लोगों को विश्वास दिलाया, कि शहर के विकास में कोई कमी नहीं होगी। वहीं इस दौरान मेयर रामशरण यादव का तल्ख अंदाज देखने को मिला, उन्होंने निगम के कर्मचारियों को चेताया, कि आम लोगों का काम समय से नहीं निपटाया, तो उनसे मदद की उम्मीद न करें।

पुलिस मैदान में आयोजित नगर निगम के शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी उन दिनों को याद किया, जब भाजपा के शासन काल मे बिलासपुर का नाम पूरे देश मे खोदापुर और गढ्ढापुर के रूप में बदनाम हो चुका था। दरअसल भाजपा के शासनकाल में बिलासपुर में सीवरेज के नाम पर जिस तरह पूरे शहर की सड़कों को खोद दिया गया था। शहर में जगह जगह बड़े बड़े गड्ढे हो गए थे।

बिलासपुर के लोग उन गड्ढों में गिर पड़ रहे थे, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं थी। शहर का यह हाल तब था, जब प्रदेश के नगरीय प्रशासन मंत्री इसी शहर की जनता द्वारा विधायक चुने गए थे। बिलासपुर का नाम सोशल मीडिया में खोदापुर और गड्ढापुर के नाम से बदनाम होता रहा।

आज प्रदेश के मुख्यमंत्री ने शायद उन्ही दिनों की याद करते हुए कहा, कि अब हमारी सरकार और नगर निगम की नई टीम बिलासपुर को गड्ढापुर या खोदापुर नहीं बनने देगी।मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिलासपुर को अपना प्यारा शहर बताते हुए कहा, कि यहां के किसी भी विकास कार्य मे बाधा नहीं आएगी।

वहीं इस दौरान मेयर रामशरण यादव अपने अक्खड़ अंदाज में दिखे, उन्होंने मंच से निगम के अधिकारी कमर्चारियों को चेताया, कि जनता का काम समय से नहीं निपटाया, तो मुझसे मदद की उम्मीद मत करना।