Thursday, October 6, 2022

बेकिंग: 4 हजार रु की रिश्वत लेते पटवारी गिरफ्तार.. ऋण पुस्तिका दुरुस्त करने के नाम पर मांगी थी रकम..

बिलासपुर– ऋण पुस्तिका दुरुस्त करने के नाम रिश्वत की मांग करने वाले पटवारी को एसीबी की टीम ने 4 हजार रु लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, मामला खरसिया क्षेत्र के बड़े देवगांव का है। एसीबी की टीम आरोपी पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई कर रही है।

रायगढ़ जिले के खरसिया क्षेत्र के बड़े देवगांव में रहने वाले प्रार्थी संजय साहू पिता लखन लाल साहू 27 वर्ष ने अपने और दो भाई विजय और अजय साहू के नाम पर जमीन खरीदी थी, तब उसके दोनों भाई नाबालिग थे, उनके बालिग होने पर ऋण पुस्तिका दुरुस्त करानी थी, जिसके एवज में पटवारी सुमित्रा सिदार ने उससे ₹4000 रिश्वत की मांग की थी। जिसकी शिकायत प्रार्थी ने एसीबी बिलासपुर से की थी।

मामले की तस्दीक के बाद प्रार्थी के साथ आज एसीबी की टीम मौके पर पहुंची, और पटवारी को उसके घर मे ही ₹4000 रिश्वत लेते हुए एसीबी बिलासपुर द्वारा पकड़ा गया।

एसीबी की टीम में डीएसपी आदित्य हिराधर, डीएसपी अभिषेक केसरी, निरीक्षक रुद्राक्ष, उप निरीक्षक मुकेश शर्मा, आरक्षक अमित, आरक्षक विक्कू सिंह शामिल थे।

GiONews Team
Editor In Chief

23 COMMENTS

  1. Players who invite their friends along to a particular casino can receive a referral bonus. In other words, every time you use your own personal link to attract new players to make a deposit, the best Bitcoin casino sites will reward you in the form of a bonus – usually between $100 and $200. In a live casino, you’d triumphantly walk up to the cashier’s desk and dump a big pile of chips on it. In a bitcoin casino, all you do is click the “withdraw” button. In most cases, your winnings (in bitcoin) are transferred back to your bitcoin wallet. There is some level of risk involved here due to the volatility of the bitcoin exchange market. More on that later in the article, but first, let’s hammer home the nature of the no deposit bonus. Play slot games and play live casino games at the best usa online casinos. If you like it there, use fiat currencies or make Bitcoin deposits to claim your bitcoin casino bonuses. Moreover, this provably fair online casino has a nice selection of live casino games to play once you establish your online casino account. If you ever feel you have a problem playing at an online bitcoin casino, please look at our free gambling addiction resources. https://www.disabilitymedwaynetwork.org.uk/community/profile/glenkoertig2683/ This website is using a security service to protect itself from online attacks. The action you just performed triggered the security solution. There are several actions that could trigger this block including submitting a certain word or phrase, a SQL command or malformed data. Casino bonus code: no code needed Prime Casino provides you with 24 7 customer support through live chat or email. However, assistance in other language than English is not available around-the-clock, so if you want to receive an answer to your query as fast as possible, make sure to send it in English. There is also an extensive FAQ section where you can find answers to the most common queries regarding licensing, banking, bonuses and promotions and more. Prime Casino was established in 2007 and has been dazzling the online gambling community ever since. Owned by Prime Gaming Casinos and powered by a multitude of platforms like NextGen, Amaya and WMS. Prime Casino has the largest slot selection, although they do provide a multitude of other games, Blackjack and Roulette in particular. Their table games are also available… Read Full Review

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– ऋण पुस्तिका दुरुस्त करने के नाम रिश्वत की मांग करने वाले पटवारी को एसीबी की टीम ने 4 हजार रु लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, मामला खरसिया क्षेत्र के बड़े देवगांव का है। एसीबी की टीम आरोपी पटवारी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत कार्रवाई कर रही है।

रायगढ़ जिले के खरसिया क्षेत्र के बड़े देवगांव में रहने वाले प्रार्थी संजय साहू पिता लखन लाल साहू 27 वर्ष ने अपने और दो भाई विजय और अजय साहू के नाम पर जमीन खरीदी थी, तब उसके दोनों भाई नाबालिग थे, उनके बालिग होने पर ऋण पुस्तिका दुरुस्त करानी थी, जिसके एवज में पटवारी सुमित्रा सिदार ने उससे ₹4000 रिश्वत की मांग की थी। जिसकी शिकायत प्रार्थी ने एसीबी बिलासपुर से की थी।

मामले की तस्दीक के बाद प्रार्थी के साथ आज एसीबी की टीम मौके पर पहुंची, और पटवारी को उसके घर मे ही ₹4000 रिश्वत लेते हुए एसीबी बिलासपुर द्वारा पकड़ा गया।

एसीबी की टीम में डीएसपी आदित्य हिराधर, डीएसपी अभिषेक केसरी, निरीक्षक रुद्राक्ष, उप निरीक्षक मुकेश शर्मा, आरक्षक अमित, आरक्षक विक्कू सिंह शामिल थे।