Saturday, August 13, 2022

बेटी ने जन्म लिया, और पिता बन गए सरपंच

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- इधर सरपंच के लिए वोट पड रहा था, उधर पत्नि को प्रसव पीडा हुई, और एक पुत्री को मां ने जन्म दिया वहीं जब ग्रामीणों को जानकारी मिली, तो वे उपहार में पिता को सरपंच बना दिया।
पंचायत चुनाव में प्रथम चरण का मतदान 28 जनवरी को हुआ जिसमें बिरगहनी में भी पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले गए। इस चुनाव सरपंच पद के प्रत्याशी के रूप में राजेश पाली उर्फ गोलू भी चुनाव लड रहा था इधर जिस दिन मतदान पड रहा था।

उसी दिन उसकी पत्नि रानी पाली को प्रसव पीडा हुई और जब राजेश को पता चला तो उसकी पत्नि को प्रसव पीडा हुई और दौडते हुए जब घर गया तब उसकी पत्नि ने एक पुत्री को जन्म दिया और घर से आकर जब वह मतदान केंद्र में वोट डालने के लिए गए लोगों को बताया कि इसकी पत्नि ने एक पुत्री को जन्म दिया है। उसके बाद वहां उत्साहित लोगों को राजेश को बधाई दिए और जब मतगणना हुई तो पता चला कि राजेश 330 मतों से सरपंच का चुनाव जीत गया तब वहां पर उपस्थित लोगों ने कहा कि यह गांव वाले की ओर से पुत्री के जन्म होने पर सरपंच पद का उपहार है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

तखतपुर (टेकचंद कारड़ा)- इधर सरपंच के लिए वोट पड रहा था, उधर पत्नि को प्रसव पीडा हुई, और एक पुत्री को मां ने जन्म दिया वहीं जब ग्रामीणों को जानकारी मिली, तो वे उपहार में पिता को सरपंच बना दिया।
पंचायत चुनाव में प्रथम चरण का मतदान 28 जनवरी को हुआ जिसमें बिरगहनी में भी पंचायत चुनाव के लिए वोट डाले गए। इस चुनाव सरपंच पद के प्रत्याशी के रूप में राजेश पाली उर्फ गोलू भी चुनाव लड रहा था इधर जिस दिन मतदान पड रहा था।

उसी दिन उसकी पत्नि रानी पाली को प्रसव पीडा हुई और जब राजेश को पता चला तो उसकी पत्नि को प्रसव पीडा हुई और दौडते हुए जब घर गया तब उसकी पत्नि ने एक पुत्री को जन्म दिया और घर से आकर जब वह मतदान केंद्र में वोट डालने के लिए गए लोगों को बताया कि इसकी पत्नि ने एक पुत्री को जन्म दिया है। उसके बाद वहां उत्साहित लोगों को राजेश को बधाई दिए और जब मतगणना हुई तो पता चला कि राजेश 330 मतों से सरपंच का चुनाव जीत गया तब वहां पर उपस्थित लोगों ने कहा कि यह गांव वाले की ओर से पुत्री के जन्म होने पर सरपंच पद का उपहार है।