Friday, August 19, 2022

ब्रह्माकुमारीज़ का आध्यात्मिक मेला 13 फरवरी से, 11 दिन तक देखने को मिलेगी अलौकिक झांकियां

बिलासपुर– प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की शुभम् विहार इकाई की ओर से 11 दिन का विश्व मंगल आध्यात्मिक मेला ग्रीन पार्क मैदान में 13 फरवरी से शुरू हो रहा है। मेला स्थल पर भूमिपूजन कर आज से तैयारी शुरू की गई है।

महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर प्रारंभ हो रहे इस मेले आकर्षक चैतन्य व स्वचालित मॉडलों की झांकियां लगेंगी। इस आयोजन की तैयारी के लिए माउन्टआबू से बिलासपुर पहुंचे ब्रह्माकुमार मुखर्जी और शुभम् विहार की ब्रह्माकुमारी सविता बहन ने पत्रकारों से बिलासपुर प्रेस क्लब में इस आयोजन के बारे में जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि मंडप का उद्घाटन 13 फरवरी की शाम 6 बजे छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत, स्वास्थ्य एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री टी.एस. सिंहदेव करेंगे। इसके अलावा नगर के जन प्रतिनिधि भी उपस्थित रहेंगे। मेले में प्रकाश एवं ध्वनि से सुसज्जित 40 फीट ऊंची भव्य चैतन्य देवियों की झांकी का दर्शन किया जा सकेगा। विशाल स्वचालित मॉडलों द्वारा विराट सृष्टि चक्र का खगोलीय रहस्य एवं भारत माता की पुकार का रहस्य उद्घाटन कराने वाला दर्शन कराया जायेगा। लाइट एंड साउण्ड शो के माध्यम से पर्मात्म अवतरण का भव्य ब्रह्माण्ड एवं तीन लोकों की झांकी का दर्शन कराया जायेगा। निपुण कलाकारों द्वारा गीत-संगीत के माध्यम से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी। इसके अलावा अनेक आकर्षक मण्डप स्वर्णिम भारत की झलक, गोकुल एवं स्वच्छ ग्राम, नारी सशक्तिकरण, व्यसन उन्मूलन एवं स्वास्थ्य प्रदर्शनी लगाई जायेगी।

मेला प्रतिदिन शाम 6 बजे से प्रारंभ होकर रात्रि 10 बजे तक चलेगा। राजयोग का अभ्यास प्रतिदिन शाम चार बजे से कराया जायेगा। इसके अलावा शाश्वत यौगिक खेती का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। ब्रह्माकुमार मुखर्जी जी ने बताया कि इस मेले का उद्देश्य यह बताना है कि भगवान शिव विकराल काल रात्रि को ज्ञान के प्रकाश से दूर करने के लिए गुप्त कर्तव्य कर रहे हैं। यह मेला देशभर में 33 स्थानों पर अब तक लग चुके हैं। बिलासपुर में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से इस तरह का भव्य आयोजन पहली बार किया जा रहा है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की शुभम् विहार इकाई की ओर से 11 दिन का विश्व मंगल आध्यात्मिक मेला ग्रीन पार्क मैदान में 13 फरवरी से शुरू हो रहा है। मेला स्थल पर भूमिपूजन कर आज से तैयारी शुरू की गई है।

महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर प्रारंभ हो रहे इस मेले आकर्षक चैतन्य व स्वचालित मॉडलों की झांकियां लगेंगी। इस आयोजन की तैयारी के लिए माउन्टआबू से बिलासपुर पहुंचे ब्रह्माकुमार मुखर्जी और शुभम् विहार की ब्रह्माकुमारी सविता बहन ने पत्रकारों से बिलासपुर प्रेस क्लब में इस आयोजन के बारे में जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि मंडप का उद्घाटन 13 फरवरी की शाम 6 बजे छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत, स्वास्थ्य एवं ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री टी.एस. सिंहदेव करेंगे। इसके अलावा नगर के जन प्रतिनिधि भी उपस्थित रहेंगे। मेले में प्रकाश एवं ध्वनि से सुसज्जित 40 फीट ऊंची भव्य चैतन्य देवियों की झांकी का दर्शन किया जा सकेगा। विशाल स्वचालित मॉडलों द्वारा विराट सृष्टि चक्र का खगोलीय रहस्य एवं भारत माता की पुकार का रहस्य उद्घाटन कराने वाला दर्शन कराया जायेगा। लाइट एंड साउण्ड शो के माध्यम से पर्मात्म अवतरण का भव्य ब्रह्माण्ड एवं तीन लोकों की झांकी का दर्शन कराया जायेगा। निपुण कलाकारों द्वारा गीत-संगीत के माध्यम से रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति होगी। इसके अलावा अनेक आकर्षक मण्डप स्वर्णिम भारत की झलक, गोकुल एवं स्वच्छ ग्राम, नारी सशक्तिकरण, व्यसन उन्मूलन एवं स्वास्थ्य प्रदर्शनी लगाई जायेगी।

मेला प्रतिदिन शाम 6 बजे से प्रारंभ होकर रात्रि 10 बजे तक चलेगा। राजयोग का अभ्यास प्रतिदिन शाम चार बजे से कराया जायेगा। इसके अलावा शाश्वत यौगिक खेती का प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। ब्रह्माकुमार मुखर्जी जी ने बताया कि इस मेले का उद्देश्य यह बताना है कि भगवान शिव विकराल काल रात्रि को ज्ञान के प्रकाश से दूर करने के लिए गुप्त कर्तव्य कर रहे हैं। यह मेला देशभर में 33 स्थानों पर अब तक लग चुके हैं। बिलासपुर में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से इस तरह का भव्य आयोजन पहली बार किया जा रहा है।