Tuesday, August 16, 2022

बड़ा सवाल: किसने लिखी विधायक शैलेष के खिलाफ एफआईआर की स्क्रिप्ट?

बिलासपुर– शहर के विधायक शैलेष पांडेय के खिलाफ आज एफआईआर दर्ज हुई.. वजह थी, उनके घर मे राशन लेने जुटी लोगो की भीड़.. खुद पर अपराध दर्ज होने पर विधायक शैलेष पांडेय ने आश्चर्य जताते हुए कहा, कि यह प्रायोजित FIR है, यह जांच का विषय है, कि ऐसा किसके इशारे पर हुआ है, इसकी स्क्रिप्ट किसने लिखी है। उन्होंने कहा, कि विधानसभा में वे कलेक्टर व एसपी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का मामला लायेंगे, साथ ही मामले में न्यायालय की शरण लेंगे।

विधायक ने कहा- लोगो की मदद कर कौन सा गुनाह किया, मुझे अपराधी बना दिया- देखिये वीडियो

पुलिस व प्रशासन पर भड़के शैलेषदेखिये वीडियो

क्या कहती है पुलिस

इस मामले में पुलिस का कहना है, कि कोरोना को लेकर लॉक डाउन है, और धारा 144 लागू है, जो भी नियम कायदों की अनदेखी करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लिया संज्ञान

एफआईआर दर्ज होने की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधायक शैलेष पाण्डेय को स्वयं फोन करके घटना की जानकारी ली। विधायक ने बताया, कि सीएम बघेल ने पूरी बात सुनने के बाद उनसे कहा है, कि तुम अपना काम करते रहो। मैं इस मामले को देखता हूँ। सीएम के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो सकता है।

बड़ा सवाल- इस कहानी की स्क्रिप्ट किसने लिखी..


शहर विधायक शैलेष पांडेय के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद इसे लेकर तरह-तरह की चर्चा हो रही है। ऐसे इसलिए हो रहा है, क्योंकि विपक्षी भाजपा के विरोध या साजिश तक तो बात ठीक थी, सत्ताधारी दल कांग्रेस के नेता कई मौकों पर गुटों में बंटी नज़र आती रही है। ऐसे में जब विधायक के खिलाफ अपराध दर्ज होने की खबर शहर में फैली तो चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया, विरोधी इसे विधायक द्वारा लिखी गई कहानी बता रहे हैं, तो विधायक समर्थक इस कार्रवाई को उनकी बढ़ती लोकप्रियता के चलते की गई कार्रवाई करार दे रहे है। विधायक शैलेष ने इस कहानी स्क्रिप्ट किसने लिखी, इस सच्चाई को जानने की जरूरत बताई। उन्होंने लोगों की भीड़ जुटने से लेकर पुलिस की त्वरित कार्रवाई पर सवाल खड़े करते हुए, मामले की तह तक जाने की बात कही है।

बहरहाल इस कहानी के परदे के पीछे की सच्चाई चाहे जो भी हो, कोरोना की वजह लॉक डाउन में खाली बैठे लोगों ने कोरोना वायरस पर बहस करना छोड़, इस गरम मुद्दे पर बहस छेड़ दी है।

GiONews Team
Editor In Chief

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– शहर के विधायक शैलेष पांडेय के खिलाफ आज एफआईआर दर्ज हुई.. वजह थी, उनके घर मे राशन लेने जुटी लोगो की भीड़.. खुद पर अपराध दर्ज होने पर विधायक शैलेष पांडेय ने आश्चर्य जताते हुए कहा, कि यह प्रायोजित FIR है, यह जांच का विषय है, कि ऐसा किसके इशारे पर हुआ है, इसकी स्क्रिप्ट किसने लिखी है। उन्होंने कहा, कि विधानसभा में वे कलेक्टर व एसपी के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का मामला लायेंगे, साथ ही मामले में न्यायालय की शरण लेंगे।

विधायक ने कहा- लोगो की मदद कर कौन सा गुनाह किया, मुझे अपराधी बना दिया- देखिये वीडियो

पुलिस व प्रशासन पर भड़के शैलेषदेखिये वीडियो

क्या कहती है पुलिस

इस मामले में पुलिस का कहना है, कि कोरोना को लेकर लॉक डाउन है, और धारा 144 लागू है, जो भी नियम कायदों की अनदेखी करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लिया संज्ञान

एफआईआर दर्ज होने की सूचना मिलने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने विधायक शैलेष पाण्डेय को स्वयं फोन करके घटना की जानकारी ली। विधायक ने बताया, कि सीएम बघेल ने पूरी बात सुनने के बाद उनसे कहा है, कि तुम अपना काम करते रहो। मैं इस मामले को देखता हूँ। सीएम के हस्तक्षेप के बाद मामला शांत हो सकता है।

बड़ा सवाल- इस कहानी की स्क्रिप्ट किसने लिखी..


शहर विधायक शैलेष पांडेय के खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद इसे लेकर तरह-तरह की चर्चा हो रही है। ऐसे इसलिए हो रहा है, क्योंकि विपक्षी भाजपा के विरोध या साजिश तक तो बात ठीक थी, सत्ताधारी दल कांग्रेस के नेता कई मौकों पर गुटों में बंटी नज़र आती रही है। ऐसे में जब विधायक के खिलाफ अपराध दर्ज होने की खबर शहर में फैली तो चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया, विरोधी इसे विधायक द्वारा लिखी गई कहानी बता रहे हैं, तो विधायक समर्थक इस कार्रवाई को उनकी बढ़ती लोकप्रियता के चलते की गई कार्रवाई करार दे रहे है। विधायक शैलेष ने इस कहानी स्क्रिप्ट किसने लिखी, इस सच्चाई को जानने की जरूरत बताई। उन्होंने लोगों की भीड़ जुटने से लेकर पुलिस की त्वरित कार्रवाई पर सवाल खड़े करते हुए, मामले की तह तक जाने की बात कही है।

बहरहाल इस कहानी के परदे के पीछे की सच्चाई चाहे जो भी हो, कोरोना की वजह लॉक डाउन में खाली बैठे लोगों ने कोरोना वायरस पर बहस करना छोड़, इस गरम मुद्दे पर बहस छेड़ दी है।