Sunday, November 27, 2022

मरवाही सदन में आत्महत्या मामला, मृतक के परिजनों ने सड़क पर लाश रखकर किया चक्काजाम

बिलासपुर– आईजी आफिस के सामने स्थित पूर्व मुख्यंमंत्री अजीत जोगी के निवास ‘मरवाही सदन’ में बुधवार को उनके घरेलू कर्मचारी द्वारा की गई खुदकशी के मामले ने तूल पकड़ लिया है।

जोगी निवास का कर्मचारी संतोष कौशिक कोनी थाना क्षेत्र के रमतला गांव का रहने वाला था। उसकी संदिग्ध मौत से नाराज ग्रामीणों ने आज सुबह 8 बजे से बिलासपुर कोरबा मार्ग पर सेंदरी में चक्काजाम कर दिया है। मृतक संतोष कौशिक श्री जोगी के मरवाही सदन में बीते चार साल से काम करता था। बुधवार को दोपहर बाद किसी समय उसने ‘मरवाही सदन’ में फांसी से लटक कर आत्महत्या कर ली।

परिजनों ने चोरी के आरोप को बताई वजह

पुलिस आत्महत्या करने की वजह अज्ञात बताते हुए, जांच के बाद खुलासे की बात कर रही है, लेकिन मृतक के एक रिश्तेदार का कहना है, कि उसके पास दोपहर को ही मृतक सतीश का फोन आया था । जिसमे वो कह रहा था कि उस पर चोरी का इल्जाम लगाया जा रहा है।

निष्पक्ष जांच और मुआवजा की मांग पर चक्काजाम

सेंदरी में कोरबा रोड़ पर चक्का जाम करने वाले लोगो के बारे में सेंदरी के किसान नेता श्री कमलेश सिंह ठाकुर ने बताया, कि चक्काजाम करने वाले ग्रामीण, जोगी निवास मरवाही सदन में कथित रूप से फांसी लगाने वाले मृतक संतोष कौशिक की संदिग्ध मौत की निष्पक्ष जांच करने और मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं।

GiONews Team
Editor In Chief

4631 COMMENTS