Thursday, December 8, 2022

लॉकडाउन: बिलासपुर पुलिस की “गांधीगिरी”..

बिलासपुर– बिलासपुर पुलिस ने लोगों को लॉकडाउन के दौरान नियम कायदा समझाने “गांधीगिरी” शुरू की.. जिसके बाद लोग पुलिस को देख कर अब नाक मुंह नहीं सिकोड़ रहे, उनके स्वागत में फूल बरसा रहे हैं। पुलिस इन दिनों सड़क पर कार्रवाई करने ही नहीं घूम रही.. बल्कि लोगों के सुख-दुख में शामिल भी हो रही है..

एक सितम्बर 2006 को रिलीज हुई फ़िल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ तो आपको याद ही होगी, जिसमें एक गैंगस्टर को महिला रेडियो जॉकी से प्यार हो जाता है, और वह सच्चा गांधीवादी होने का झूठ बोलता है। हालांकि वह प्रेमिका को निराश करता है पर वह खुद में बदलाव लाता है और लोगों की मदद करना शुरू करता है।

कुछ इसी तरह बिलासपुर पुलिस ने भी पुलिस के प्रति लोगों की सोच को बदल दी है। लॉकडाउन के दौरान लोगों को समझाइश देने पुलिस ने “गांधीगिरी” अपनाई। कभी गाना गाया.. आरती उतारी.. राखी बांधी.. और अब योगासन और एक्सरसाइज करा रही है।

वहीं दिनरात एक कार अपनी ड्यूटी निभा रही पुलिस को जब किसी के सुख दुख का पता चल रहा वहाँ पहुंचकर उनकी साथ खुशियां बांट रही, पुलिस के इस गांधीगिरी ने सबका दिल जीत लिया है।

ऐसा नहीं, कि पुलिस सख्ती नहीं बरत रही, कुछ लोगों उठक बैठक भी कराया गया.. लेकिन बिलासपुर पुलिस के बदले स्वरूप ने लोगों की अपने लिए सोच को बदल दिया, तभी तो लोगों को कभी सख्त लगने वाली पुलिस पर लोगों द्वारा फूल बरसाए जा रहे हैं।

GiONews Team
Editor In Chief

116 COMMENTS

  1. canadian pharmacy cheap naijamoviez.com
    [url=https://naijamoviez.com/#]ed pills[/url] the discount pharmacy

  2. cheap pharmacy naijamoviez.com
    [url=https://naijamoviez.com/#]ed pills without doctor prescription[/url] my canadian pharmacy

  3. I am not sure where you are getting your information, however great topic.I needs to spend some time learning much more or working out more.Thank you for excellent info I was looking forthis info for my mission.

  4. Safest communications, or perhaps a toasts. are usually released from some point during the wedding ceremony but they are prone to you need to be amusing, humorous to be able to uncommon as well. greatest guy jokes

  5. A motivating discussion is worth comment. I think that you need to publish more about this issue, it may not be a taboo matter but generally folks don’t speak about such subjects. To the next! Kind regards!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– बिलासपुर पुलिस ने लोगों को लॉकडाउन के दौरान नियम कायदा समझाने “गांधीगिरी” शुरू की.. जिसके बाद लोग पुलिस को देख कर अब नाक मुंह नहीं सिकोड़ रहे, उनके स्वागत में फूल बरसा रहे हैं। पुलिस इन दिनों सड़क पर कार्रवाई करने ही नहीं घूम रही.. बल्कि लोगों के सुख-दुख में शामिल भी हो रही है..

एक सितम्बर 2006 को रिलीज हुई फ़िल्म ‘लगे रहो मुन्नाभाई’ तो आपको याद ही होगी, जिसमें एक गैंगस्टर को महिला रेडियो जॉकी से प्यार हो जाता है, और वह सच्चा गांधीवादी होने का झूठ बोलता है। हालांकि वह प्रेमिका को निराश करता है पर वह खुद में बदलाव लाता है और लोगों की मदद करना शुरू करता है।

कुछ इसी तरह बिलासपुर पुलिस ने भी पुलिस के प्रति लोगों की सोच को बदल दी है। लॉकडाउन के दौरान लोगों को समझाइश देने पुलिस ने “गांधीगिरी” अपनाई। कभी गाना गाया.. आरती उतारी.. राखी बांधी.. और अब योगासन और एक्सरसाइज करा रही है।

वहीं दिनरात एक कार अपनी ड्यूटी निभा रही पुलिस को जब किसी के सुख दुख का पता चल रहा वहाँ पहुंचकर उनकी साथ खुशियां बांट रही, पुलिस के इस गांधीगिरी ने सबका दिल जीत लिया है।

ऐसा नहीं, कि पुलिस सख्ती नहीं बरत रही, कुछ लोगों उठक बैठक भी कराया गया.. लेकिन बिलासपुर पुलिस के बदले स्वरूप ने लोगों की अपने लिए सोच को बदल दिया, तभी तो लोगों को कभी सख्त लगने वाली पुलिस पर लोगों द्वारा फूल बरसाए जा रहे हैं।