Saturday, December 3, 2022

लॉकडाउन: बिलासपुर पुलिस का अनूठा अभियान

बिलासपुर– जब बेहतर पुलिसिंग की कुछ तस्वीरें उभरकर सामने आती हैं, तो अक्सर पुलिस का सख्त रवैया ही नजर आता है. अपराधी और पुलिस के बीच संघर्ष की हमने अधिकतर ऐसी ही तस्वीरें देखी हैं, जहां पुलिस का डंडा और बंदूक ही उसका एकमात्र हथियार होता है. अपराधमुक्त समाज के लिए पुलिस के खौफ को ही उपाय माना जाता है, लेकिन जंग-ए-कोरोना के वर्तमान हालात में सारे नियम और अवधारणाएं बदल गई हैं. कुछ इस तरह लोगों को जागरूक कर रही पुलिसइसी कड़ी में बिलासपुर पुलिस की कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जो सीधे तौर पर लोगों के दिलों को छू रही है।

अपने अनोखे तरीके से लोगों को लॉकडाउन के मतलब समझाती शहर की पुलिस ने देश-दुनिया में अपनी एक अलग ही मानवीय छवि बनाई है. इस खास रिपोर्ट के जरिए हम आपको दिखाते हैं पुलिस का एक और पहलू.भाई से नियम नहीं तोड़ने का लिया वचनमहिला पुलिस की शहर में ऐसी ही एक तस्वीर सामने आई है. बीच सड़क पर महिला पुलिस और लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं के बीच भाई-बहन का प्यार छलकता देखा गया. प्यार ऐसा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं से उनकी बहन आगे से नियम नहीं तोड़ने का वचन लेती नजर आ रही हैं.इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए किया प्रेरितकुछ ऐसी ही अनोखी तस्वीर तब देखने को मिली, जब पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं पर डंडा चलाने के बजाय बीच सड़क पर कसरत करने के लिए प्रेरित किया है. पुलिस ने इन युवाओं से योग भी कराया, उठक-बैठक भी लगवाई, पुश अप्स और डिप्स भी करवाए. मानों पुलिस कोरोना से जंग लड़ने के लिए इनके इम्यून सिस्टम को तैयार करवा रही हो.

राज्यगीत से किया जागरूक

वहीं बिलासपुर पुलिस की एक और तस्वीर जो सीधे दिल को छूती नजर आई है. इस बार शहर पुलिस राज्यगीत ‘अरपा पैरी के धार’ के माध्यम से कोरोना के प्रति जागरूकता को लेकर म्यूजिकल पाठ पढ़ाती नजर आई है. जिसमें बिलासपुर पुलिस लोगों को कोविड-19 के प्रति जागरूक कर रही है. जिसे सोशल मीडिया पर हजारों लाइक्स मिल चुके हैं और इसे जमकर शेयर भी किया जा रहा है. रैप सॉन्ग के जरिए मॉर्डन पुलिसिंगअब एक और नए अवतार की बात करें, तो बिलासपुर पुलिस रैप करती नजर आई. ये मॉर्डन युग की एक अलग तरह की पुलिसिंग है, जो युवाओं को खूब समझ आती है. इसमें शहर पुलिस रैप सॉन्ग के माध्यम से कोरोना से बचने और सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को समझाती नजर आई है. लोगों द्वारा इसे खासा पसंद किया जा रहा है.पुष्प वर्षा कर जताया आभार इस बीच शहर पुलिस की एक और तस्वीर सामने आई, जिसने मन को छू लिया. पुलिस ने दिन-रात लोगों की सेवा में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों पर पुष्प वर्षा कर उनका सम्मान किया और भारत माता के जयकारे लगाए. यह हमारी एकता और अखंडता को दर्शाता है. यह दिखाता है कि हम सबमें एक हीरो है, जिसे पहचानने की जरूरत है.इस बीच शहर के ट्रेनी डीएसपी अभिनव उपाध्याय का बीच सड़क पर सुरीले अंदाज में गाना देशभर में पुलिस की रचनात्मक छवि को सामने लाया है, जो सबसे ज्यादा सुपरहिट रहा और सोशल मीडिया पर इसकी खूब सराहना हुई. ट्रेनी डीएसपी ने गुजरे जमाने के मशहूर गीत ‘संसार है एक नदिया’ के तर्ज पर घर में रहते हुए ‘सबका हाथ बंटाना है’ गाया और लोगों से कोरोना को लेकर जागरूक होने की अपील की है.

इस तरह से बिलासपुर पुलिस ने अब तक विभिन्न रूपों से लोगों को जागरूक किया, जो वाकई अनोखा है और सराहनीय भी. पुलिस के आला अधिकारी भी लॉकडाउन के बीच लोगों की ओर से मिल रही प्रतिक्रिया की तारीफ कर रहे हैं. बहरहाल जरूरत इस बात की है कि जनहित में पुलिस-प्रशासन की इन गतिविधियों के मर्म को हम समझें और कोरोना के खिलाफ छिड़े वैश्विक जंग में अपना योगदान दें.

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– जब बेहतर पुलिसिंग की कुछ तस्वीरें उभरकर सामने आती हैं, तो अक्सर पुलिस का सख्त रवैया ही नजर आता है. अपराधी और पुलिस के बीच संघर्ष की हमने अधिकतर ऐसी ही तस्वीरें देखी हैं, जहां पुलिस का डंडा और बंदूक ही उसका एकमात्र हथियार होता है. अपराधमुक्त समाज के लिए पुलिस के खौफ को ही उपाय माना जाता है, लेकिन जंग-ए-कोरोना के वर्तमान हालात में सारे नियम और अवधारणाएं बदल गई हैं. कुछ इस तरह लोगों को जागरूक कर रही पुलिसइसी कड़ी में बिलासपुर पुलिस की कुछ ऐसी तस्वीरें सामने आई हैं, जो सीधे तौर पर लोगों के दिलों को छू रही है।

अपने अनोखे तरीके से लोगों को लॉकडाउन के मतलब समझाती शहर की पुलिस ने देश-दुनिया में अपनी एक अलग ही मानवीय छवि बनाई है. इस खास रिपोर्ट के जरिए हम आपको दिखाते हैं पुलिस का एक और पहलू.भाई से नियम नहीं तोड़ने का लिया वचनमहिला पुलिस की शहर में ऐसी ही एक तस्वीर सामने आई है. बीच सड़क पर महिला पुलिस और लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं के बीच भाई-बहन का प्यार छलकता देखा गया. प्यार ऐसा कि लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं से उनकी बहन आगे से नियम नहीं तोड़ने का वचन लेती नजर आ रही हैं.इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए किया प्रेरितकुछ ऐसी ही अनोखी तस्वीर तब देखने को मिली, जब पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले युवाओं पर डंडा चलाने के बजाय बीच सड़क पर कसरत करने के लिए प्रेरित किया है. पुलिस ने इन युवाओं से योग भी कराया, उठक-बैठक भी लगवाई, पुश अप्स और डिप्स भी करवाए. मानों पुलिस कोरोना से जंग लड़ने के लिए इनके इम्यून सिस्टम को तैयार करवा रही हो.

राज्यगीत से किया जागरूक

वहीं बिलासपुर पुलिस की एक और तस्वीर जो सीधे दिल को छूती नजर आई है. इस बार शहर पुलिस राज्यगीत ‘अरपा पैरी के धार’ के माध्यम से कोरोना के प्रति जागरूकता को लेकर म्यूजिकल पाठ पढ़ाती नजर आई है. जिसमें बिलासपुर पुलिस लोगों को कोविड-19 के प्रति जागरूक कर रही है. जिसे सोशल मीडिया पर हजारों लाइक्स मिल चुके हैं और इसे जमकर शेयर भी किया जा रहा है. रैप सॉन्ग के जरिए मॉर्डन पुलिसिंगअब एक और नए अवतार की बात करें, तो बिलासपुर पुलिस रैप करती नजर आई. ये मॉर्डन युग की एक अलग तरह की पुलिसिंग है, जो युवाओं को खूब समझ आती है. इसमें शहर पुलिस रैप सॉन्ग के माध्यम से कोरोना से बचने और सोशल डिस्टेंसिंग के महत्व को समझाती नजर आई है. लोगों द्वारा इसे खासा पसंद किया जा रहा है.पुष्प वर्षा कर जताया आभार इस बीच शहर पुलिस की एक और तस्वीर सामने आई, जिसने मन को छू लिया. पुलिस ने दिन-रात लोगों की सेवा में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों और सफाईकर्मियों पर पुष्प वर्षा कर उनका सम्मान किया और भारत माता के जयकारे लगाए. यह हमारी एकता और अखंडता को दर्शाता है. यह दिखाता है कि हम सबमें एक हीरो है, जिसे पहचानने की जरूरत है.इस बीच शहर के ट्रेनी डीएसपी अभिनव उपाध्याय का बीच सड़क पर सुरीले अंदाज में गाना देशभर में पुलिस की रचनात्मक छवि को सामने लाया है, जो सबसे ज्यादा सुपरहिट रहा और सोशल मीडिया पर इसकी खूब सराहना हुई. ट्रेनी डीएसपी ने गुजरे जमाने के मशहूर गीत ‘संसार है एक नदिया’ के तर्ज पर घर में रहते हुए ‘सबका हाथ बंटाना है’ गाया और लोगों से कोरोना को लेकर जागरूक होने की अपील की है.

इस तरह से बिलासपुर पुलिस ने अब तक विभिन्न रूपों से लोगों को जागरूक किया, जो वाकई अनोखा है और सराहनीय भी. पुलिस के आला अधिकारी भी लॉकडाउन के बीच लोगों की ओर से मिल रही प्रतिक्रिया की तारीफ कर रहे हैं. बहरहाल जरूरत इस बात की है कि जनहित में पुलिस-प्रशासन की इन गतिविधियों के मर्म को हम समझें और कोरोना के खिलाफ छिड़े वैश्विक जंग में अपना योगदान दें.