Saturday, December 3, 2022

लॉक डाउन में बढ़े टीवी, स्मार्टफोन और ओटीटी यूजर्स

बिलासपुर (योगेश वैष्णव, पीएचडी स्कॉलर, जीजीयू)- कोविड-19 के प्रभाव को रोकने भारत में लॉकडाउन के बाद से टीवी और स्मार्टफोन पर यूजर्स ज्यादा देर तक समय बिता रहे। टीवी ऑडियंस और प्रोग्राम्स पर रिसर्च करने वाली बार्क इंडिया और नीलसन ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट में बताया, कि 24 मार्च की शाम 8 बजे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की, उस वक्त इस टेलीकास्ट के दर्शकों की संख्या आईपीएल फाइनल के दर्शकों से भी ज्यादा थी। टीवी वीवरशीप के मामले में यह अद्भुत रिकॉर्ड है। 201 टीवी चैनल्स ने लाइव टेलीकास्ट किया। लॉकडाउन के पहले सप्ताह में दर्शकों की टेलीविजन पर समय की खपत पहले की अपेक्षा 8 प्रतिशत ज्यादा थी। दूरदर्शन में रामायण और महाभारत के टेलीकास्ट से टीवी वीवरशिप का बढ़ना भी सुनिश्चित है। यहां टीवी दर्शकों की संख्या बढ़ने का कारण काफी हद तक नॉन-प्राइम वीवरशिप होगा।

फिजिकल सोशल डिस्टेंसिंग के कारण भारतीयों ने पिछले सप्ताह चैट्स, सोशल मीडिया और समाचारों के लिए स्मार्टफोन का उपयोग 20 प्रतिशत ज्यादा किया। यानी हर एक यूजर ने पहले की अपेक्षा दिन में डेढ़ घंटे से ज्यादा देर तक स्मार्टफोन चलाया। ये आंकड़े फरवरी और मार्च के तीसरे सप्ताह की है। पहले सप्ताह में शॉपिंग, ट्रैवल और फूड एप्स खूब इस्तेमाल किए गए। इन एप्स की कमाई भी बेतहासा हुई। लॉकडाउन के 15 दिन अभी बाकी हैं ऐसे में इसके और भी बढ़ने की आशंका है।

बॉलीवुड को घाटा लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म को बेहद फायदाः


कर्फ्यू के कारण सिनेमाघर बंद हैं, इस दौरान रिलीज होने वाली फिल्मों की डेट्स भी आगे बढ़ा दी गई है। लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म जैसे- अमेजन प्राइम, हॉटस्टार और नेटफ्लिक्स पर वीवर्स की संख्या बढ़ने से विज्ञापन का भार भी तेजी से बढ़ा है। ओटीटी सर्विस प्रोवाइडर्स ने इंटरनेट डेटा कम खर्च हो इसके लिए वीडियो क्वालिटी को बैलेंस किया है, यानी 4K और एचडी के साथ-साथ फिल्म्स को 720P पर भी उपलब्ध कराया है। वहीं इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स कंपनी जैसे-जियो, बीएसएनएल और एयरटेल ने किफायदी टॉपअप के साथ प्रतिदिन डेटा खर्च की लिमिट को 3 जीबी तक बढ़ाया दिया है। यानी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर मेंबरशिप बढ़ाने का यह सुनहरा मौका है। हॉटस्टार, अमेजन प्राइम और नेटफ्लिक्स पर ज्यादा से ज्यादा फिल्म्स रिलीज किए जाने चाहिए।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर (योगेश वैष्णव, पीएचडी स्कॉलर, जीजीयू)- कोविड-19 के प्रभाव को रोकने भारत में लॉकडाउन के बाद से टीवी और स्मार्टफोन पर यूजर्स ज्यादा देर तक समय बिता रहे। टीवी ऑडियंस और प्रोग्राम्स पर रिसर्च करने वाली बार्क इंडिया और नीलसन ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट में बताया, कि 24 मार्च की शाम 8 बजे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा की, उस वक्त इस टेलीकास्ट के दर्शकों की संख्या आईपीएल फाइनल के दर्शकों से भी ज्यादा थी। टीवी वीवरशीप के मामले में यह अद्भुत रिकॉर्ड है। 201 टीवी चैनल्स ने लाइव टेलीकास्ट किया। लॉकडाउन के पहले सप्ताह में दर्शकों की टेलीविजन पर समय की खपत पहले की अपेक्षा 8 प्रतिशत ज्यादा थी। दूरदर्शन में रामायण और महाभारत के टेलीकास्ट से टीवी वीवरशिप का बढ़ना भी सुनिश्चित है। यहां टीवी दर्शकों की संख्या बढ़ने का कारण काफी हद तक नॉन-प्राइम वीवरशिप होगा।

फिजिकल सोशल डिस्टेंसिंग के कारण भारतीयों ने पिछले सप्ताह चैट्स, सोशल मीडिया और समाचारों के लिए स्मार्टफोन का उपयोग 20 प्रतिशत ज्यादा किया। यानी हर एक यूजर ने पहले की अपेक्षा दिन में डेढ़ घंटे से ज्यादा देर तक स्मार्टफोन चलाया। ये आंकड़े फरवरी और मार्च के तीसरे सप्ताह की है। पहले सप्ताह में शॉपिंग, ट्रैवल और फूड एप्स खूब इस्तेमाल किए गए। इन एप्स की कमाई भी बेतहासा हुई। लॉकडाउन के 15 दिन अभी बाकी हैं ऐसे में इसके और भी बढ़ने की आशंका है।

बॉलीवुड को घाटा लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म को बेहद फायदाः


कर्फ्यू के कारण सिनेमाघर बंद हैं, इस दौरान रिलीज होने वाली फिल्मों की डेट्स भी आगे बढ़ा दी गई है। लेकिन ओटीटी प्लेटफॉर्म जैसे- अमेजन प्राइम, हॉटस्टार और नेटफ्लिक्स पर वीवर्स की संख्या बढ़ने से विज्ञापन का भार भी तेजी से बढ़ा है। ओटीटी सर्विस प्रोवाइडर्स ने इंटरनेट डेटा कम खर्च हो इसके लिए वीडियो क्वालिटी को बैलेंस किया है, यानी 4K और एचडी के साथ-साथ फिल्म्स को 720P पर भी उपलब्ध कराया है। वहीं इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स कंपनी जैसे-जियो, बीएसएनएल और एयरटेल ने किफायदी टॉपअप के साथ प्रतिदिन डेटा खर्च की लिमिट को 3 जीबी तक बढ़ाया दिया है। यानी ओटीटी प्लेटफॉर्म पर मेंबरशिप बढ़ाने का यह सुनहरा मौका है। हॉटस्टार, अमेजन प्राइम और नेटफ्लिक्स पर ज्यादा से ज्यादा फिल्म्स रिलीज किए जाने चाहिए।