Wednesday, August 10, 2022

विवाद सुलझाने पहुंची पुलिस से बदसलूकी, आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज

बिलासपुर– माता-पिता के साथ बेटा विवाद कर हंगामा मचा रहा था, सूचना पर डॉयल 112 की टीम मौके पर पहुंची, तो परिवार के सदस्य उल्टा पुलिसकर्मी से ही उलझ गए, और पुलिसकर्मी से विवाद करते हुए दुर्व्यवहार कर दिया। इस मामले की रिपोर्ट पर पुलिस ने परिवार के सदस्यों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

पुलिस के डॉयल 112 को गुस्र्वार दोपहर सूचना मिली, कि सकरी थाना क्षेत्र के उसलापुर स्थित काटीखार में एक परिवार के सदस्यों के बीच विवाद हो रहा है। उनका बेटा अपने माता-पिता से झगड़ा कर मारपीट कर रहा है। सूचना पर पुलिस के डॉयल 112 में पदस्थ आरक्षक सुदर्शन सिंह मरकाम चालक जीत कुमार लहरे को लेकर घटनास्थल पहुंचा, जहां रमाकांत तिवारी, ऊषादेवी तिवारी से उसका बेटा सूर्यकांत तिवारी व रजनीकांत तिवारी आपस में विवाद कर रहे थे। पुलिस वहां पहुंची, तब दोनों पक्षों के बीच विवाद शांत होने की स्थिति में था। इस पर पुलिसकर्मी सुदर्शन उन्हें थाना जाकर शिकायत दर्ज कराने की सलाह देने लगा। तब सभी उल्टा पुलिसकर्मी से ही उलझ गए। उनका कहना था कि सूचना के बाद पुलिस विलंब से पहुंची है। इसी बात को लेकर उन्होंने आरक्षक से गाली-गलौज करते हुए अभद्रता शुरू कर दी। आरक्षक ने इस घटना की शिकायत थाने में दर्ज कराई है। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी रमाकांत तिवारी, उषा देवी तिवारी, सूर्यकांत तिवारी व रजनीकांत के खिलाफ धारा 294, 186, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– माता-पिता के साथ बेटा विवाद कर हंगामा मचा रहा था, सूचना पर डॉयल 112 की टीम मौके पर पहुंची, तो परिवार के सदस्य उल्टा पुलिसकर्मी से ही उलझ गए, और पुलिसकर्मी से विवाद करते हुए दुर्व्यवहार कर दिया। इस मामले की रिपोर्ट पर पुलिस ने परिवार के सदस्यों के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

पुलिस के डॉयल 112 को गुस्र्वार दोपहर सूचना मिली, कि सकरी थाना क्षेत्र के उसलापुर स्थित काटीखार में एक परिवार के सदस्यों के बीच विवाद हो रहा है। उनका बेटा अपने माता-पिता से झगड़ा कर मारपीट कर रहा है। सूचना पर पुलिस के डॉयल 112 में पदस्थ आरक्षक सुदर्शन सिंह मरकाम चालक जीत कुमार लहरे को लेकर घटनास्थल पहुंचा, जहां रमाकांत तिवारी, ऊषादेवी तिवारी से उसका बेटा सूर्यकांत तिवारी व रजनीकांत तिवारी आपस में विवाद कर रहे थे। पुलिस वहां पहुंची, तब दोनों पक्षों के बीच विवाद शांत होने की स्थिति में था। इस पर पुलिसकर्मी सुदर्शन उन्हें थाना जाकर शिकायत दर्ज कराने की सलाह देने लगा। तब सभी उल्टा पुलिसकर्मी से ही उलझ गए। उनका कहना था कि सूचना के बाद पुलिस विलंब से पहुंची है। इसी बात को लेकर उन्होंने आरक्षक से गाली-गलौज करते हुए अभद्रता शुरू कर दी। आरक्षक ने इस घटना की शिकायत थाने में दर्ज कराई है। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी रमाकांत तिवारी, उषा देवी तिवारी, सूर्यकांत तिवारी व रजनीकांत के खिलाफ धारा 294, 186, 34 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है।