Monday, November 28, 2022

शैक्षणिक परिसरों से शराब दुकान हो दूर : एबीवीपी

बिलासपुर– अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिलासपुर महानगर के द्वारा बुधवार को नेहरू चौक से पैदल रैली निकालने के बाद कलेक्ट्रेट जाकर कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौंपकर प्रशासन का ध्यान शहर में खुले आम शैक्षणिक परिसर विद्यालय व् महाविद्यालय के पास संचालित हो रही शराब दुकानों की और आकर्षित किया गया है।

एक ओर जहां शहर पूरे प्रदेश में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को अपनी ओर खींचता है तो वहीं दूसरी ओर शहर के छात्रों को शिक्षा देने वाले प्रांगण में आसपास संचालित शराब दुकान शैक्षणिक वातावरण को दूषित करती है तथा छात्रों के मनो मस्तिक पर भी नकारात्मक प्रभाव डालती है इस संदर्भ में नूतन चौक सरकंडा स्थित ड्रीमलैंड उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से लगी हुई शराब दुकान,सेंट जोसेफ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तारबाहर के ठीक सामने स्थित शराब दुकान विशेष उल्लेखनीय हैं तो वहीं कोनी में प्रदेश के एकमात्र केंद्रीय विश्वविद्यालय के समीप मौजूद शराब दुकान भी शैक्षणिक परिसर को प्रदूषित करती है।

इन सभी शराब दुकानों को अभिलंब विद्यालयों तथा महाविद्यालयों से दूर स्थानांतरित करने के लिए अभाविप ने ज्ञापन सौंपा इस अवसर पर विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता मौजूद रहे तथा जिला प्रशासन को स्पष्ट रूप से आग्रह किया कि यदि इन शराब दुकानों को इस स्थानांतरित नहीं किया जाता है तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी।


प्रदेश सह मंत्री मोरध्वज पैकरा ने कहा, कि आज के विद्यार्थी कहीं राष्ट्र का भविष्य है और इस देश का भविष्य इन्हीं विद्यालयों में पल रहा है जिसे हम किसी भी हाल में गलत वातावरण में जाने नहीं दे सकते।
पूर्व महानगर मंत्री रौनक केसरी ने कहा, कि विद्यालयों में छोटे बच्चे पढ़ाई करते हैं जिनका बाल हृदय अत्यंत ही कोमल होता है जो किसी भी प्रकार के असामाजिक कार्य से नकारात्मक रूप से प्रभावित होता है अतः शराब दुकानें यथाशीघ्र हटनी चाहिए।
महानगर मंत्री आयुष तिवारी ने कहा, कि महाविद्यालय के समीप शराब दुकान में होने से असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है जिससे छात्रों के मन में असुरक्षा की भावना रहती है इसलिए शराब दुकानों को शीघ्र हटाया जाए अन्यथा अभाविप उग्र आंदोलन करेगी।


ज्ञापन सौपने मे प्रदेश सह मंत्री मोरध्वज पैकरा, पूर्व महानगर मंत्री रौनक केसरी, महानगर मंत्री आयुष तिवारी, महानगर महाविद्यालय प्रमुख़ गिरजा शंकर यादव, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य काजल गुप्ता, शुभम शेंडे, महानगर सहमंत्री लोकेन्द्र कुर्रे, राघवेन्द्र राठौर, श्रीजन पांडेय, जयेश केसरी, श्रेयस अवस्थी, धीरज साहु, कुणाल मिश्रा, श्रीजन तिवारी, अभिषेक शर्मा, सिद्धार्थ बतरा, प्रतिक श्रीवास्तव, सौरव आदि छात्र-छात्राए उपस्थित थे।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद बिलासपुर महानगर के द्वारा बुधवार को नेहरू चौक से पैदल रैली निकालने के बाद कलेक्ट्रेट जाकर कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सौंपकर प्रशासन का ध्यान शहर में खुले आम शैक्षणिक परिसर विद्यालय व् महाविद्यालय के पास संचालित हो रही शराब दुकानों की और आकर्षित किया गया है।

एक ओर जहां शहर पूरे प्रदेश में प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले विद्यार्थियों को अपनी ओर खींचता है तो वहीं दूसरी ओर शहर के छात्रों को शिक्षा देने वाले प्रांगण में आसपास संचालित शराब दुकान शैक्षणिक वातावरण को दूषित करती है तथा छात्रों के मनो मस्तिक पर भी नकारात्मक प्रभाव डालती है इस संदर्भ में नूतन चौक सरकंडा स्थित ड्रीमलैंड उच्चतर माध्यमिक विद्यालय से लगी हुई शराब दुकान,सेंट जोसेफ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तारबाहर के ठीक सामने स्थित शराब दुकान विशेष उल्लेखनीय हैं तो वहीं कोनी में प्रदेश के एकमात्र केंद्रीय विश्वविद्यालय के समीप मौजूद शराब दुकान भी शैक्षणिक परिसर को प्रदूषित करती है।

इन सभी शराब दुकानों को अभिलंब विद्यालयों तथा महाविद्यालयों से दूर स्थानांतरित करने के लिए अभाविप ने ज्ञापन सौंपा इस अवसर पर विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता मौजूद रहे तथा जिला प्रशासन को स्पष्ट रूप से आग्रह किया कि यदि इन शराब दुकानों को इस स्थानांतरित नहीं किया जाता है तो अभाविप उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होगी।


प्रदेश सह मंत्री मोरध्वज पैकरा ने कहा, कि आज के विद्यार्थी कहीं राष्ट्र का भविष्य है और इस देश का भविष्य इन्हीं विद्यालयों में पल रहा है जिसे हम किसी भी हाल में गलत वातावरण में जाने नहीं दे सकते।
पूर्व महानगर मंत्री रौनक केसरी ने कहा, कि विद्यालयों में छोटे बच्चे पढ़ाई करते हैं जिनका बाल हृदय अत्यंत ही कोमल होता है जो किसी भी प्रकार के असामाजिक कार्य से नकारात्मक रूप से प्रभावित होता है अतः शराब दुकानें यथाशीघ्र हटनी चाहिए।
महानगर मंत्री आयुष तिवारी ने कहा, कि महाविद्यालय के समीप शराब दुकान में होने से असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है जिससे छात्रों के मन में असुरक्षा की भावना रहती है इसलिए शराब दुकानों को शीघ्र हटाया जाए अन्यथा अभाविप उग्र आंदोलन करेगी।


ज्ञापन सौपने मे प्रदेश सह मंत्री मोरध्वज पैकरा, पूर्व महानगर मंत्री रौनक केसरी, महानगर मंत्री आयुष तिवारी, महानगर महाविद्यालय प्रमुख़ गिरजा शंकर यादव, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य काजल गुप्ता, शुभम शेंडे, महानगर सहमंत्री लोकेन्द्र कुर्रे, राघवेन्द्र राठौर, श्रीजन पांडेय, जयेश केसरी, श्रेयस अवस्थी, धीरज साहु, कुणाल मिश्रा, श्रीजन तिवारी, अभिषेक शर्मा, सिद्धार्थ बतरा, प्रतिक श्रीवास्तव, सौरव आदि छात्र-छात्राए उपस्थित थे।