Wednesday, August 10, 2022

सीयू में चुनाव कार्यक्रम में बदलाव को लेकर एबीवीपी ने किया प्रदर्शन

बिलासपुर– गुरुघासीदास सैन्ट्रल विश्वविद्यालय परिसर में आज एबीवीपी समर्थित संघर्ष पैनल के छात्रों द्वारा चुनाव कार्यक्रम में किए गए बदलाव को लेकर व प्रशासन की लापरवाही व अनियमितता के खिलाफ आंदोलन किया। जिसमें पहले छात्रों के द्वारा विश्वविद्यालय मुख्य द्वार पर विश्वविद्यालय प्रशासन का पुतला फूंका, फिर विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन सौंपने हेतु छात्र प्रशासनिक भवन की ओर नारेबाजी करते हुए आगे बढ़े, मगर बीच में ही उन्हें रोक दिया गया, और प्रशासनिक भवन तक नहीं पहुंच सके।

छात्रों से मिलने तहसीलदार एवं डीएसडब्ल्यू बाहर आये, जिससे असंतुष्ट होकर छात्रों ने पूछा कि ऐसा क्यों है कि जहां एक और छात्रों का समूह प्रशासनिक भवन के अंदर हैं तो वही हमें बाहर रोका जा रहा है। इस विषय पर बात रखते हुए छात्रों ने यह भी पूछा कि हमारे साथ ऐसा सौतेला व्यवहार क्यों किया जा रहे है। ऐसा क्यों हो रहा है छात्रों का एक समूह विश्वविद्यालय को प्रिय है जबकि वही दूसरा समूह आज सड़कों पर छात्र हितों की लड़ाई लड़ रहा है।

इस दौरान संघर्ष पैनल के छात्रों ने प्रशासन पर सौतेला व्यव्हार करने का आरोप लगाया गया एवं वही धरने पर बैठ गए, इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के निवर्तमान प्रदेश मंत्री सन्नी केसरी ने कहा, कि विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव 24, 25 जनवरी को संपन्न होना था परंतु चुनाव अधिकारी एवं विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही अनियमितता तथा छात्र परिषद चुनाव को लेकर विश्वविद्यालय की उदासीनता के कारण छात्र परिषद चुनाव की तिथि और आगे बढ़ा दी गई। उल्लेखनीय है, कि लिंगदोह कमेटी की अनुशंसा के अनुसार छात्र परिषद चुनाव सत्र शुरू होने के 8 हफ्ते के भीतर कराना होता है परंतु विश्वविद्यालय के उदासीन रवैया के कारण यह चुनाव सत्र प्रारंभ होने के 6 महीने बाद कराया जा रहा है जो लिंग दो कमेटी के सिफारिशों का उल्लंघन है।

इस दौरान विश्वविद्यालय एबीवीपी इकाई के अध्यक्ष अमन कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय अपने करीबी छात्र संगठन को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से ऐसा कर रहा है साथ ही उन्होंने बार-बार चुनाव अधिकारी हेड एवं दिन पर लापरवाही एवं अनियमितता का आरोप लगाया।

घेराव के दौरान निवर्तमान प्रदेश मंत्री सन्नी केसरी,महानगर संगठन मंत्री मोरध्वज पैकरा,प्रदेश विश्वविद्यालय प्रमुख़ शाशक पाण्डेय,प्रदेश SFD प्रमुख़ यशवर्धन मरार,प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रौनक केसरी,महाविद्यालय प्रमुख़ गिरजा शंकर यादव,योगानन्द साहु,वेदांश मिश्रा,अभिषेक सिंह,बीका गोरख,लोकेश केसरी,शुभम पाठक,आशुतोष कुमार,गोपाल यादव,राघवेन्द्र पाण्डेय,अविनाश खलको,आशुतोष आनंद,अमन ठाकुर,आशुतोष सिंह,अमन प्रकाश, अनमोल, गोपाल यादव, डोमन, यशवंत योगी,परमेश्वर जायसवाल,अंकित,प्रतीक,सौरभ दुबे,हर्ष सौदर्शन,हिमांशु सिंह कश्यप,विनय चंद्रवंशी,देव यादव,प्रियांसु राणा समेत आदि संघर्ष पैनल के सैकड़ों छात्र-छात्राये उपस्थित रहे एवं चुनाव कार्यक्रम में किए गए बदलाव एवं प्रशासन की लापरवाह लापरवाह रवैया के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– गुरुघासीदास सैन्ट्रल विश्वविद्यालय परिसर में आज एबीवीपी समर्थित संघर्ष पैनल के छात्रों द्वारा चुनाव कार्यक्रम में किए गए बदलाव को लेकर व प्रशासन की लापरवाही व अनियमितता के खिलाफ आंदोलन किया। जिसमें पहले छात्रों के द्वारा विश्वविद्यालय मुख्य द्वार पर विश्वविद्यालय प्रशासन का पुतला फूंका, फिर विश्वविद्यालय प्रशासन को ज्ञापन सौंपने हेतु छात्र प्रशासनिक भवन की ओर नारेबाजी करते हुए आगे बढ़े, मगर बीच में ही उन्हें रोक दिया गया, और प्रशासनिक भवन तक नहीं पहुंच सके।

छात्रों से मिलने तहसीलदार एवं डीएसडब्ल्यू बाहर आये, जिससे असंतुष्ट होकर छात्रों ने पूछा कि ऐसा क्यों है कि जहां एक और छात्रों का समूह प्रशासनिक भवन के अंदर हैं तो वही हमें बाहर रोका जा रहा है। इस विषय पर बात रखते हुए छात्रों ने यह भी पूछा कि हमारे साथ ऐसा सौतेला व्यवहार क्यों किया जा रहे है। ऐसा क्यों हो रहा है छात्रों का एक समूह विश्वविद्यालय को प्रिय है जबकि वही दूसरा समूह आज सड़कों पर छात्र हितों की लड़ाई लड़ रहा है।

इस दौरान संघर्ष पैनल के छात्रों ने प्रशासन पर सौतेला व्यव्हार करने का आरोप लगाया गया एवं वही धरने पर बैठ गए, इस मौके पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के निवर्तमान प्रदेश मंत्री सन्नी केसरी ने कहा, कि विश्वविद्यालय में छात्र परिषद चुनाव 24, 25 जनवरी को संपन्न होना था परंतु चुनाव अधिकारी एवं विश्वविद्यालय प्रशासन की लापरवाही अनियमितता तथा छात्र परिषद चुनाव को लेकर विश्वविद्यालय की उदासीनता के कारण छात्र परिषद चुनाव की तिथि और आगे बढ़ा दी गई। उल्लेखनीय है, कि लिंगदोह कमेटी की अनुशंसा के अनुसार छात्र परिषद चुनाव सत्र शुरू होने के 8 हफ्ते के भीतर कराना होता है परंतु विश्वविद्यालय के उदासीन रवैया के कारण यह चुनाव सत्र प्रारंभ होने के 6 महीने बाद कराया जा रहा है जो लिंग दो कमेटी के सिफारिशों का उल्लंघन है।

इस दौरान विश्वविद्यालय एबीवीपी इकाई के अध्यक्ष अमन कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय अपने करीबी छात्र संगठन को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से ऐसा कर रहा है साथ ही उन्होंने बार-बार चुनाव अधिकारी हेड एवं दिन पर लापरवाही एवं अनियमितता का आरोप लगाया।

घेराव के दौरान निवर्तमान प्रदेश मंत्री सन्नी केसरी,महानगर संगठन मंत्री मोरध्वज पैकरा,प्रदेश विश्वविद्यालय प्रमुख़ शाशक पाण्डेय,प्रदेश SFD प्रमुख़ यशवर्धन मरार,प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रौनक केसरी,महाविद्यालय प्रमुख़ गिरजा शंकर यादव,योगानन्द साहु,वेदांश मिश्रा,अभिषेक सिंह,बीका गोरख,लोकेश केसरी,शुभम पाठक,आशुतोष कुमार,गोपाल यादव,राघवेन्द्र पाण्डेय,अविनाश खलको,आशुतोष आनंद,अमन ठाकुर,आशुतोष सिंह,अमन प्रकाश, अनमोल, गोपाल यादव, डोमन, यशवंत योगी,परमेश्वर जायसवाल,अंकित,प्रतीक,सौरभ दुबे,हर्ष सौदर्शन,हिमांशु सिंह कश्यप,विनय चंद्रवंशी,देव यादव,प्रियांसु राणा समेत आदि संघर्ष पैनल के सैकड़ों छात्र-छात्राये उपस्थित रहे एवं चुनाव कार्यक्रम में किए गए बदलाव एवं प्रशासन की लापरवाह लापरवाह रवैया के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया।