Saturday, August 13, 2022

बड़ी ख़बर: सूरजपुर के संक्रमित का प्रदेश के इन दो जिलों से कनेक्शन..

रायपुर– दो संक्रमित मरीजो के ठीक होने के साथ मंगलवार की दोपहर तक कोरोना मुक्ति की ओर बढ़ रहे छत्तीसगढ़ में रात होते-होते ये संख्या 13 हो गई.. तेजी से बढ़े संक्रमितों की संख्या इसलिए बढ़ी, कि क्योंकि जो मज़दूर कोरोना पॉजिटिव मिला, बाकी लोग उसके कॉन्टेक्ट में आये थे। चिंता का विषय ये है, कि उसके साथ रहने वाले मज़दूर जशपुर और राजनानादगांव के क्वारेन्टीन सेंटर में हैं। इस ख़बर के बाद वहां रह रहे झारखंड के मज़दूर दहशत में है।

दरअसल 16 अप्रैल की रात को महाराष्ट्र से झारखंड जाने वाले मज़दूरों को राजनांदगांव के पास क्वारेंटाइन सेंटर से जशपुर और सूरजपुर के जजावल शिफ्ट किया गया था। मज़दूरों को करीब 400 की संख्या में रुकवाया गया था। जशपुर और सूरजपुर में क़रीब 300 से ज़्यादा मज़दूर भेज दिए गए थे। जिसमें कहा जा रहा है उन लगभग 300 मज़दूरों में से 106 लोगों को सूरजपुर और बाक़ी लगभग 200 लोगों को जशपुर भेजा गया है।

हालाँकि अभी सभी सूरजपुर के मज़दूरों की जाँच रैपिड टेस्टिंग किट से हुई है, इसके बाद एक और टेस्ट होगा, जो रायपुर मेकाहारा या AIIMS में होगा, उसके बाद ये तय माना जाएगा, कि वो कोरोना पाजिटिव हैं, या नहीं।

जशपुर के मज़दूरों की जाँच जारी है, इनकी भी पहली जाँच रैपिड टेस्टिंग किट से की जा रही है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर– दो संक्रमित मरीजो के ठीक होने के साथ मंगलवार की दोपहर तक कोरोना मुक्ति की ओर बढ़ रहे छत्तीसगढ़ में रात होते-होते ये संख्या 13 हो गई.. तेजी से बढ़े संक्रमितों की संख्या इसलिए बढ़ी, कि क्योंकि जो मज़दूर कोरोना पॉजिटिव मिला, बाकी लोग उसके कॉन्टेक्ट में आये थे। चिंता का विषय ये है, कि उसके साथ रहने वाले मज़दूर जशपुर और राजनानादगांव के क्वारेन्टीन सेंटर में हैं। इस ख़बर के बाद वहां रह रहे झारखंड के मज़दूर दहशत में है।

दरअसल 16 अप्रैल की रात को महाराष्ट्र से झारखंड जाने वाले मज़दूरों को राजनांदगांव के पास क्वारेंटाइन सेंटर से जशपुर और सूरजपुर के जजावल शिफ्ट किया गया था। मज़दूरों को करीब 400 की संख्या में रुकवाया गया था। जशपुर और सूरजपुर में क़रीब 300 से ज़्यादा मज़दूर भेज दिए गए थे। जिसमें कहा जा रहा है उन लगभग 300 मज़दूरों में से 106 लोगों को सूरजपुर और बाक़ी लगभग 200 लोगों को जशपुर भेजा गया है।

हालाँकि अभी सभी सूरजपुर के मज़दूरों की जाँच रैपिड टेस्टिंग किट से हुई है, इसके बाद एक और टेस्ट होगा, जो रायपुर मेकाहारा या AIIMS में होगा, उसके बाद ये तय माना जाएगा, कि वो कोरोना पाजिटिव हैं, या नहीं।

जशपुर के मज़दूरों की जाँच जारी है, इनकी भी पहली जाँच रैपिड टेस्टिंग किट से की जा रही है।