Thursday, October 6, 2022

स्कूलों में चलाया गया जागरूकता अभियान

बिलासपुर– शहर से दूर ग्रामीण अंचल में रह रहे माताओं बहनों एवं स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चियों को मासिक धर्म के प्रति जन जागरूकता लाने की दृष्टि से समाजिक संस्था सौम्य एक नई उड़ान के द्वारा तीन दिवसीय जन जागरूकता अभियान लोरमी में संचालित किया गया, जिसमें विभिन्न स्कूलों में जाकर बच्चियों को मासिक धर्म के प्रति जागरूक कर उन्हें उस दौरान होने वाली समस्याओं के प्रति सजग रहने एवं स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने हेतु महत्वपूर्ण जानकारी दी गई, साथ ही लगातार बढ़ते अपराध और बच्चियों के साथ हो रहे शोषण के लिए उन्हें विपरीत लिंगी (पुरुषों) लोगों से दूरी बनाए रखना एवं उनके हर गतिविधियों को समझने हेतु जागरूक किया गया।

ज्ञात हो, लगातार ऐसी घटनाएं हमें सुनने को मिल रही है जिसमें बच्चियों को उनके आसपास के ही चित परिचित एवं अन्य के द्वारा शारीरिक व मानसिक शोषण किया जा रहा है ऐसी घटनाओं को रोक लगाने एवं उनसे बचाने हेतु विशेष कार्यक्रम अच्छा स्पर्श और बुरा स्पर्श की भी जानकारी दी गई।
सौम्य रंजीता ने बताया कि उनके द्वारा लगभग 19 सौ से अधिक सैनिटरी नैपकिन का वितरण इन तीन दिवसीय कार्यक्रम में किया गया उनका कहना है कि बच्चियों के बीच जब वह इस विषय को लेकर पहुंची तो बच्चियों के मन में संकोच, झिझक और खुल कर ना बोलने जैसी भावनाएं दिखी मगर कुछ ही देर की इस विषय को रखने से खुलकर अपनी बातों को रख सके और इस दौरान ऐसे विभिन्न जटिल समस्याओं से बच्चे जूझ रहे थे जिस पर खुलकर चर्चा हुई और उनकी समस्याओं के समाधान हेतु उन्हें बेहतर से बेहतर मार्गदर्शन भी दिया गया सौम्य ने बताया कि ऐसे आयोजन उनके द्वारा लगातार बिलासपुर एवं बिलासपुर के आसपास के विभिन्न जगहों पर विगत 3 सालों से संचालित की जा रही है । इस कार्य मे दुर्गा साहू व सरस्वती ठाकुर का विशेष सहयोग रहा।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– शहर से दूर ग्रामीण अंचल में रह रहे माताओं बहनों एवं स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चियों को मासिक धर्म के प्रति जन जागरूकता लाने की दृष्टि से समाजिक संस्था सौम्य एक नई उड़ान के द्वारा तीन दिवसीय जन जागरूकता अभियान लोरमी में संचालित किया गया, जिसमें विभिन्न स्कूलों में जाकर बच्चियों को मासिक धर्म के प्रति जागरूक कर उन्हें उस दौरान होने वाली समस्याओं के प्रति सजग रहने एवं स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने हेतु महत्वपूर्ण जानकारी दी गई, साथ ही लगातार बढ़ते अपराध और बच्चियों के साथ हो रहे शोषण के लिए उन्हें विपरीत लिंगी (पुरुषों) लोगों से दूरी बनाए रखना एवं उनके हर गतिविधियों को समझने हेतु जागरूक किया गया।

ज्ञात हो, लगातार ऐसी घटनाएं हमें सुनने को मिल रही है जिसमें बच्चियों को उनके आसपास के ही चित परिचित एवं अन्य के द्वारा शारीरिक व मानसिक शोषण किया जा रहा है ऐसी घटनाओं को रोक लगाने एवं उनसे बचाने हेतु विशेष कार्यक्रम अच्छा स्पर्श और बुरा स्पर्श की भी जानकारी दी गई।
सौम्य रंजीता ने बताया कि उनके द्वारा लगभग 19 सौ से अधिक सैनिटरी नैपकिन का वितरण इन तीन दिवसीय कार्यक्रम में किया गया उनका कहना है कि बच्चियों के बीच जब वह इस विषय को लेकर पहुंची तो बच्चियों के मन में संकोच, झिझक और खुल कर ना बोलने जैसी भावनाएं दिखी मगर कुछ ही देर की इस विषय को रखने से खुलकर अपनी बातों को रख सके और इस दौरान ऐसे विभिन्न जटिल समस्याओं से बच्चे जूझ रहे थे जिस पर खुलकर चर्चा हुई और उनकी समस्याओं के समाधान हेतु उन्हें बेहतर से बेहतर मार्गदर्शन भी दिया गया सौम्य ने बताया कि ऐसे आयोजन उनके द्वारा लगातार बिलासपुर एवं बिलासपुर के आसपास के विभिन्न जगहों पर विगत 3 सालों से संचालित की जा रही है । इस कार्य मे दुर्गा साहू व सरस्वती ठाकुर का विशेष सहयोग रहा।