Saturday, August 13, 2022

ख़बर ज़रा हट के: पुलिस.. रिक्शावाला !!

बिलासपुर– इस रिक्शा वाले को खाकी वर्दी में देखकर शायद आप चौंक गए होंगे.. आपको ये कोई फिल्मी तस्वीर लग रही होगी.. लेकिन ऐसा नहीं है, ये रिक्शावाला तारबाहर थाने में पदस्थ एसआई अशोक द्विवेदी है, जिन्होंने महिला मरीज को रिक्शा चलाकर हॉस्पिटल पहुंचाया।

फिल्मों में आपने हीरो को रिक्शा, ऑटो चलाकर बेहरारों की मदद करते ज़रूर देखा होगा.. लेकिन ये कहानी फिल्मी नही.. हकीकत है.. घटना रविवार दोपहर की है, जब तारबाहर थाने में पदस्थ एसआई अशोक द्विवेदी थाना स्टाफ के साथ पुराना बस स्टैंड चौक पर ड्यूटी कर रहे थे। तभी तेलीपारा की ओर से एक बुजुर्ग रिक्शा चालक दो महिला मरीजों को लेकर हॉस्पिटल जा रहा था, गर्मी में प्यास लगने के कारण वह रिक्शा चालक रिक्शा रोककर पानी पीने चला गया। इधर महिला मरीज गर्मी से बेहाल हो रहे थे, जिसे एसआई अशोक द्विवेदी ने देखा, तो उनसे रहा न गया, और खुद रिक्शा चलाते उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया।

जनमानस में पुलिस की कठोर छवि ऐसे पुलिसकर्मियों की संवेदनशीलता से बदल रही है। बिलासपुर पुलिस ने कोरोना वायरस से चल रही इस जंग में रात दिन किये हुए है, और लोगों की हिफाजत में अपनी पूरी ऊर्जा झोंक दी है। ऐसे में बिलासपुर पुलिस के लिए एक सेल्यूट तो बनता ही है।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– इस रिक्शा वाले को खाकी वर्दी में देखकर शायद आप चौंक गए होंगे.. आपको ये कोई फिल्मी तस्वीर लग रही होगी.. लेकिन ऐसा नहीं है, ये रिक्शावाला तारबाहर थाने में पदस्थ एसआई अशोक द्विवेदी है, जिन्होंने महिला मरीज को रिक्शा चलाकर हॉस्पिटल पहुंचाया।

फिल्मों में आपने हीरो को रिक्शा, ऑटो चलाकर बेहरारों की मदद करते ज़रूर देखा होगा.. लेकिन ये कहानी फिल्मी नही.. हकीकत है.. घटना रविवार दोपहर की है, जब तारबाहर थाने में पदस्थ एसआई अशोक द्विवेदी थाना स्टाफ के साथ पुराना बस स्टैंड चौक पर ड्यूटी कर रहे थे। तभी तेलीपारा की ओर से एक बुजुर्ग रिक्शा चालक दो महिला मरीजों को लेकर हॉस्पिटल जा रहा था, गर्मी में प्यास लगने के कारण वह रिक्शा चालक रिक्शा रोककर पानी पीने चला गया। इधर महिला मरीज गर्मी से बेहाल हो रहे थे, जिसे एसआई अशोक द्विवेदी ने देखा, तो उनसे रहा न गया, और खुद रिक्शा चलाते उन्हें हॉस्पिटल पहुंचाया।

जनमानस में पुलिस की कठोर छवि ऐसे पुलिसकर्मियों की संवेदनशीलता से बदल रही है। बिलासपुर पुलिस ने कोरोना वायरस से चल रही इस जंग में रात दिन किये हुए है, और लोगों की हिफाजत में अपनी पूरी ऊर्जा झोंक दी है। ऐसे में बिलासपुर पुलिस के लिए एक सेल्यूट तो बनता ही है।