Sunday, November 27, 2022

112 के चालक और आरक्षक की कर्तव्यनिष्ठा से वाहन में गूंजी किलकारी

बिलासपुर– 112 के चालक और आरक्षक की कर्तव्यनिष्ठा से वाहन में ही महिला की डिलीवरी हुई, और मासूम की किलकारी गूंज उठी।


शुक्रवार की रात वाहन 112 के चालक मुनेंद्र जायसवाल व आरक्षक दीप सिंह आरक्षक को सूचना मिली, कि कोटा थाना क्षेत्र के ग्राम लोकबंद में रहने वाली महिला अमृत बाई पति तीजराम के प्रसव पीड़ा से ग्रस्त और गंभीर स्थिति में है। 112 के दोनों कर्मचारी अपने कार्य के प्रति निष्ठा व्यक्त करते हुए बिना कोई देर किये ग्राम लोकबंद पहुंचे। वहां पर पीड़िता को वाहन में बिठाकर कोटा सामुदायिक केंद्र के लिये रवाना हुए, लेकिन अस्पताल पहुंचने के पहले ही प्रसूता की स्थिति गंभीर होने लगी, इस पर कर्मचारियों ने उपलब्ध संसाधनो में पीड़िता का सुरक्षित प्रसव कराने का निर्णय लिया।

कर्मचारियों के इस निर्णय और मदद से प्रसूता ने बीच जंगल मे स्वस्थ शिशु को जन्म दिया। बाद में नवजात व प्रसूता को कोटा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ दोनों स्वस्थ हैं।

GiONews Team
Editor In Chief

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– 112 के चालक और आरक्षक की कर्तव्यनिष्ठा से वाहन में ही महिला की डिलीवरी हुई, और मासूम की किलकारी गूंज उठी।


शुक्रवार की रात वाहन 112 के चालक मुनेंद्र जायसवाल व आरक्षक दीप सिंह आरक्षक को सूचना मिली, कि कोटा थाना क्षेत्र के ग्राम लोकबंद में रहने वाली महिला अमृत बाई पति तीजराम के प्रसव पीड़ा से ग्रस्त और गंभीर स्थिति में है। 112 के दोनों कर्मचारी अपने कार्य के प्रति निष्ठा व्यक्त करते हुए बिना कोई देर किये ग्राम लोकबंद पहुंचे। वहां पर पीड़िता को वाहन में बिठाकर कोटा सामुदायिक केंद्र के लिये रवाना हुए, लेकिन अस्पताल पहुंचने के पहले ही प्रसूता की स्थिति गंभीर होने लगी, इस पर कर्मचारियों ने उपलब्ध संसाधनो में पीड़िता का सुरक्षित प्रसव कराने का निर्णय लिया।

कर्मचारियों के इस निर्णय और मदद से प्रसूता ने बीच जंगल मे स्वस्थ शिशु को जन्म दिया। बाद में नवजात व प्रसूता को कोटा अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहाँ दोनों स्वस्थ हैं।