Saturday, December 3, 2022

सकरी बाईपास में मिली लाश, हत्या की आशंका, ग्रामीणों ने किया चक्काजाम

बिलासपुर– बाईपास रोड पर सकरी चौकी से आगे राइस मिल के पास गुरुवार की सुबह एक व्यक्ति की लाश मिली, पास ही में शराब भट्टी है, मृतक के शरीर पर चोट के निशान है, जिससे हत्या की आशंका जताई जा रही है, हालांकि मामले का खुलासा पुलिस जांच में होगा। वहीं घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने मौके पर चक्काजाम कर दिया, अधिकारियों की समझाइश पर जाम हटाया गया।

पुलिस जांच के दौरान पता चला, कि लाश राधेश्याम साहू की है। राधेश्याम साहू के भाई हरि नारायण साहू पूर्व सरपंच थे, जिनकी हत्या गांव के ही मोहन यादव और सोहन यादव ने 4 साल पहले की थी। हालांकि यह मामला साबित नहीं हो पाया था। परिजनों को संदेह है, कि 4 साल पहले मृतक के बड़े भाई की हत्या करने वाले मोहन यादव और सोहन यादव ने ही राधेश्याम साहू की भी हत्या की होगी।

राधेश्याम साहू के शरीर पर चोट के कई निशान पाए गए हैं, इसलिए पुलिस भी हत्या के आरोप से इनकार नहीं कर रही है। यहां जांच के लिए डॉग स्क्वायड को बुलाया गया। खोजी कुत्ते भी मोहन यादव और सोहन यादव के ही ठिकाने पर पहुंचे लेकिन दोनों ही गायब पाए गए। संबलपुरी सकरी निवासी राधेश्याम साहू के परिजनों ने राधेश्याम की हत्या करने का आरोप लगाते हुए संदेह मोहन और सोहन यादव पर ही जताया है। पुलिस को भी दोनों पर ही शक है। मृतक के सर में भी चोट के निशान है। वहीं पुलिस यह भी कह रही है कि मामला हत्या का है या कुछ और इसका खुलासा पोस्टमार्टम के बाद ही होगा। पुलिस चौकी से थोड़ी ही दूरी पर राधेश्याम साहू की लाश मिलने से पुलिस पर भी सवालिया निशान लग रहे हैं। वही मामला पुरानी रंजिश का भी लग रहा है, जिस कारण से गांव के मोहन और सोहन यादव ने पूर्व सरपंच की हत्या की थी शायद इसके तार भी उसी से जुड़े हो ।जिसका खुलासा जांच के बाद ही होगा। वहीं इस मामले के दोनों संदिग्ध के गायब मिलने से उन पर शक और गहरा रहा है।


इस मामले में संदिग्ध हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मृतक के परिजनों और उनके समर्थकों ने सकरी बाईपास रोड पर कुछ वक्त के लिए चक्का जाम कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाइश देकर इस चक्का जाम को समाप्त कराया। पुलिस का दावा है कि जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने ना आ जाए वे भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते, इसलिए परिजनों को भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने तक प्रतीक्षा करने कहा गया है । वहीं पुलिस ने इंसाफ करने का भी उन्हें भरोसा दिलाया है, जिसके बाद चक्काजाम समाप्त हुआ।

GiONews Team
Editor In Chief

38 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– बाईपास रोड पर सकरी चौकी से आगे राइस मिल के पास गुरुवार की सुबह एक व्यक्ति की लाश मिली, पास ही में शराब भट्टी है, मृतक के शरीर पर चोट के निशान है, जिससे हत्या की आशंका जताई जा रही है, हालांकि मामले का खुलासा पुलिस जांच में होगा। वहीं घटना के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने मौके पर चक्काजाम कर दिया, अधिकारियों की समझाइश पर जाम हटाया गया।

पुलिस जांच के दौरान पता चला, कि लाश राधेश्याम साहू की है। राधेश्याम साहू के भाई हरि नारायण साहू पूर्व सरपंच थे, जिनकी हत्या गांव के ही मोहन यादव और सोहन यादव ने 4 साल पहले की थी। हालांकि यह मामला साबित नहीं हो पाया था। परिजनों को संदेह है, कि 4 साल पहले मृतक के बड़े भाई की हत्या करने वाले मोहन यादव और सोहन यादव ने ही राधेश्याम साहू की भी हत्या की होगी।

राधेश्याम साहू के शरीर पर चोट के कई निशान पाए गए हैं, इसलिए पुलिस भी हत्या के आरोप से इनकार नहीं कर रही है। यहां जांच के लिए डॉग स्क्वायड को बुलाया गया। खोजी कुत्ते भी मोहन यादव और सोहन यादव के ही ठिकाने पर पहुंचे लेकिन दोनों ही गायब पाए गए। संबलपुरी सकरी निवासी राधेश्याम साहू के परिजनों ने राधेश्याम की हत्या करने का आरोप लगाते हुए संदेह मोहन और सोहन यादव पर ही जताया है। पुलिस को भी दोनों पर ही शक है। मृतक के सर में भी चोट के निशान है। वहीं पुलिस यह भी कह रही है कि मामला हत्या का है या कुछ और इसका खुलासा पोस्टमार्टम के बाद ही होगा। पुलिस चौकी से थोड़ी ही दूरी पर राधेश्याम साहू की लाश मिलने से पुलिस पर भी सवालिया निशान लग रहे हैं। वही मामला पुरानी रंजिश का भी लग रहा है, जिस कारण से गांव के मोहन और सोहन यादव ने पूर्व सरपंच की हत्या की थी शायद इसके तार भी उसी से जुड़े हो ।जिसका खुलासा जांच के बाद ही होगा। वहीं इस मामले के दोनों संदिग्ध के गायब मिलने से उन पर शक और गहरा रहा है।


इस मामले में संदिग्ध हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर मृतक के परिजनों और उनके समर्थकों ने सकरी बाईपास रोड पर कुछ वक्त के लिए चक्का जाम कर दिया। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने उन्हें समझाइश देकर इस चक्का जाम को समाप्त कराया। पुलिस का दावा है कि जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने ना आ जाए वे भी किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते, इसलिए परिजनों को भी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने तक प्रतीक्षा करने कहा गया है । वहीं पुलिस ने इंसाफ करने का भी उन्हें भरोसा दिलाया है, जिसके बाद चक्काजाम समाप्त हुआ।