नई दिल्ली– इंडियन रेलवे 15 जोड़ी विशेष राजधानी ट्रेनों को चलाने के बाद अब अन्य कई स्पेशल ट्रेनों को पटरी पर दौड़ाने की तैयारी में है. हालांकि रेलवे ने इसके लिए कोई तारीख नहीं बताई है कि कब से इन मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाया जाएगा. खास बात यह है कि वर्तमान में चल रहीं स्पेशल ट्रेनों में भी रेलवे ने यात्रियों के लिए वेटिंग टिकट की सुविधा शुरू कर दी है. रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक 22 मई से चलने वाली स्पेशल ट्रेनों के लिए वेटिंग टिकट की बुकिंग की जा सकेगी. रेलवे ने 22 मई की तारीख इसलिए तय की है क्योंकि 20 मई तक की ट्रेनों के लिए टिकट की बुकिंग पहले ही पूरी हो चुकी है. वेटिंग टिकट की सुविधा होगी लेकिन इन ट्रेनों में तत्काल या प्रीमियम तत्काल टिकट की सुविधा नहीं होगी.

अब नॉन एसी स्लिपर के लिए भी होगी बुकिंग

रेलवे ने यात्रियों की संख्या को ध्यान में रखते हुए वेटिंग टिकट की सुविधा देने की भी तैयारी की है. इंडियन रेलवे के मुताबिक 22 मई 2020 से इन स्पेशल ट्रेनों में सभी श्रेणियों में वेटिंग टिकट मिल सकेगा. हालांकि, इनकी संख्या को रेलवे ने पहले ही तय कर दिया है. खास बात यह है कि इन ट्रेनों में स्लीपर कोच भी जोड़े जाएंगे.

इंडियन रेलवे के सर्कुलर के मुताबिक AC 3 टियर में 100 वेटिंग टिकट बुक हो सकेंगे, जबकि एसी 2 टियर में 50 टिकटें और एसी 1 टियर व एग्जिक्यूटिव क्लास में 20-20 टिकटें बुक करने की सुविधा होगी. इसके अलावा स्लीपर क्लास के यात्रियों को 200 वेटिंग टिकटें दी जाएंगी. यही नहीं, जिस ट्रेन में एसी चेयर कार की सुविधा होगी उसके लिए भी 100 वेटिंग टिकट की सुविधा दी गई है.

रेलवे के मुताबिक वर्तमान में चल रही 15 जोड़ी स्पेशल एसी ट्रेनों में भी 15 मई से वेटिंग टिकट की सुविधा शुरू की जाएगी. इसमें भी एसी 1 के लिए 20, एसी 2 के लिए 50 और एसी 3 के लिए 100 वेटिंग टिकट की सुविधा होगी. इन सभी टिकटों की बुकिंग IRCTC की आधिकारिक वेबसाइट से ही होगी.

IRCTC की वेबसाइट से ही होगी बुकिंग

रेलवे की इन तैयारियों से स्पष्ट है कि भारतीय रेल ने स्पेशल ट्रेन के अलावा दूसरी ट्रेनें भी चलाने की तैयारी शुरू कर दी है. इन ट्रेनों में यात्रा के लिए सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट से 15 मई से बुकिंग की जा सकेगी. यानी कि रेलवे के बुकिंग काउंटर अभी भी बंद ही रहेंगे।

RAC टिकट नहीं मिलेगा

रेल मंत्रालय ने सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों के अनुरुप इन ट्रेनों में RAC टिकट नहीं देने का फैसला किया है। RAC टिकटों में एक पूरी सीट पर दो पैसेंजर सफर करते हैं। मौजूदा हालत में ये स्थिति कोरोना संक्रमण के लिहाज से घातक हो सकती है, लिहाजा रेलवे ने RAC टिकट नहीं जारी करने का फैसला किया है.

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *