रायपुर– प्रदेश में आज दिनभर में 16 नए कोरोना मरीज मिले हैं। जिनमें कबीरधाम जिले से 6, बिलासपुर से 2, रायपुर से 2, दुर्ग से 1, महासमुंद से 1, बलरामपुर से 1, धमतरी से 1, कोरबा से 1 और जगदलपुर से एक मरीज शामिल है।

कोरोना से छत्तीसगढ़ में पहली मौत

छतीसगढ़ में कोरोना से पहली मौत हुई है, जो राजधानी रायपुर से है। 37 वर्षीय युवक रायपुर के बिरगांव क्षेत्र का रहने वाला है, और कुछ दिनों पहले बीमार रहने की वजह से उसे रायपुर के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इलाज के दौरान ही उसका सैंपल लिया गया था, और रायपुर एम्स जांच के लिए भेजा गया था। आज शाम उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। एम्स के डायरेक्टर ने युवक की मौत की पुष्टि की है।

मृतक के बारे में जानकारी मिली है, वह रायपुर के बिरगांव के कैलाश नगर का रहने वाला था, और एक फैक्ट्री में काम करता था, पिछले कुछ दिनों से उसको सांस लेने की समस्या थी, जिसके चलते उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उसकी कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं थी, हालांकि उसे कुछ और बीमारी भी थी, जिसकी वजह से उसे हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, जहां उसकी तबीयत बिगड़ी और उसने आज दम तोड़ दिया।

17 मरीज हुए डिस्चार्ज

एम्स रायपुर तथा माना और बिलासपुर स्थित कोविड अस्पताल में इलाजरत कोविड-19 के 17 मरीजों के ठीक हो जाने के बाद आज डिस्चार्ज कर दिया गया। आज डिस्चार्ज हुए मरीजों को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोविड-19 पीड़ित कुल 100 मरीज पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। एम्स में भर्ती कबीरधाम जिले के पांच, गरियाबंद के तीन और बलौदाबाजार-भाटापारा के दो मरीजों को आज डिस्चार्ज किया गया। माना कोविड अस्पताल में इलाज करा रहे जांजगीर-चांपा जिले के पांच और बिलासपुर कोविड अस्पताल में भर्ती बिलासपुर जिले के दो मरीजों को भी आज डिस्चार्ज किया गया।

प्रदेश में अभी कोरोना वायरस संक्रमितों का एम्स, कोविड अस्पताल माना और बिलासपुर तथा अंबिकापुर, रायगढ़, राजनांदगांव व जगदलपुर के मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में उपचार किया जा रहा है। इन सभी अस्पतालों में कुशल डॉक्टरों की टीम द्वारा इलाज और नर्सों व अन्य मेडिकल स्टॉफ की गहन देखभाल से अब तक 100 मरीजों को पूर्णतः स्वस्थ करने में सफलता मिली है। इन अस्पतालों में इलाज के बाद बिलासपुर संभाग के 42, दुर्ग संभाग के 33, रायपुर संभाग के 17 और सरगुजा संभाग के आठ मरीज ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में अभी कोरोना वायरस संक्रमितों का एम्स, कोविड अस्पताल माना और बिलासपुर तथा अंबिकापुर, रायगढ़, राजनांदगांव व जगदलपुर के मेडिकल कॉलेज से संबद्ध अस्पतालों में उपचार किया जा रहा है। इन सभी अस्पतालों में कुशल डॉक्टरों की टीम द्वारा इलाज और नर्सों व अन्य मेडिकल स्टॉफ की गहन देखभाल से अब तक 100 मरीजों को पूर्णतः स्वस्थ करने में सफलता मिली है। इन अस्पतालों में इलाज के बाद बिलासपुर संभाग के 42, दुर्ग संभाग के 33, रायपुर संभाग के 17 और सरगुजा संभाग के आठ मरीज ठीक हो चुके हैं।

प्रदेश में कोरोना के सबसे ज्यादा मुंगेली जिले में 82 मरीज और बिलासपुर जिले में 49 मरीज हैं।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *