बिलासपुर– पुलिस अधीक्षक बिलासपुर कार्यालय के सामने नगर निगम की जमीन पर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत मल्टीलेवल पार्किग बनाया जाएगा। इस संबंध में कलेक्टर डाॅ. सारांश मित्तर ने स्थल निरीक्षण कर दिशा निर्देश दिये।

कलेक्टर ने आज स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रहे कार्याें का निरीक्षण किया। निरीक्षण में उनके साथ नगर निगम आयुक्त प्रभाकर पाण्डेय और एसडीएम देवेन्द्र पटेल मौजूद रहे। कलेक्टर ने सबसे पहले गोड़पारा शनिचरी के पास हटाये गये बेजा कब्जा स्थल का निरीक्षण किया। वहां सड़क निर्माण के लिए फिलिंग और रोड एलाइमेंट फिक्स कर जल्द से जल्द कार्य शुरू करने का निर्देष दिया।

कलेक्टर ने ग्राम सेंदरी में बनाये गये गार्बेज प्रोसेसिंग प्लांट का निरीक्षण कर प्लांट के कार्याें के बारे में विस्तृत जानकारी ली। नगर निगम आयुक्त ने बताया कि प्लांट में एक लाख बीस हजार टन कचरे का प्रोसेसिंग कर खाद तैयार किया गया है। वहां डम्प किये गये सभी कचरे का प्रोसेसिंग करने की जानकारी उन्होने दी इस पर कलेक्टर ने प्रसन्नता व्यक्त की। कलेक्टर ने प्लांट के लैंडफिल साइट को देखा और कचरे की प्रोसेसिंग के बारे में जानकारी ली। उन्होने निर्देष दिया कि कचरे के विभिन्न तत्वों जैसे प्लास्टिक, कागज आदि को अलग अलग कर प्रोसेसिंग किया जाये इस कार्य हेतु महिला स्व सहायता समूहों को जिम्मेदारी देने कहा।

नेहरू चौक से मंगला चौक के बीच विभिन्न शासकीय कार्यालय स्थित है, जहां आने वाले लोग सड़क में अपने वाहन खड़े करते है। जिससे यातायात बाधित होता है। कलेक्टर ने इस समस्या को दृष्टिगत रखते हुए एस.पी कार्यालय के सामने नगर निगम की जमीन जहां वर्तमान में आरईएस का अनुविभागीय कार्यालय और पेंशनर समाज का भवन है। इस भवन को तोड़कर वहां स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत मल्टीलेवल पार्किंग बनाने का निर्देश कलेक्टर ने दिया। जिसकी प्रकिया नगर निगम द्वारा जल्द शुरू की जायेगी।
कलेक्टर ने सेंदरी में पीएमजीएसवाय कार्यालय का निरीक्षण किया और कार्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया।

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *