नई दिल्ली– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज देश के नाम अपने संबोधन में कोरोना वायरस को लेकर चिंता जाहिर की है. पीएम मोदी ने कहा है कि अनलॉक-1 के बाद लापरवाही बढ़ी है, जो चिंता का कारण है।

पीएम मोदी ने कहा कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है. समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है. लेकिन जब से देश में Unlock-One हुआ है, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढ़ती ही चली जा रही है. पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर, 20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे.

गौरतलब है कि एक जून से देश में अनलॉक-1 चल रहा है, जिसके तहत मंदिर-मस्जिद, बाजार व मॉल्स तमाम चीजें खोल दी गई हैं. सड़कों पर लोगों की भीड़ भी नजर आ रही है. इसके साथ ही जून में तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ा है.

इसी पर चिंता जाहिर करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था. अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है. विशेषकर कंटेनमेंट जोंस पर हमें बहुत ध्यान देना होगा, जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा, रोकना होगा और समझाना भी होगा.

पीएम मोदी ने लापरवाही पर जुर्माने का एक उदाहरण भी दिया. पीएम ने कहा, ‘आपने खबरों में देखा होगा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार का जुर्माना लग गया क्योंकि वे सार्वजनिक स्थान पर बिना मास्क पहने गए थे. भारत में भी स्थानीय प्रशासन को इसी चुस्ती से काम करना चाहिए.’

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *