Tuesday, September 27, 2022

सेमरताल में रंगपंचमी से होगा अखंड नवधा रामायण का शुभारंभ

बिलासपुर– सेमरताल में अखंड नवधा रामायण समिति की बैठक अटल समरसता भवन में संपन्न हुआ। जिसमें सर्वसम्मति से तय किया गया है कि इस वर्ष अखंड नवधा रामायण का प्रारंभ 22 मार्च, रंगपंचमी से किया जाएगा।

सेमरताल में प्रतिवर्ष नवधा रामायण का आयोजन किया जाता है। पिछले साल कोरोना की वजह से उक्त आयोजन को स्थगित कर दिया गया था। ग्रामवासियों में इस बार नवधा रामायण के लिए भरपूर उत्साह दिखाई दे रहा है। सेमरताल के नवधा यज्ञ में बहुत दूर दूर से राम भजन की गायन मंडली आते हैं। दोपहर को एक घंटे का प्रवचन भी किया जाता है। नवधा के आचार्य पं. रामफल द्विवेदी होंगे। नवधा की शुरुवात रंगपंचमी के दिन कलश यात्रा के साथ होगी। जिसमें समस्त माताएं, बहने आमपत्र से सजे हुए कलश सिर पर धारण करेंगी। कलश यात्रा में भगवान के भजन पारंपरिक वाघ यंत्रों के साथ की जाएगी। आयोजन के लिए तैयारी वृहद स्तर पर चल रही है। आसपास के भजन टोलियों ,कलाकारों, प्रवचनकारों, अतीथियों को आमंत्रण दिया जा रहा है। साथ ही सभी ग्रामवासियों को घर घर आमंत्रण भी दिया जा रहा है। जिन भजन मंडलियों को आमंत्रण नहीं मिला है, वें इस समाचार को आमंत्रण के रुप में स्वीकार करें। अखंड नवधा रामायण समिति की बैठक में समिति के अध्यक्ष कामता प्रसाद धीवर, उपाध्यक्ष ओमप्रकाश वर्मा, कोषाध्यक्ष मनीष कौशिक, सचिव रामावतार यादव, सहसचिव सतीश धीवर, यदुनंदन कौशिक, घनाराम धीवर, दशरथ साहू, रवीन्द्रनाथ गहवई, अनिल वर्मा, जोगीराम साहू, साकेत बिहारी, लक्षमण साहू, दौलत यादव, नरेंद्र विश्वकर्मा, रामायण साहू, कौशिक, संजय धीवर, घनश्याम धीवर, ज्योतिष धीवर, अशोक साहू, हरप्रसाद साहू, अंजनी साहू, अजय सिंह, भगत धीवर, इंद्रजीत धीवर, पवन धीवर, सरजू साहू, उमाशंकर साहू, विपिन यादव, विश्वजीत यादव, रामेश्वर साहू एवं प्रहलाद साहू मौजूद थे।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– सेमरताल में अखंड नवधा रामायण समिति की बैठक अटल समरसता भवन में संपन्न हुआ। जिसमें सर्वसम्मति से तय किया गया है कि इस वर्ष अखंड नवधा रामायण का प्रारंभ 22 मार्च, रंगपंचमी से किया जाएगा।

सेमरताल में प्रतिवर्ष नवधा रामायण का आयोजन किया जाता है। पिछले साल कोरोना की वजह से उक्त आयोजन को स्थगित कर दिया गया था। ग्रामवासियों में इस बार नवधा रामायण के लिए भरपूर उत्साह दिखाई दे रहा है। सेमरताल के नवधा यज्ञ में बहुत दूर दूर से राम भजन की गायन मंडली आते हैं। दोपहर को एक घंटे का प्रवचन भी किया जाता है। नवधा के आचार्य पं. रामफल द्विवेदी होंगे। नवधा की शुरुवात रंगपंचमी के दिन कलश यात्रा के साथ होगी। जिसमें समस्त माताएं, बहने आमपत्र से सजे हुए कलश सिर पर धारण करेंगी। कलश यात्रा में भगवान के भजन पारंपरिक वाघ यंत्रों के साथ की जाएगी। आयोजन के लिए तैयारी वृहद स्तर पर चल रही है। आसपास के भजन टोलियों ,कलाकारों, प्रवचनकारों, अतीथियों को आमंत्रण दिया जा रहा है। साथ ही सभी ग्रामवासियों को घर घर आमंत्रण भी दिया जा रहा है। जिन भजन मंडलियों को आमंत्रण नहीं मिला है, वें इस समाचार को आमंत्रण के रुप में स्वीकार करें। अखंड नवधा रामायण समिति की बैठक में समिति के अध्यक्ष कामता प्रसाद धीवर, उपाध्यक्ष ओमप्रकाश वर्मा, कोषाध्यक्ष मनीष कौशिक, सचिव रामावतार यादव, सहसचिव सतीश धीवर, यदुनंदन कौशिक, घनाराम धीवर, दशरथ साहू, रवीन्द्रनाथ गहवई, अनिल वर्मा, जोगीराम साहू, साकेत बिहारी, लक्षमण साहू, दौलत यादव, नरेंद्र विश्वकर्मा, रामायण साहू, कौशिक, संजय धीवर, घनश्याम धीवर, ज्योतिष धीवर, अशोक साहू, हरप्रसाद साहू, अंजनी साहू, अजय सिंह, भगत धीवर, इंद्रजीत धीवर, पवन धीवर, सरजू साहू, उमाशंकर साहू, विपिन यादव, विश्वजीत यादव, रामेश्वर साहू एवं प्रहलाद साहू मौजूद थे।