Thursday, October 6, 2022

कोरोना: मुख्यमंत्री बघेल ने कहा-कई राज्यों में कोरोना केस बढ़ने के बाद सख्ती.. जरूरत पड़ी तो छत्तीसगढ़ में भी प्रतिबंध..

रायपुर। दिल्ली, महाराष्ट्र सहित कुछ प्रदेशों में कोरोना के मामले फिर बढ़ने लगे हैं। ऐसे में उन प्रदेशों में कोरोना गाइडलाइन पर सख्ती फिर बढ़ने लगी है। ऐसे प्रतिबंध छत्तीसगढ़ में भी लौट सकते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खुद इसके संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा, जरूरत पड़ी तो यहां भी प्रतिबंध लगाए जाएंगे।

कोरोना के नए खतरे पर पूछे गए एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, यह चिंता का विषय है। हम लोग सोच रहे थे कि तीसरी लहर समाप्त हो गई। दिल्ली में केस बढ़े हैं। वहां प्रतिबंधात्मक कदम उठाए गए हैं। मध्य प्रदेश से भी ऐसी सूचनाएं मिल रही हैं। हम लाेग भी इस पर विचार करेंगे। अगर आवश्यकता पड़ी तो इससे सुरक्षा के जो उपाय हैं उसके लिए निश्चित रूप से आदेश जारी करेंगे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की साप्ताहिक दर एक प्रतिशत से भी काफी नीचे है। इसकी वजह से अभी कोई चिंता की बात नहीं है। लेकिन अगर संक्रमण दर एक प्रतिशत से अधिक होता है तो यह अलार्मिंग होगा। ऐसे में कोरोना नियमों को लेकर थोड़ी सख्ती जरूरी होगी। ऐसा दिन फिर न लौटे इसलिए लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनकर और भीड़भाड़ से बचकर इस खतरे को रोका जा सकता है।

प्रदेश में अभी कोरोना के ऐसे हैं हालात

स्वास्थ्य विभाग ने बताया, शनिवार को तीन हजार 834 नमूनों की जांच की गई। इनमें से केवल तीन लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। ये सभी मरीज रायपुर जिले से ही सामने आए हैं। प्रदेश के शेष 27 जिलों से कोरोना का एक भी नया मामला सामने नहीं आया। हालांकि शनिवार को कोरोना का कोई मरीज डिस्चार्ज भी नहीं हुआ। ऐसे में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।

दो सप्ताह पहले मास्क से जुर्माना हटाया था

छत्तीसगढ़ में पिछले एक-डेढ़ महीने से कोरोना के नए मामले काफी कम हो गए हैं। करीब 40 दिनों से किसी मरीज की मौत भी नहीं हुई। इसकी वजह से कोरोना प्रतिबंधों पर प्रशासन ने ढील दे दी थी। दो सप्ताह पहले सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने वालों से जुर्माना हटा लिया था।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर। दिल्ली, महाराष्ट्र सहित कुछ प्रदेशों में कोरोना के मामले फिर बढ़ने लगे हैं। ऐसे में उन प्रदेशों में कोरोना गाइडलाइन पर सख्ती फिर बढ़ने लगी है। ऐसे प्रतिबंध छत्तीसगढ़ में भी लौट सकते हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने खुद इसके संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा, जरूरत पड़ी तो यहां भी प्रतिबंध लगाए जाएंगे।

कोरोना के नए खतरे पर पूछे गए एक सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, यह चिंता का विषय है। हम लोग सोच रहे थे कि तीसरी लहर समाप्त हो गई। दिल्ली में केस बढ़े हैं। वहां प्रतिबंधात्मक कदम उठाए गए हैं। मध्य प्रदेश से भी ऐसी सूचनाएं मिल रही हैं। हम लाेग भी इस पर विचार करेंगे। अगर आवश्यकता पड़ी तो इससे सुरक्षा के जो उपाय हैं उसके लिए निश्चित रूप से आदेश जारी करेंगे।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि अभी छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की साप्ताहिक दर एक प्रतिशत से भी काफी नीचे है। इसकी वजह से अभी कोई चिंता की बात नहीं है। लेकिन अगर संक्रमण दर एक प्रतिशत से अधिक होता है तो यह अलार्मिंग होगा। ऐसे में कोरोना नियमों को लेकर थोड़ी सख्ती जरूरी होगी। ऐसा दिन फिर न लौटे इसलिए लोगों को सावधानी बरतने की जरूरत है। सार्वजनिक स्थलों पर मास्क पहनकर और भीड़भाड़ से बचकर इस खतरे को रोका जा सकता है।

प्रदेश में अभी कोरोना के ऐसे हैं हालात

स्वास्थ्य विभाग ने बताया, शनिवार को तीन हजार 834 नमूनों की जांच की गई। इनमें से केवल तीन लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। ये सभी मरीज रायपुर जिले से ही सामने आए हैं। प्रदेश के शेष 27 जिलों से कोरोना का एक भी नया मामला सामने नहीं आया। हालांकि शनिवार को कोरोना का कोई मरीज डिस्चार्ज भी नहीं हुआ। ऐसे में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।

दो सप्ताह पहले मास्क से जुर्माना हटाया था

छत्तीसगढ़ में पिछले एक-डेढ़ महीने से कोरोना के नए मामले काफी कम हो गए हैं। करीब 40 दिनों से किसी मरीज की मौत भी नहीं हुई। इसकी वजह से कोरोना प्रतिबंधों पर प्रशासन ने ढील दे दी थी। दो सप्ताह पहले सरकार ने सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने वालों से जुर्माना हटा लिया था।