Thursday, October 6, 2022

इस वजह से बेटी को डंडे से पीट पीटकर दे दी मौत की सजा…… पुलिस को गुमराह करने कोशिश तो कि मगर….देखें पूरी खबर।

रायगढ़।  कापू क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कवई जमरगा में एक कोरवा युवती का शव नदी किनारे शमशान घर के पास अर्द्धनग्न अवस्था में मिलने की सूचना को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देकर अपने स्टाफ के साथ तत्काल मौके के लिये रवाना हुए। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीना के निर्देशन पर एसडीओपी धरमजयगढ़ सीएसपी रायगढ़ दीपक मिश्रा भी घटनास्थल के लिये रवाना हुए। 

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कवई जगरगा पहाड़ी पर बसा गांव है, जहां नदी किनारे शमशान घाट पर गांव की 14 वर्षीय कु.चम्पा कोरवा का शव मिला था। कापू पुलिस पंचानामा कार्यवाही जांच में जुटी हुई थी। मृतिका की मां तथा ग्रामवासी मृतिका के पिता शनिराम कोरवा पर ही नाबालिग की हत्या की शंका कर रहे थे, क्योंकि एक दिन पहले गांववालों को शनिराम कोरवा लड़की चम्पा (मृतिका) को 11 तारीख को रथ के दिन से गायब होना बताया था और जब लड़की को ढूंढने निकले तो एकाएक लड़की का शव उसे मिल गया है। कापू थाना प्रभारी संदेही शनिराम कोरवा से हिकम्मत-अमली से पूछताछ किये तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर 11 जुलाई की रात्रि शमशान घाट के पास एक लड़के के साथ देखकर लड़की गांव, समाज में बदनाम करायेगी कहकर डंडे से मारकर उसकी हत्या करना कबूल किया और स्वयं ही उसके बेटी के पहने जींस को उतार कर हत्या को अन्य रूप देने का प्रयास करना बताया।  

घटना का संक्षिप्त विवरण  

घटना के संबंध में 14 जुलाई को शनिराम कोरवा थाना आकर मौखिक मर्ग इंटीमेशन दर्ज कराया कि मृतिका कु.चम्पा कोरवा इसकी पुत्री 11 जुलाई की  रात्रि 10 बजे से बिना बताये कहीं चली गयी थी जो खोजबीन के दौरान कल 8 बजे ग्राम जमरगा शमशान घाट के पास गड्ढे में उसका शव मिला ,मृतिका की मृत्यु किस कारण से हुई है मुझे नहीं मालूम है।

घटना की सूचना पर घटनास्थल पहुंचे थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा को गवाह बताये कि लड़की चम्पा गांव में 2-3 रोज से नहीं दिखने पर उसके पिता को पूछे तो बताया कि उसकी मां के साथ मां के मायके गांव पेठ गई है। गांव का राजू महाराज शनिराम कोरवा के साथ ग्राम पेठ शनिराम के ससुराल गया था। उसकी पत्नी लड़की चम्पा को साथ नहीं आना बताई। तब शनिराम की पत्नी और राजू महाराज को शनिराम कोरवा की बातों पर शंका हुआ, शनिराम कोरवा गांव में लड़की को ढूंढेंगे कहकर ग्राम पेठ से वापस गांव जमरगा आ गया। दूसरे दिन गांववालों के साथ लड़की को ढूंढने निकाला और कुछ ही देर में आकर बताया कि लड़की का शव शमशान घाट के पास मिला है। तब गांववालों को भी उस पर शंका हुआ। संदेही शनिराम कोरवा से कड़ी पूछताछ में अपराध स्वीकार किया है।

आरोपी  के इकबालिया बयान पर घटना में प्रयुक्त डंडा व मृतिका का जींस पैंट गांववालों के समक्ष बरामद कर जप्त किया गया है। कापू पुलिस मर्ग जांच पर आरोपी शनिराम कोरवा पिता भगत राम कोरवा उम्र 40 वर्ष सा.कवई जमरगा थाना कापू जिला रायगढ़ के विरूद्ध धारा 302, 201 का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर अंधे कत्य का शीघ्र खुलासा कर आरोपी को सलाखों के पीछे भेजने में थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा, सहायक उप निरीक्षक बृज किशोर गिरी, आरक्षक सुखदेव राठिया, महिला आरक्षक मंगरिता पैंकरा की अहम भूमिका रही  है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायगढ़।  कापू क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम कवई जमरगा में एक कोरवा युवती का शव नदी किनारे शमशान घर के पास अर्द्धनग्न अवस्था में मिलने की सूचना को गंभीरता से लेते हुए थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देकर अपने स्टाफ के साथ तत्काल मौके के लिये रवाना हुए। पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीना के निर्देशन पर एसडीओपी धरमजयगढ़ सीएसपी रायगढ़ दीपक मिश्रा भी घटनास्थल के लिये रवाना हुए। 

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कवई जगरगा पहाड़ी पर बसा गांव है, जहां नदी किनारे शमशान घाट पर गांव की 14 वर्षीय कु.चम्पा कोरवा का शव मिला था। कापू पुलिस पंचानामा कार्यवाही जांच में जुटी हुई थी। मृतिका की मां तथा ग्रामवासी मृतिका के पिता शनिराम कोरवा पर ही नाबालिग की हत्या की शंका कर रहे थे, क्योंकि एक दिन पहले गांववालों को शनिराम कोरवा लड़की चम्पा (मृतिका) को 11 तारीख को रथ के दिन से गायब होना बताया था और जब लड़की को ढूंढने निकले तो एकाएक लड़की का शव उसे मिल गया है। कापू थाना प्रभारी संदेही शनिराम कोरवा से हिकम्मत-अमली से पूछताछ किये तो उसने अपना जुर्म स्वीकार कर 11 जुलाई की रात्रि शमशान घाट के पास एक लड़के के साथ देखकर लड़की गांव, समाज में बदनाम करायेगी कहकर डंडे से मारकर उसकी हत्या करना कबूल किया और स्वयं ही उसके बेटी के पहने जींस को उतार कर हत्या को अन्य रूप देने का प्रयास करना बताया।  

घटना का संक्षिप्त विवरण  

घटना के संबंध में 14 जुलाई को शनिराम कोरवा थाना आकर मौखिक मर्ग इंटीमेशन दर्ज कराया कि मृतिका कु.चम्पा कोरवा इसकी पुत्री 11 जुलाई की  रात्रि 10 बजे से बिना बताये कहीं चली गयी थी जो खोजबीन के दौरान कल 8 बजे ग्राम जमरगा शमशान घाट के पास गड्ढे में उसका शव मिला ,मृतिका की मृत्यु किस कारण से हुई है मुझे नहीं मालूम है।

घटना की सूचना पर घटनास्थल पहुंचे थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा को गवाह बताये कि लड़की चम्पा गांव में 2-3 रोज से नहीं दिखने पर उसके पिता को पूछे तो बताया कि उसकी मां के साथ मां के मायके गांव पेठ गई है। गांव का राजू महाराज शनिराम कोरवा के साथ ग्राम पेठ शनिराम के ससुराल गया था। उसकी पत्नी लड़की चम्पा को साथ नहीं आना बताई। तब शनिराम की पत्नी और राजू महाराज को शनिराम कोरवा की बातों पर शंका हुआ, शनिराम कोरवा गांव में लड़की को ढूंढेंगे कहकर ग्राम पेठ से वापस गांव जमरगा आ गया। दूसरे दिन गांववालों के साथ लड़की को ढूंढने निकाला और कुछ ही देर में आकर बताया कि लड़की का शव शमशान घाट के पास मिला है। तब गांववालों को भी उस पर शंका हुआ। संदेही शनिराम कोरवा से कड़ी पूछताछ में अपराध स्वीकार किया है।

आरोपी  के इकबालिया बयान पर घटना में प्रयुक्त डंडा व मृतिका का जींस पैंट गांववालों के समक्ष बरामद कर जप्त किया गया है। कापू पुलिस मर्ग जांच पर आरोपी शनिराम कोरवा पिता भगत राम कोरवा उम्र 40 वर्ष सा.कवई जमरगा थाना कापू जिला रायगढ़ के विरूद्ध धारा 302, 201 का अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया है। एसडीओपी धरमजयगढ़ दीपक मिश्रा के मार्गदर्शन पर अंधे कत्य का शीघ्र खुलासा कर आरोपी को सलाखों के पीछे भेजने में थाना प्रभारी कापू उप निरीक्षक नंदलाल पैंकरा, सहायक उप निरीक्षक बृज किशोर गिरी, आरक्षक सुखदेव राठिया, महिला आरक्षक मंगरिता पैंकरा की अहम भूमिका रही  है।