Tuesday, September 27, 2022

बिग ब्रेकिंग: चाट-गुपचुप खाने से 24 लोग हुए फूड प्वॉइजनिंग के शिकार.. 1 बच्ची की मौत, 4 बच्चों की हालत गंभीर..

बिलासपुर+ छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर से इस वक्त की बड़ी खबर निकलकर सामने आई है. चाट-गुपचुप खाने से 25 लोग फूड प्वॉइजनिंग के शिकार हो गए हैं. इसमें 1 बच्ची की मौत हो गई, जबकि 4 बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक बिल्हा क्षेत्र के ग्राम देव-किरारी में करीब 2 दर्जन ग्रामीणों फूड प्वॉइजनिंग के शिकार हुए हैं. चाट गुपचुप खाने से सबकी की हालत बिगड़ी है. पीड़ितों में बच्चे और बड़े भी शामिल हैं।

गंभीर रूप से पीड़ित 4 बच्चों को इलाज के लिए बिलासपुर लाया गया है. रास्ते में 9 साल की बच्ची की मौत हो गई है. 11 वर्षीय साक्षी कोशले का सिम्स में इलाज चल रहा है, जबकि 2 बच्चे प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती हैं।

गांव के बच्चों और युवाओं ने उसके पास से खरीदकर चाट और गुपचुप खाए. रात में एक एक कर बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी. बच्चों की तबीयत बिगड़ने पर गांव वाले घबरा गए. बीमार बच्चों को 112 और एंबुलेंस से बिल्हा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. यहां पर भर्ती कर 22 बच्चों का उपचार किया जा रहा था।

सोमवार को 9 साल की मीनाक्षी कोसले और उसकी बड़ी बहन 11 साल की साक्षी कोसले की तबीयत बिगड़ने लगी. उन्हें सिम्स रेफर कर दिया, साथ ही दो और बच्चों को सिम्स रेफर किया गया, लेकिन सिम्स पहुंचने से पहले ही मीनाक्षी ने दम तोड़ दिया।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर+ छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर से इस वक्त की बड़ी खबर निकलकर सामने आई है. चाट-गुपचुप खाने से 25 लोग फूड प्वॉइजनिंग के शिकार हो गए हैं. इसमें 1 बच्ची की मौत हो गई, जबकि 4 बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक बिल्हा क्षेत्र के ग्राम देव-किरारी में करीब 2 दर्जन ग्रामीणों फूड प्वॉइजनिंग के शिकार हुए हैं. चाट गुपचुप खाने से सबकी की हालत बिगड़ी है. पीड़ितों में बच्चे और बड़े भी शामिल हैं।

गंभीर रूप से पीड़ित 4 बच्चों को इलाज के लिए बिलासपुर लाया गया है. रास्ते में 9 साल की बच्ची की मौत हो गई है. 11 वर्षीय साक्षी कोशले का सिम्स में इलाज चल रहा है, जबकि 2 बच्चे प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती हैं।

गांव के बच्चों और युवाओं ने उसके पास से खरीदकर चाट और गुपचुप खाए. रात में एक एक कर बच्चों की तबीयत बिगड़ने लगी. बच्चों की तबीयत बिगड़ने पर गांव वाले घबरा गए. बीमार बच्चों को 112 और एंबुलेंस से बिल्हा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया. यहां पर भर्ती कर 22 बच्चों का उपचार किया जा रहा था।

सोमवार को 9 साल की मीनाक्षी कोसले और उसकी बड़ी बहन 11 साल की साक्षी कोसले की तबीयत बिगड़ने लगी. उन्हें सिम्स रेफर कर दिया, साथ ही दो और बच्चों को सिम्स रेफर किया गया, लेकिन सिम्स पहुंचने से पहले ही मीनाक्षी ने दम तोड़ दिया।