Thursday, October 6, 2022

नौकरी का झांसा देकर नाबालिग को यूपी से लेकर आए.. बंधक बनाकर कराया वेश्यावृत्ति.. किसी तरह भागकर पुलिस तक पहुंची नाबालिग.. आरोपी युवती गिरफ्तार..

रायपुर– नाबलिग को नौकरी का झांसा देकर यूपी से लाकर उसे वेश्यावृत्ति के धंधे में लगा दिया। पांच महीने तक उसे हिमालयन हाईट्स स्थित फ्लैट में बंधक बनाकर रखा, बुधवार की रात वह किसी तरह भाग निकली। खमतराई में भटकते हुए उसे पुलिस की टीम ने देखकर पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ।

पुलिस को उसने अपनी कहानी बताई, नाबालिग के बयान के बाद पुलिस ने हिमालयन हाईट्स में छापा मारकर एक युवती को गिरफ्तार किया। पुलिस की टीम अब यूपी में छापेमारी करेगी। वहां की एक युवती ने नाबालिग को 15 हजार में बेचा था।

पुलिस ने नाबालिग को फिलहाल सखी सेंटर में रखा है। उसके परिजनों को भी सूचना दे दी गई है। प्रारंभिक जांच में अब तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार नाबालिग गरीब परिवार से है। वह कई दिनों से नौकरी की तलाश में थी। यूपी की उसकी सहेली की बड़ी बहन ने उसे रायपुर में नौकरी दिलाने का झांसा दिया। वह रायपुर आने को राजी हो गई। उसके बाद यहां से स्वामिनी सिंह ठाकुर यूपी गई। वहां नाबालिग की सहेली की बड़ी बहन तान्या खान ने उसे 15 हजार में स्वामिनी सिंह ठाकुर के हाथों बेच दिया। स्वामिनी उसे बहला फुसलाकर यहां ले आई। कुछ दिनों तक उसे यहां अलग-अलग ठिकानों में रखा। उसके बाद नाबालिग को बंधक बनाकर उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर कर दिया। नाबालिग को 24 घंटे निगरानी में रखा जाता। उसे न तो किसी से बात करने की अनुमति थी और न ही कहीं आने जाने की। पुलिस के अनुसार करीब दो माह पहले स्वामिनी सिंह ठाकुर ने हिमालयन हाईट्स में मकान किराए पर लिया। वहीं उसे बंधक बनाकर उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया जाता रहा। बुधवार की रात इत्तेफाक से नाबालिग को भागने का मौका मिल गया। वह चुपके से मकान से बाहर निकली और घर का दरवाजा बाहर से बंद कर फरार हो गई।

राजेंद्रनगर स्थित हिमालयन हाईट्स से निकलकर उसने आटो पकड़ा और खमतराई पहुंच गई। आटो का चालक बार-बार उससे पूछता रहा कि कहां जाना है, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। आखिरकार वह उसे खमतराई में छोड़कर चला गया। वह देर रात सड़कों पर भटक रही थी। उसी दौरान पुलिस की गश्ती टीम वहां से गुजरी। नाबालिग पर नजर पड़ने पर उसे रोककर पूछताछ की गई। नाबालिग पहले काफी देर तक डरती रही। बाद में विश्वास होने पर उसने अपनी हकीकत बतायी। रात में उसे सखी सेंटर में रखा गया। सुबह पुलिस के आला अफसरों ने उससे पूछताछ की। उसके बाद सच्चाई सामने आई और पुलिस ने छापेमारी शुरू की। पुलिस स्वामिनी सिंह ठाकुर से पूछताछ कर रही है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर– नाबलिग को नौकरी का झांसा देकर यूपी से लाकर उसे वेश्यावृत्ति के धंधे में लगा दिया। पांच महीने तक उसे हिमालयन हाईट्स स्थित फ्लैट में बंधक बनाकर रखा, बुधवार की रात वह किसी तरह भाग निकली। खमतराई में भटकते हुए उसे पुलिस की टीम ने देखकर पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ।

पुलिस को उसने अपनी कहानी बताई, नाबालिग के बयान के बाद पुलिस ने हिमालयन हाईट्स में छापा मारकर एक युवती को गिरफ्तार किया। पुलिस की टीम अब यूपी में छापेमारी करेगी। वहां की एक युवती ने नाबालिग को 15 हजार में बेचा था।

पुलिस ने नाबालिग को फिलहाल सखी सेंटर में रखा है। उसके परिजनों को भी सूचना दे दी गई है। प्रारंभिक जांच में अब तक जो जानकारी मिली है उसके अनुसार नाबालिग गरीब परिवार से है। वह कई दिनों से नौकरी की तलाश में थी। यूपी की उसकी सहेली की बड़ी बहन ने उसे रायपुर में नौकरी दिलाने का झांसा दिया। वह रायपुर आने को राजी हो गई। उसके बाद यहां से स्वामिनी सिंह ठाकुर यूपी गई। वहां नाबालिग की सहेली की बड़ी बहन तान्या खान ने उसे 15 हजार में स्वामिनी सिंह ठाकुर के हाथों बेच दिया। स्वामिनी उसे बहला फुसलाकर यहां ले आई। कुछ दिनों तक उसे यहां अलग-अलग ठिकानों में रखा। उसके बाद नाबालिग को बंधक बनाकर उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर कर दिया। नाबालिग को 24 घंटे निगरानी में रखा जाता। उसे न तो किसी से बात करने की अनुमति थी और न ही कहीं आने जाने की। पुलिस के अनुसार करीब दो माह पहले स्वामिनी सिंह ठाकुर ने हिमालयन हाईट्स में मकान किराए पर लिया। वहीं उसे बंधक बनाकर उसे वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया जाता रहा। बुधवार की रात इत्तेफाक से नाबालिग को भागने का मौका मिल गया। वह चुपके से मकान से बाहर निकली और घर का दरवाजा बाहर से बंद कर फरार हो गई।

राजेंद्रनगर स्थित हिमालयन हाईट्स से निकलकर उसने आटो पकड़ा और खमतराई पहुंच गई। आटो का चालक बार-बार उससे पूछता रहा कि कहां जाना है, लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। आखिरकार वह उसे खमतराई में छोड़कर चला गया। वह देर रात सड़कों पर भटक रही थी। उसी दौरान पुलिस की गश्ती टीम वहां से गुजरी। नाबालिग पर नजर पड़ने पर उसे रोककर पूछताछ की गई। नाबालिग पहले काफी देर तक डरती रही। बाद में विश्वास होने पर उसने अपनी हकीकत बतायी। रात में उसे सखी सेंटर में रखा गया। सुबह पुलिस के आला अफसरों ने उससे पूछताछ की। उसके बाद सच्चाई सामने आई और पुलिस ने छापेमारी शुरू की। पुलिस स्वामिनी सिंह ठाकुर से पूछताछ कर रही है।