Monday, September 26, 2022

बजट : सहायक आरक्षकों मिलेगी खुशखबरी ….. 3 लाख कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना की सौगात…..

रायपुर । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब से कुछ देर बाद अपनी सरकार का चौथा बजट पेश करेंगे पिछले साल की तरह बजट एक लाख करोड़ से ज्यादा का होगा । बजट में मुख्यमंत्री कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना लागू करने की सौगात देंगे । ज्ञातव्य है , 2004 के बाद भर्ती सरकारी कर्मचारियों को पेंशन का लाभ समाप्त कर दिया गया था । पिछले महीने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुरानी पेंशन योजना की बहाल करने की घोषणा की तो पूरे देश में इसकी मांग तेज हो गई खबर है , लोकसभा चुनाव से पहले भारत सरकार भी फिर से पेंशन योजना लागू करने की तैयारी कर रही है ।

बहरहाल , छत्तीसगढ़ में 2004 के बाद दो लाख 96 हजार कर्मचारियों , अधिकारियों की भर्ती हुई है । इन सभी के लिए मुख्यमंत्री आज बड़ी सौगात का एलान करेंगे । खबर है , राज्य सरकार बस्तर के सहायक आरक्षकों की उस बरसों पुरानी माँग को पूरा करने जा रही है जिसमें उन्होंने आरक्षक होने और समस्त पदोन्नति की माँग की है । राज्य में ना केवल विधायक निधि की राशि में बल्कि ज़िला पंचायत अध्यक्ष उपाध्यक्ष और सदस्य के मानदेय की राशि , जनपद पंचायत अध्यक्ष उपाध्यक्ष और सदस्यों के मानदेय की राशि , और सरपंचों और पंचों का भत्ता बढ़ाने का ऐलान कर सकती है । प्रदेश के स्थानीय निवासी छात्रों के लिए भी राहत की ख़बर है , सूत्रों के अनुसार बजट में यह ऐलान है कि स्थानीय निवासियों याने छत्तीसगढ़ निवासी छात्रों को व्यापम और पीएससी की परीक्षा फ़ीस नहीं लगेगी । नगरीय निकायों के संपत्ति का ऑफ़सेट मूल्य कलेक्टर गाईडलाईन में निर्धारित दर से बीस फ़ीसदी से अधिक की कमी होने की संभावना है । भुमिहीन मज़दूरों को मिलने वाली 6 हज़ार वार्षिक की जगह राशि बढ़ने का ऐलान हो सकता है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर । मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब से कुछ देर बाद अपनी सरकार का चौथा बजट पेश करेंगे पिछले साल की तरह बजट एक लाख करोड़ से ज्यादा का होगा । बजट में मुख्यमंत्री कर्मचारियों को पुरानी पेंशन योजना लागू करने की सौगात देंगे । ज्ञातव्य है , 2004 के बाद भर्ती सरकारी कर्मचारियों को पेंशन का लाभ समाप्त कर दिया गया था । पिछले महीने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुरानी पेंशन योजना की बहाल करने की घोषणा की तो पूरे देश में इसकी मांग तेज हो गई खबर है , लोकसभा चुनाव से पहले भारत सरकार भी फिर से पेंशन योजना लागू करने की तैयारी कर रही है ।

बहरहाल , छत्तीसगढ़ में 2004 के बाद दो लाख 96 हजार कर्मचारियों , अधिकारियों की भर्ती हुई है । इन सभी के लिए मुख्यमंत्री आज बड़ी सौगात का एलान करेंगे । खबर है , राज्य सरकार बस्तर के सहायक आरक्षकों की उस बरसों पुरानी माँग को पूरा करने जा रही है जिसमें उन्होंने आरक्षक होने और समस्त पदोन्नति की माँग की है । राज्य में ना केवल विधायक निधि की राशि में बल्कि ज़िला पंचायत अध्यक्ष उपाध्यक्ष और सदस्य के मानदेय की राशि , जनपद पंचायत अध्यक्ष उपाध्यक्ष और सदस्यों के मानदेय की राशि , और सरपंचों और पंचों का भत्ता बढ़ाने का ऐलान कर सकती है । प्रदेश के स्थानीय निवासी छात्रों के लिए भी राहत की ख़बर है , सूत्रों के अनुसार बजट में यह ऐलान है कि स्थानीय निवासियों याने छत्तीसगढ़ निवासी छात्रों को व्यापम और पीएससी की परीक्षा फ़ीस नहीं लगेगी । नगरीय निकायों के संपत्ति का ऑफ़सेट मूल्य कलेक्टर गाईडलाईन में निर्धारित दर से बीस फ़ीसदी से अधिक की कमी होने की संभावना है । भुमिहीन मज़दूरों को मिलने वाली 6 हज़ार वार्षिक की जगह राशि बढ़ने का ऐलान हो सकता है।