Thursday, October 6, 2022

सेंट्रल GST की रेट……तेल कारोबारी और कपड़ा व्यापारी के ठिकानों पर पहुंची टीम……. टैक्स चोरी करने का आरोप।

बिलासपुर। बिलासपुर के दो बड़े कारोबारियों के यहां सेंट्रल GST की टीम ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि मर्चेंट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष व तेल कारोबारी देवीदास वाधवानी के खिलाफ नकली तेल का फर्जी बिल सहित टैक्स चोरी करने के अन्य मामलों की शिकायत की गई थी। ऐसे ही प्रतिष्ठित कपड़ा कारोबारी भारत होजियरी के संचालक पर भी टैक्स चोरी करने का आरोप है। टीम शुक्रवार दोपहर से लेकर देर रात तक यहां आय-व्यय के दस्तावेजों की जांच करती रही।

मर्चेंट ऐसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष व व्यापार विहार के कारोबारी देवीदास वाधवानी की फर्म वाधवानी ट्रेडर्स में शुक्रवार दोपहर सेंट्रल GST रायपुर की चार सदस्यीय टीम छापेमारी करने पहुंची। टीम की अगुवाई सुप्रिटेंडेंट अरुण कुमार कर रहे थे। यहां उन्होंने फर्म के संचालक देवीदास वाधवानी से स्टॉक और बिल की जानकारी ली। इस दौरान टीम के सदस्य दोपहर से लेकर देर रात फर्म के आय-व्यय सहित अन्य दस्तावेजों की जानकारी जुटाती रही। हालांकि जांच में शामिल अधिकारी छापे की जानकारी देने से बचने की कोशिश करते रहे।

भारत होजियरी में भी पहुंची टीम
सेंट्रल GST की दूसरी टीम पुराना बस स्टैंड करबला रोड स्थित भारत होजियरी भी पहुंची थी। यहां भी टीम ने फर्म के आय-व्यय और स्टॉक की जानकारी ली और टैक्स सहित अन्य दस्तावेजों की जांच की। जानकारी मि्ली है कि यहां भी टैक्स चोरी की आशंका को लेकर टीम ने छापे की कार्रवाई की है।

इन शिकायतों के खंगाले दस्तावेज और की जांच
शिकायतकर्ता मोहम्मद तारिक ने फर्म संचालक देवीदास वाधवानी के खिलाफ केंद्र सरकार से 250 पेज की शिकायत की थी, जिसके आधार पर सेंट्रल GST की टीम ने छापेमारी की है। उनकी शिकायतों में वलराज पेट्रोल पंप से फर्जी GST नंबर से लेन-देन करने, जल संसाधन विभाग से लाखों रुपए का लेन-देन, RTI से जुटाई गई जानकारी के आधार पर मिले दस्तावेजों के साथ ही नकली तेल का फर्जी बिल बनाकर भुगतान करने, GST बिल में मिट्‌टी तेल का बिल काटकर देने के साथ ही कैश बिल बुक में करोड़ों रुपए का फर्जी बिल लगाकर लेनदेन करने और साल 2020 से 2021 के बीच अवैध टिन नंबर से पेट्रोल डीजल का बिल ग्राहकों को देने का आरोप है। जिसके आधार पर टीम मामले की जांच कर दस्तावेज जुटा रही है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर। बिलासपुर के दो बड़े कारोबारियों के यहां सेंट्रल GST की टीम ने छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि मर्चेंट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष व तेल कारोबारी देवीदास वाधवानी के खिलाफ नकली तेल का फर्जी बिल सहित टैक्स चोरी करने के अन्य मामलों की शिकायत की गई थी। ऐसे ही प्रतिष्ठित कपड़ा कारोबारी भारत होजियरी के संचालक पर भी टैक्स चोरी करने का आरोप है। टीम शुक्रवार दोपहर से लेकर देर रात तक यहां आय-व्यय के दस्तावेजों की जांच करती रही।

मर्चेंट ऐसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष व व्यापार विहार के कारोबारी देवीदास वाधवानी की फर्म वाधवानी ट्रेडर्स में शुक्रवार दोपहर सेंट्रल GST रायपुर की चार सदस्यीय टीम छापेमारी करने पहुंची। टीम की अगुवाई सुप्रिटेंडेंट अरुण कुमार कर रहे थे। यहां उन्होंने फर्म के संचालक देवीदास वाधवानी से स्टॉक और बिल की जानकारी ली। इस दौरान टीम के सदस्य दोपहर से लेकर देर रात फर्म के आय-व्यय सहित अन्य दस्तावेजों की जानकारी जुटाती रही। हालांकि जांच में शामिल अधिकारी छापे की जानकारी देने से बचने की कोशिश करते रहे।

भारत होजियरी में भी पहुंची टीम
सेंट्रल GST की दूसरी टीम पुराना बस स्टैंड करबला रोड स्थित भारत होजियरी भी पहुंची थी। यहां भी टीम ने फर्म के आय-व्यय और स्टॉक की जानकारी ली और टैक्स सहित अन्य दस्तावेजों की जांच की। जानकारी मि्ली है कि यहां भी टैक्स चोरी की आशंका को लेकर टीम ने छापे की कार्रवाई की है।

इन शिकायतों के खंगाले दस्तावेज और की जांच
शिकायतकर्ता मोहम्मद तारिक ने फर्म संचालक देवीदास वाधवानी के खिलाफ केंद्र सरकार से 250 पेज की शिकायत की थी, जिसके आधार पर सेंट्रल GST की टीम ने छापेमारी की है। उनकी शिकायतों में वलराज पेट्रोल पंप से फर्जी GST नंबर से लेन-देन करने, जल संसाधन विभाग से लाखों रुपए का लेन-देन, RTI से जुटाई गई जानकारी के आधार पर मिले दस्तावेजों के साथ ही नकली तेल का फर्जी बिल बनाकर भुगतान करने, GST बिल में मिट्‌टी तेल का बिल काटकर देने के साथ ही कैश बिल बुक में करोड़ों रुपए का फर्जी बिल लगाकर लेनदेन करने और साल 2020 से 2021 के बीच अवैध टिन नंबर से पेट्रोल डीजल का बिल ग्राहकों को देने का आरोप है। जिसके आधार पर टीम मामले की जांच कर दस्तावेज जुटा रही है।