Tuesday, September 27, 2022

भूत का डर दिखाकर 2 लाख की ठगी……पूजा-पाठ के नाम पर लिए गहने-रुपए……. कपड़े में बांध थमा गए कागज के बंडल और सूखा नारियल।

जशपुर। जशपुर में कुछ लोगों ने भूत-प्रेत का डर दिखाकर एक महिला से दो लाख रुपए से ज्यादा की ठगी कर ली। पूजा-पाठ कराने के नाम पर शातिर ठग कपड़े में कागज के बंडल देकर रुपए और गहने ले भाग निकले। ठगों ने उसे कपड़े में बांधकर कागज के बंडल दिए और गहने-रुपए बताकर उसकी पूजा करने को कहा। जब महिला ने तीन दिन बाद कपड़ा खोला तो उसे ठगी का पता चला। इसके बाद वह थाने पहुंची और FIR दर्ज कराई।

जानकारी के मुताबिक, कुनकुरी क्षेत्र के कमतरा गांव निवासी महिला शीलवन्ती बाई पत्नी जातरू राम 31 मार्च को घर में अकेली थी। तभी महिला, पुरूष और बच्चे सहित 8 लोग उसके घर के पास आए। सभी रात में वहीं रुके और खाना भी बनाकर खाया। शीलवन्ती बाई ने देखा तो उनसे बातचीत शुरू कर दी। ठगों ने उसे बातों में फंसाया और घर की समस्या के बारे में पूछने लगे। इस पर शीलवन्ती बाई ने उन्हें सब बता दिया।

ठगों ने शीलवंती बाई को पुजारी जैसे एक व्यक्ति की फोटो दिखाई और कहा कि तुम्हारे घर में प्रेत का साया है। पूजा-पाठ करना पड़ेगा। इसके लिए 1.50 लाख रुपए लगेंगे। उनकी बातों में आकर शीलवन्ती तैयार हो गई और 2-3 दिन में रुपयों का इंतजाम करने को कहा। उसने अपने खाते से 80 हजार रुपए निकाले और खुद के पास रखे 1.62 लाख रुपए ठगों के हाथ में दे दिए। फिर ठगों के कहने पर घर में रखे सोने-चांदी के जेवर भी दिए।

ठगों ने वह सारे रुपए और गहने एक कपड़े की पोटली बनाकर बांध दिए और उसे एक लाल थैले के अंदर रख दिए। कहा कि इसकी रोज पूजा करना और तीन दिन बाद खोलना। उनकी बातों में आकर शीलवन्ती रोज पूजा करती रही, लेकिन 8 अप्रैल की शाम जब उसने कपड़े का थैला खोला तो उसमें से कागज के बंडल निकले। उसके साथ ही एक सूखा हुआ नारियल पड़ा था। इसके बाद शीलवन्ती ने पति को इसकी जानकारी दी।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

जशपुर। जशपुर में कुछ लोगों ने भूत-प्रेत का डर दिखाकर एक महिला से दो लाख रुपए से ज्यादा की ठगी कर ली। पूजा-पाठ कराने के नाम पर शातिर ठग कपड़े में कागज के बंडल देकर रुपए और गहने ले भाग निकले। ठगों ने उसे कपड़े में बांधकर कागज के बंडल दिए और गहने-रुपए बताकर उसकी पूजा करने को कहा। जब महिला ने तीन दिन बाद कपड़ा खोला तो उसे ठगी का पता चला। इसके बाद वह थाने पहुंची और FIR दर्ज कराई।

जानकारी के मुताबिक, कुनकुरी क्षेत्र के कमतरा गांव निवासी महिला शीलवन्ती बाई पत्नी जातरू राम 31 मार्च को घर में अकेली थी। तभी महिला, पुरूष और बच्चे सहित 8 लोग उसके घर के पास आए। सभी रात में वहीं रुके और खाना भी बनाकर खाया। शीलवन्ती बाई ने देखा तो उनसे बातचीत शुरू कर दी। ठगों ने उसे बातों में फंसाया और घर की समस्या के बारे में पूछने लगे। इस पर शीलवन्ती बाई ने उन्हें सब बता दिया।

ठगों ने शीलवंती बाई को पुजारी जैसे एक व्यक्ति की फोटो दिखाई और कहा कि तुम्हारे घर में प्रेत का साया है। पूजा-पाठ करना पड़ेगा। इसके लिए 1.50 लाख रुपए लगेंगे। उनकी बातों में आकर शीलवन्ती तैयार हो गई और 2-3 दिन में रुपयों का इंतजाम करने को कहा। उसने अपने खाते से 80 हजार रुपए निकाले और खुद के पास रखे 1.62 लाख रुपए ठगों के हाथ में दे दिए। फिर ठगों के कहने पर घर में रखे सोने-चांदी के जेवर भी दिए।

ठगों ने वह सारे रुपए और गहने एक कपड़े की पोटली बनाकर बांध दिए और उसे एक लाल थैले के अंदर रख दिए। कहा कि इसकी रोज पूजा करना और तीन दिन बाद खोलना। उनकी बातों में आकर शीलवन्ती रोज पूजा करती रही, लेकिन 8 अप्रैल की शाम जब उसने कपड़े का थैला खोला तो उसमें से कागज के बंडल निकले। उसके साथ ही एक सूखा हुआ नारियल पड़ा था। इसके बाद शीलवन्ती ने पति को इसकी जानकारी दी।