Tuesday, September 27, 2022

लुटेरी निकली छालीवुड कलाकार.. कार में पुलिस का मोनो लगाकर करती थी लूट..

बिलासपुर– ट्रक ड्राइवरों से लूट के मामले में छत्तीसगढ़ी एल्बम की सहायक कलाकार और उसके कार ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है। वहीं लूट में शामिल दो अन्य की तलाश की जा रही है। मामला कोनी थाना क्षेत्र का है।

दरअसल बीते गुस्र्वार को कोनी क्षेत्र में ट्रक ड्राइवरों ने लूटपाट की शिकायत थाने में की थी। शिकायतकर्ता झारखंड के खैरादौहर निवासी उमेश राम ने पुलिस को बताया, कि तुर्काडीह पुल के पास कुछ लोगों ने उनके ट्रक को कार अड़ाकर रोक लिया, और खुद को खनिज अधिकारी बताते हुए बिल्टी और पांच हजार स्र्पये की मांग की, मना करने पर उन्होंने मारपीट कर 21 हजार स्र्पये लूट लिए.. इसके बाद दो और ट्रक ड्राइवरों से लूट की, आरोपियों ने मारपीट कर कोयले में मिलावट का आरोप लगाकर सेटिंग करने की बात कही, और ट्रक मालिक से बात कराने अपना मोबाइल नंबर दिया, जिस पर ट्रक के मालिक ने लुटेरों से मोबाइल पर बात कर तुर्काडीह पुल के पास बुलाया। शुक्रवार की सुबह कार सवार लुटेरे वहां पहुंचे, लेकिन ट्रक मालिक और उनके साथियों की भीड़ देखकर कार से भागने लगे। ट्रक मालिक के साथियों ने उनका पीछा किया, तो वे कार को कोनी थाना परिसर में छोड़कर भाग गए। घटना की रिपोर्ट पर कोनी पुलिस ने कार मालिक गायत्री पाटले से पूछताछ की, तो उसने बताया, कि वह छत्तीसगढ़ी एल्बम में काम करती है, और ड्राइवर शिवशंकर जायसवाल के साथ मिलकर लूटपाट की थी। पूछताछ में ड्राइवर ने बताया कि गायत्री खुद को पुलिसकर्मी बताती थी। उसने अपनी कार में पुलिस का मोनो लगाया था। कोनी पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर कार्रवाई कर रही है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– ट्रक ड्राइवरों से लूट के मामले में छत्तीसगढ़ी एल्बम की सहायक कलाकार और उसके कार ड्राइवर को गिरफ्तार किया गया है। वहीं लूट में शामिल दो अन्य की तलाश की जा रही है। मामला कोनी थाना क्षेत्र का है।

दरअसल बीते गुस्र्वार को कोनी क्षेत्र में ट्रक ड्राइवरों ने लूटपाट की शिकायत थाने में की थी। शिकायतकर्ता झारखंड के खैरादौहर निवासी उमेश राम ने पुलिस को बताया, कि तुर्काडीह पुल के पास कुछ लोगों ने उनके ट्रक को कार अड़ाकर रोक लिया, और खुद को खनिज अधिकारी बताते हुए बिल्टी और पांच हजार स्र्पये की मांग की, मना करने पर उन्होंने मारपीट कर 21 हजार स्र्पये लूट लिए.. इसके बाद दो और ट्रक ड्राइवरों से लूट की, आरोपियों ने मारपीट कर कोयले में मिलावट का आरोप लगाकर सेटिंग करने की बात कही, और ट्रक मालिक से बात कराने अपना मोबाइल नंबर दिया, जिस पर ट्रक के मालिक ने लुटेरों से मोबाइल पर बात कर तुर्काडीह पुल के पास बुलाया। शुक्रवार की सुबह कार सवार लुटेरे वहां पहुंचे, लेकिन ट्रक मालिक और उनके साथियों की भीड़ देखकर कार से भागने लगे। ट्रक मालिक के साथियों ने उनका पीछा किया, तो वे कार को कोनी थाना परिसर में छोड़कर भाग गए। घटना की रिपोर्ट पर कोनी पुलिस ने कार मालिक गायत्री पाटले से पूछताछ की, तो उसने बताया, कि वह छत्तीसगढ़ी एल्बम में काम करती है, और ड्राइवर शिवशंकर जायसवाल के साथ मिलकर लूटपाट की थी। पूछताछ में ड्राइवर ने बताया कि गायत्री खुद को पुलिसकर्मी बताती थी। उसने अपनी कार में पुलिस का मोनो लगाया था। कोनी पुलिस दोनों को गिरफ्तार कर कार्रवाई कर रही है।