Tuesday, September 27, 2022

गर्दन काट कर क्रेसर मालिक की हत्या : खेत में स्टोन माइंस की धूल जाने से विवाद, मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर हुआ हत्या.. कुल्हाड़ी से किया तड़तोड़ वार..

रायगढ़ – छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में शनिवार सुबह कुल्हाड़ी से गर्दन काट कर स्टोन क्रेशर मालिक की हत्या कर दी गई। उनका शव उनके ही क्रेशर में पड़ा हुआ मिला। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। बताया जा रहा है कि खेत में स्टोन माइंस की धूल जाने और मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर उनकी हत्या की गई है। वारदात के बाद से आरोपी भाग निकला। हालांकि पुलिस ने उसे दोपहर में जंगल से गिरफ्तार कर लिया है। मामला खरसिया थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, खरसिया टाउन निवासी राजेश अग्रवाल (57) का पानी पाखर में पत्थर की खदान और स्टोन क्रेशर है। वह रोज की तरह शनिवार सुबह करीब 11 बजे अपनी डस्टर कार से खदान पहुंचे थे। गाड़ी से उतरते ही किसी ने पीछे से धारदार हथियार से उनकी गर्दन पर वार कर दिया। अचानक हुए हमले से वह नीचे गिर पड़े। इसके बाद आरोपी ने एक के बाद एक गले और चेहरे पर कई वार कर दिए। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

क्रेशर में शव मिलने की सूचना पर लगी लोगों की भीड़।

थाना प्रभारी सुमतराम साहू ने बताया कि राजेश की खदान के बगल में ही धोबी राम महुआर का खेत है। क्रेशर से स्टोन डस्ट जाने के कारण खेत में फसल नहीं हो पाती थी और पूरा खेत बर्बाद हो चुका था। इसके चलते राजेश हर महीने धोबी राम को 15 हजार रुपए मुआवजा देता था। अब धोबी राम उससे रुपए कम होने की बात कहते हुए मुआवजा बढ़ाने की मांग कर रहा था। इसे लेकर पिछले महीने दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। इसी के चलते राजेश की हत्या कर दी।

क्रेशर में ही मालिक की हत्या कर दी गई।

पुलिस ने आरोपी को जंगल से गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसका राजेश के साथ उसका 25 डिसमिल जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। इसी बात को लेकर धारदार कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी थी। पुलिस करीब आधे घंटे बाद मामले का खुलासा करेगी। वहीं वारदात के बाद से क्षेत्र के व्यापारियों में आक्रोश है। उन्होंने दुकानें बंद कर दी हैं।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायगढ़ – छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में शनिवार सुबह कुल्हाड़ी से गर्दन काट कर स्टोन क्रेशर मालिक की हत्या कर दी गई। उनका शव उनके ही क्रेशर में पड़ा हुआ मिला। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है। बताया जा रहा है कि खेत में स्टोन माइंस की धूल जाने और मुआवजा बढ़ाने की मांग को लेकर उनकी हत्या की गई है। वारदात के बाद से आरोपी भाग निकला। हालांकि पुलिस ने उसे दोपहर में जंगल से गिरफ्तार कर लिया है। मामला खरसिया थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, खरसिया टाउन निवासी राजेश अग्रवाल (57) का पानी पाखर में पत्थर की खदान और स्टोन क्रेशर है। वह रोज की तरह शनिवार सुबह करीब 11 बजे अपनी डस्टर कार से खदान पहुंचे थे। गाड़ी से उतरते ही किसी ने पीछे से धारदार हथियार से उनकी गर्दन पर वार कर दिया। अचानक हुए हमले से वह नीचे गिर पड़े। इसके बाद आरोपी ने एक के बाद एक गले और चेहरे पर कई वार कर दिए। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

क्रेशर में शव मिलने की सूचना पर लगी लोगों की भीड़।

थाना प्रभारी सुमतराम साहू ने बताया कि राजेश की खदान के बगल में ही धोबी राम महुआर का खेत है। क्रेशर से स्टोन डस्ट जाने के कारण खेत में फसल नहीं हो पाती थी और पूरा खेत बर्बाद हो चुका था। इसके चलते राजेश हर महीने धोबी राम को 15 हजार रुपए मुआवजा देता था। अब धोबी राम उससे रुपए कम होने की बात कहते हुए मुआवजा बढ़ाने की मांग कर रहा था। इसे लेकर पिछले महीने दोनों के बीच विवाद भी हुआ था। इसी के चलते राजेश की हत्या कर दी।

क्रेशर में ही मालिक की हत्या कर दी गई।

पुलिस ने आरोपी को जंगल से गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसका राजेश के साथ उसका 25 डिसमिल जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। इसी बात को लेकर धारदार कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी थी। पुलिस करीब आधे घंटे बाद मामले का खुलासा करेगी। वहीं वारदात के बाद से क्षेत्र के व्यापारियों में आक्रोश है। उन्होंने दुकानें बंद कर दी हैं।