Monday, September 26, 2022

राज्य शासन बजट में बिलासपुर और जगलपुर एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए पद स्वीकृत किए….

छत्तीसगढ़। बिलासपुर और जगदलपुर एयरपोर्ट की सुरक्षा का भी बजट में राज्य शासन ने ध्यान रखा है। दोनों एयरपोर्ट में सुरक्षा के लिए 114 नए पद की स्वीकृति दी है। इससे जिला बल और बटालियन के जवानों का उपयोग दूसरे काम के लिए किया जा सकेगा। इस व्यवस्था से जिले में बल की कमी भी दूर होने की उम्मीद है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि राज्य शासन ने बजट के पहले ही एयरपोर्ट की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव मंगाया था। इस पर रेंज कार्यालय से एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए डीएसपी, निरीक्षक, सब इंस्पेक्टर, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर, हवलदार और आरक्षकों के 100 से अधिक पदों की मांग की गई थी। इसी तरह जगदलपुर एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए भी बल की डिमांड की गई थी। दोनों एयरपोर्ट मिलाकर राज्य शासन ने बजट में 114 नए पद की स्वीकृति दे दी है।

संविदा सिक्युरिटी ऑफिसर समेत 95 स्टॉफ है तैनात
एयरपोर्ट अथार्टी ऑफ इंडिया ने हवाई उड़ान की अनुमति देने के पहले ही बिलासपुर के चकरभाठा एयरपोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। तब यहां सुरक्षा के लिहाज से बल की मांग की थी। इसके अनुरूप IG और एयरपोर्ट के नोडल अधिकारी रतनलाल डांगी ने महासमुंद के 20वीं महिला बटॉलियन से 45 महिला कर्मी और बिलासपुर समेत रेंज के विभिन्न जिलों के करीब 44 जवानों की ड्यूटी लगाई है। इसके साथ ही 11 हवलदार, एएसआई और सब इंस्पेक्टर भी यहां तैनात किए गए हैं।

जिला बल में हो गई जवानों की कमी
एयरपोर्ट में जिले के पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाने के बाद थानों और लाइन में जवानों की कमी हो गई थी। इसके चलते पुलिस के और भी दूसरे काम प्रभावित हो रहे थे। नए पद की स्वीकृति मिलने के बाद जिले के जवानों को फिर से लाइन व थानों में तैनात किया जाएगा और बड़ी राहत मिलेगी।

पुलिस या फिर बटालियन तय नहीं
हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि नए स्वीकृत पदों की भर्ती पुलिस जवानों के रूप में होगी या फिर बटालियन के जवानों को एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। IG रतनलाल डांगी का कहना है कि पद स्वीकृत होने के बाद भर्ती नियम बनेगा और शासन स्तर पर निर्णय लिया जाएगा कि सुरक्षाकर्मी की तैनाती बटालियन के जवान के रूप में किया जाएगा या फिर भी पुलिस जवान। फिर भी नए पद मिलने से स्टॉफ के रूप में हमें राहत मिलेगी।​​​​​​​

रोज चलती है एक फ्लाइट, संडे को है दो फ्लाइट
बिलासपुर एयरपोर्ट से वर्तमान में एक ही फ्लाइट की सुविधा है। फ्लाइट अल्टरनेट जबलपुर और प्रयागराज होकर दिल्ली के लिए उड़ान भरती है। रोज यहां से 40 से 50 लोग यात्रा करते हैं। रविवार को यहां दो फ्लाइट दिल्ली के लिए चलती है। इनमें से एक फ्लाइट जबलपुर और दूसरी प्रयागराज होकर दिल्ली के लिए उड़ानें भरती हैं। इस दिन यात्रियों की संख्या दो गुनी हो जाती है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

छत्तीसगढ़। बिलासपुर और जगदलपुर एयरपोर्ट की सुरक्षा का भी बजट में राज्य शासन ने ध्यान रखा है। दोनों एयरपोर्ट में सुरक्षा के लिए 114 नए पद की स्वीकृति दी है। इससे जिला बल और बटालियन के जवानों का उपयोग दूसरे काम के लिए किया जा सकेगा। इस व्यवस्था से जिले में बल की कमी भी दूर होने की उम्मीद है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि राज्य शासन ने बजट के पहले ही एयरपोर्ट की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रस्ताव मंगाया था। इस पर रेंज कार्यालय से एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए डीएसपी, निरीक्षक, सब इंस्पेक्टर, असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर, हवलदार और आरक्षकों के 100 से अधिक पदों की मांग की गई थी। इसी तरह जगदलपुर एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए भी बल की डिमांड की गई थी। दोनों एयरपोर्ट मिलाकर राज्य शासन ने बजट में 114 नए पद की स्वीकृति दे दी है।

संविदा सिक्युरिटी ऑफिसर समेत 95 स्टॉफ है तैनात
एयरपोर्ट अथार्टी ऑफ इंडिया ने हवाई उड़ान की अनुमति देने के पहले ही बिलासपुर के चकरभाठा एयरपोर्ट की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। तब यहां सुरक्षा के लिहाज से बल की मांग की थी। इसके अनुरूप IG और एयरपोर्ट के नोडल अधिकारी रतनलाल डांगी ने महासमुंद के 20वीं महिला बटॉलियन से 45 महिला कर्मी और बिलासपुर समेत रेंज के विभिन्न जिलों के करीब 44 जवानों की ड्यूटी लगाई है। इसके साथ ही 11 हवलदार, एएसआई और सब इंस्पेक्टर भी यहां तैनात किए गए हैं।

जिला बल में हो गई जवानों की कमी
एयरपोर्ट में जिले के पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाने के बाद थानों और लाइन में जवानों की कमी हो गई थी। इसके चलते पुलिस के और भी दूसरे काम प्रभावित हो रहे थे। नए पद की स्वीकृति मिलने के बाद जिले के जवानों को फिर से लाइन व थानों में तैनात किया जाएगा और बड़ी राहत मिलेगी।

पुलिस या फिर बटालियन तय नहीं
हालांकि, अभी यह तय नहीं है कि नए स्वीकृत पदों की भर्ती पुलिस जवानों के रूप में होगी या फिर बटालियन के जवानों को एयरपोर्ट की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा। IG रतनलाल डांगी का कहना है कि पद स्वीकृत होने के बाद भर्ती नियम बनेगा और शासन स्तर पर निर्णय लिया जाएगा कि सुरक्षाकर्मी की तैनाती बटालियन के जवान के रूप में किया जाएगा या फिर भी पुलिस जवान। फिर भी नए पद मिलने से स्टॉफ के रूप में हमें राहत मिलेगी।​​​​​​​

रोज चलती है एक फ्लाइट, संडे को है दो फ्लाइट
बिलासपुर एयरपोर्ट से वर्तमान में एक ही फ्लाइट की सुविधा है। फ्लाइट अल्टरनेट जबलपुर और प्रयागराज होकर दिल्ली के लिए उड़ान भरती है। रोज यहां से 40 से 50 लोग यात्रा करते हैं। रविवार को यहां दो फ्लाइट दिल्ली के लिए चलती है। इनमें से एक फ्लाइट जबलपुर और दूसरी प्रयागराज होकर दिल्ली के लिए उड़ानें भरती हैं। इस दिन यात्रियों की संख्या दो गुनी हो जाती है।