Saturday, December 3, 2022

नियमितीकरण को लेकर मस्तूरी विधायक डा. बांधी ने लिखा मुख्यमंत्री को पत्र.. निगम बनने के बाद वेतन विसंगति से जूझ रहे पंचायत कर्मचारियों को नियमित करे भूपेश सरकार..

बिलासपुर– शहर की सीमा विस्तार कर उसमें पड़ोस के सकरी, तिफरा, सिरगिट्टी सहित 15 ग्राम पंचायतों को शामिल करने की सरकार की योजना को तो अमलीजामा पहना दिया गया लेकिन इन ग्राम पंचायतों में कार्यरत सैकड़ों कर्मचारी सरकार की अनदेखी का शिकार हो रहे हैं।
बता दें कि इन ग्राम पंचायतों को नगर निगम सीमा में शामिल करने के बाद ग्राम पंचायतों में काम करने वाले ऐसे कर्मचारी जो पंचायत के अधीन रहकर पंचायत से वेतन प्राप्त करते थे वह कर्मचारी अब वेतन विसंगति की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं में यह कर्मचारी नगर निगम में नौकरी तो जरूर कर रहे हैं लेकिन वेतन के लिए उन्हें महीनों इंतजार करना पड़ता है नगर निगम में पंचायतों के संविलियन के समय कुछ दिनों तक इन कर्मचारियों को नियमित वेतन का भुगतान किया गया लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया इन कर्मचारियों की समस्या बढ़ती चली गई अब अनियमित वेतन भुगतान के चलते कर्मचारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट आन पड़ा है और ये कर्मचारी दर दर की ठोकर खाने को मजबूर है। कर्मचारियों की इन्हीं समस्याओं को देखते हुए मस्तूरी विधायक डा. कृष्णामूर्ति बांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर इन कर्मचारियों को नियमित कर वेतन विसंगति दूर करने की मांग की है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– शहर की सीमा विस्तार कर उसमें पड़ोस के सकरी, तिफरा, सिरगिट्टी सहित 15 ग्राम पंचायतों को शामिल करने की सरकार की योजना को तो अमलीजामा पहना दिया गया लेकिन इन ग्राम पंचायतों में कार्यरत सैकड़ों कर्मचारी सरकार की अनदेखी का शिकार हो रहे हैं।
बता दें कि इन ग्राम पंचायतों को नगर निगम सीमा में शामिल करने के बाद ग्राम पंचायतों में काम करने वाले ऐसे कर्मचारी जो पंचायत के अधीन रहकर पंचायत से वेतन प्राप्त करते थे वह कर्मचारी अब वेतन विसंगति की गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं में यह कर्मचारी नगर निगम में नौकरी तो जरूर कर रहे हैं लेकिन वेतन के लिए उन्हें महीनों इंतजार करना पड़ता है नगर निगम में पंचायतों के संविलियन के समय कुछ दिनों तक इन कर्मचारियों को नियमित वेतन का भुगतान किया गया लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता गया इन कर्मचारियों की समस्या बढ़ती चली गई अब अनियमित वेतन भुगतान के चलते कर्मचारियों के सामने रोजी-रोटी का संकट आन पड़ा है और ये कर्मचारी दर दर की ठोकर खाने को मजबूर है। कर्मचारियों की इन्हीं समस्याओं को देखते हुए मस्तूरी विधायक डा. कृष्णामूर्ति बांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर इन कर्मचारियों को नियमित कर वेतन विसंगति दूर करने की मांग की है।