Thursday, October 6, 2022

200 रुपए के लिए हत्या : फूफा ने अपने दो बेटों के साथ मिलकर की हत्या, भतीजे को मारा चाकू.. मौके पर ही मौत..

बिलासपुर – महज 200 रुपए के लेनदेन के विवाद पर रिश्तेदारों में खूनी संघर्ष हो गया। फूफा व उसके दो बेटों ने मिलकर चाकू से हमला कर भतीजे की हत्या कर दी। वारदात के बाद पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी अभी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

हत्या के बाद धरमू के पिता से पूछताछ करती पुलिस।

थाना प्रभारी कलीम खान ने बताया कि घटना मंगलवार की सुबह करीब 8.30 बजे की है। जरहाभाठा मिनी बस्ती में रहने वाले गोला उर्फ धरमू बंजारे पिता अवधराम बंजारे (28) गैस गोदाम में गैस डिलीवरी का काम करता था। उसने मोहल्ले में ही रहने वाले अपने फुफेरे भाई नरेंद्र जांगड़े को 200 रुपए उधार दिया था।

मंगलवार की सुबह वह रुपए मांगने गया था। इसी बात को लेकर नरेंद्र व उसके भाई अजय जांगड़े से उसका विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि नरेंद्र व अजय के पिता धरम जांगड़े भी आ गया। देखते ही देखते उन्होंने मिलकर गाली-गलौज करते हुए धरमू पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इस हमले में धरमू की मौके पर मौत हो गई।

मोहल्ले में चाकूबाजी व हत्या की खबर मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। वारदात के बाद आरोपी अजय जांगड़े फरार हो गया। पुलिस ने धरम जांगड़े व उसके बेटे नरेंद्र जांगड़े को गिरफ्तार कर लिया है। इधर, फरार आरोपी की तलाश की जा रही है।

भतीजे की हत्या करने वाला आरोपी फूफा धरम जांगड़े
भतीजे की हत्या करने वाला आरोपी फूफा धरम जांगड़े

चाकूबाजी की घटना हुई, तब धरमू के पिता अवधराम बंजारे गैस गोदाम में काम करने गया था। मोहल्ले के लोगों ने उसे वारदात की सूचना दी। खबर मिलते ही वह मौके पर पहुंचा। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज कर लिया।

फुफेरे भाई नरेंद्र ने पिता व भाई के साथ मिलकर की हत्या
फुफेरे भाई नरेंद्र ने पिता व भाई के साथ मिलकर की हत्या

बताया जा रहा है कि आरोपी अजय जांगड़े नशे का आदी है। नए साल में उन्होंने रिश्तेदारों के साथ मिलकर पार्टी भी किया था। नए साल में जश्न मनाने के दौरान ही आरोपी नरेंद्र ने धरमू से 200 रुपए उधार लिया था। जिसे वापस मांगने पर विवाद हो गया और धरमू की मौत हो गई।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर – महज 200 रुपए के लेनदेन के विवाद पर रिश्तेदारों में खूनी संघर्ष हो गया। फूफा व उसके दो बेटों ने मिलकर चाकू से हमला कर भतीजे की हत्या कर दी। वारदात के बाद पुलिस ने आरोपी पिता-पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। एक आरोपी अभी फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। मामला सिविल लाइन थाना क्षेत्र का है।

हत्या के बाद धरमू के पिता से पूछताछ करती पुलिस।

थाना प्रभारी कलीम खान ने बताया कि घटना मंगलवार की सुबह करीब 8.30 बजे की है। जरहाभाठा मिनी बस्ती में रहने वाले गोला उर्फ धरमू बंजारे पिता अवधराम बंजारे (28) गैस गोदाम में गैस डिलीवरी का काम करता था। उसने मोहल्ले में ही रहने वाले अपने फुफेरे भाई नरेंद्र जांगड़े को 200 रुपए उधार दिया था।

मंगलवार की सुबह वह रुपए मांगने गया था। इसी बात को लेकर नरेंद्र व उसके भाई अजय जांगड़े से उसका विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि नरेंद्र व अजय के पिता धरम जांगड़े भी आ गया। देखते ही देखते उन्होंने मिलकर गाली-गलौज करते हुए धरमू पर चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इस हमले में धरमू की मौके पर मौत हो गई।

मोहल्ले में चाकूबाजी व हत्या की खबर मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। वारदात के बाद आरोपी अजय जांगड़े फरार हो गया। पुलिस ने धरम जांगड़े व उसके बेटे नरेंद्र जांगड़े को गिरफ्तार कर लिया है। इधर, फरार आरोपी की तलाश की जा रही है।

भतीजे की हत्या करने वाला आरोपी फूफा धरम जांगड़े
भतीजे की हत्या करने वाला आरोपी फूफा धरम जांगड़े

चाकूबाजी की घटना हुई, तब धरमू के पिता अवधराम बंजारे गैस गोदाम में काम करने गया था। मोहल्ले के लोगों ने उसे वारदात की सूचना दी। खबर मिलते ही वह मौके पर पहुंचा। उसकी रिपोर्ट पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ हत्या का अपराध दर्ज कर लिया।

फुफेरे भाई नरेंद्र ने पिता व भाई के साथ मिलकर की हत्या
फुफेरे भाई नरेंद्र ने पिता व भाई के साथ मिलकर की हत्या

बताया जा रहा है कि आरोपी अजय जांगड़े नशे का आदी है। नए साल में उन्होंने रिश्तेदारों के साथ मिलकर पार्टी भी किया था। नए साल में जश्न मनाने के दौरान ही आरोपी नरेंद्र ने धरमू से 200 रुपए उधार लिया था। जिसे वापस मांगने पर विवाद हो गया और धरमू की मौत हो गई।