Monday, September 26, 2022

यात्रियों को राहत ……200 से अधिक एक्सप्रेस ट्रेनों में सिर्फ 6 में जनरल टिकट बहाल,तीन महीने पहले मिला था आदेश।


बिलासपुर। रेलवे प्रशासन का छत्तीसगढ़ के यात्रियों के साथ मनमानी का व्यवहार अब भी नहीं थम रहा है। रेलवे बोर्ड ने कोरोना काल से बंद एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल करने का आदेश दिया था। इसके बाद भी दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) के अफसरों ने छत्तीसगढ़ से होकर गुजरने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल नहीं किया है। बल्कि, उल्टा यात्रियों पर 36 ट्रेनें कैंसिल कर परेशानी का बोझ डाल दिया। अब जब रद्द ट्रेनें शुरू करने की मांग की जा रही है तो परेशान यात्रियों के जख्म में राहत देने का दावा किया जा रहा है और केवल छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल करने का फैसला लिया है।
रेलवे ने कोरोना काल के दौरान ट्रेनों को बंद कर दिया था। बाद में जब ट्रेनों को स्पेशल बनाकर शुरू किया गया, तब जनरल टिकट की सुविधा बंद कर दी गई थी। इसके चलते यात्रियों को एक्सप्रेस ट्रेनों के जनरल बोगियों में भी यात्रा करने के लिए रिजर्वेशन कराना पड़ रहा है। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। लेकिन, रेलवे के अफसरों को छत्तीसगढ़ के यात्रियों को होने वाली असुविधा से कोई सरोकार नहीं है। यही वजह है कि मालगाड़ी और कोयला परिवहन करने के नाम पर दो माह पहले करीब 40 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया। वहीं अफसरों क मनमानी ऐसी की अब फिर से 36 ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है। इससे भीषण गर्मी में सफर करने वाले यात्रियों की दिक्कतें बढ़ गई है।


रेलवे बोर्ड ने एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट फरवरी में बहाल करने दिया था आदेश…..
रेलवे बोर्ड ने बीते फरवरी में माह में एक्सप्रेस ट्रेनों में कोरोना काल से बंद की गई जनरल टिकट की सुविधा को फिर से बहाल करने का आदेश दिया था। लेकिन, SECR के अफसरों ने तकनीकी खामियों का हवाला देकर एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट की सुविधा अब तक शुरू नहीं की है। इसके चलते एक्सप्रेस ट्रेनों के जनरल कोच में यात्रा करने वाले यात्रियों को रिजर्वेशन कराना पड़ रहा है। इससे उनकी परेशानी बढ़ गई है। जबकि, दूसरे जोन के एक्सप्रेस ट्रेनों में यह सुविधा शुरू कर दी गई है।
अब छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट सुविधा का मरहम
लगातार ट्रेनों को रद्द करने रेलवे के फैसले से क्षेत्र के लोगों का आक्रोश भड़क रहा है। छात्र युवा नागरिक जोन संघर्ष समिति के साथ ही जिला कांग्रेस कमेटी ट्रेनों को बंद करने का विरोध कर आंदोलन शुरू कर दिया है। उन्होंने रेल रोको आंदोलन करते हुए छत्तीसगढ़ से मालगाड़ियां और कोयला परिवहन रोकने की चेतावनी दी है। रेलवे के खिलाफ भड़क रहे आक्रोश को देखते हुए अब SECR ने 200 से अधिक एक्सप्रेस ट्रेनों में सिर्फ छह गाड़ियों में जनरल टिकट बहाल करने का फैसला लिया है।
इन गाड़ियों में एक और 14 जून से बहाल होगा जनरल टिकट…….
SECR ने लंबे समय से मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में बंद पड़े जनरल टिकट की सुविधा को फिर से बहाल करने का आदेश जारी किया है। लेकिन, अभी सिर्फ छह ट्रेनें जिनमें दुर्ग -छपरा -दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस, दुर्ग – निजामुद्दीन -दुर्ग संपर्कक्रांति एक्सप्रेस, दुर्ग राजेंद्रनगर – दुर्ग एक्सप्रेस और दुर्ग – नवतनवा एक्सप्रेस में 1 जून से रेल यात्रियों को जनरल टिकट की सुविधा देने का आदेश जारी किया है। इसी तरह दुर्ग – भोपाल – दुर्ग अमरकंटक एक्सप्रेस और जम्मूतवी एक्सप्रेस में 14 जून से जनरल टिकट की सुविधा बहाल करने का फैसला लिया है।
रेलवे जोन से होकर गुजरती है 343 ट्रेन, कोरोना काल से बंद हैं 87 ट्रेनें………
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर जोन से होकर 343 एक्सप्रेस और लोकल ट्रेनें चलती है। कोरोना काल के दौरान इन सभी गाड़ियों का परिचालन बंद कर दिया गया था। बाद में धीरे-धीरे कर कुछ गाड़ियों को स्पेशल नाम देकर शुरू किया गया। फिर कोरोना का संक्रमण खत्म हुआ, तब ज्यादातर ट्रेनों को बहाल कर दिया गया। लेकिन, इसके बाद भी छत्तीसगढ़ से होकर गुजरने वाली 87 ट्रेनों को अब तक शुरू नहीं किया गया है। वहीं, पिछले तीन माह से कोयला परिवहन के नाम से 40 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। जबकि, अभी भी 36 से अधिक गाड़ियां जून तक कैंसिल हैं। खास बात यह है कि रेलवे की ओर से 200 से अधिक मेल व एक्सप्रेस गाड़ियां चल रही है, जिसमें रेलवे बोर्ड के आदेश के बाद भी अब तक जनरल टिकट की सुविधा नहीं दी जा रही है।

CPRO बोले- एक्सप्रेस ट्रेनों में बहाल की जा रही जनरल टिकट की सुविधा……..
रेलवे जोन के CPRO साकेत रंजन का कहना है कि एक्सप्रेस ट्रेनों में कोरोना काल से बंद जनरल टिकट सुविधा धीरे-धीरे बहाल की जा रही है। अभी फिलहाल छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट सुविधा मुहैया कराने का आदेश जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस ट्रेनों में तकनीकी खामियों के चलते एक साथ जनरल टिकट की सुविधा मुहैया नहीं कराई जा सकती। फिर भी रेलवे प्रशासन की कोशिश है कि सभी एक्सप्रेस ट्रेनों में जल्द ही जनरल टिकट से यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध करा दी जाए।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles


बिलासपुर। रेलवे प्रशासन का छत्तीसगढ़ के यात्रियों के साथ मनमानी का व्यवहार अब भी नहीं थम रहा है। रेलवे बोर्ड ने कोरोना काल से बंद एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल करने का आदेश दिया था। इसके बाद भी दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (SECR) के अफसरों ने छत्तीसगढ़ से होकर गुजरने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल नहीं किया है। बल्कि, उल्टा यात्रियों पर 36 ट्रेनें कैंसिल कर परेशानी का बोझ डाल दिया। अब जब रद्द ट्रेनें शुरू करने की मांग की जा रही है तो परेशान यात्रियों के जख्म में राहत देने का दावा किया जा रहा है और केवल छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट बहाल करने का फैसला लिया है।
रेलवे ने कोरोना काल के दौरान ट्रेनों को बंद कर दिया था। बाद में जब ट्रेनों को स्पेशल बनाकर शुरू किया गया, तब जनरल टिकट की सुविधा बंद कर दी गई थी। इसके चलते यात्रियों को एक्सप्रेस ट्रेनों के जनरल बोगियों में भी यात्रा करने के लिए रिजर्वेशन कराना पड़ रहा है। इससे यात्रियों को परेशानी हो रही है। लेकिन, रेलवे के अफसरों को छत्तीसगढ़ के यात्रियों को होने वाली असुविधा से कोई सरोकार नहीं है। यही वजह है कि मालगाड़ी और कोयला परिवहन करने के नाम पर दो माह पहले करीब 40 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया। वहीं अफसरों क मनमानी ऐसी की अब फिर से 36 ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है। इससे भीषण गर्मी में सफर करने वाले यात्रियों की दिक्कतें बढ़ गई है।


रेलवे बोर्ड ने एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट फरवरी में बहाल करने दिया था आदेश…..
रेलवे बोर्ड ने बीते फरवरी में माह में एक्सप्रेस ट्रेनों में कोरोना काल से बंद की गई जनरल टिकट की सुविधा को फिर से बहाल करने का आदेश दिया था। लेकिन, SECR के अफसरों ने तकनीकी खामियों का हवाला देकर एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट की सुविधा अब तक शुरू नहीं की है। इसके चलते एक्सप्रेस ट्रेनों के जनरल कोच में यात्रा करने वाले यात्रियों को रिजर्वेशन कराना पड़ रहा है। इससे उनकी परेशानी बढ़ गई है। जबकि, दूसरे जोन के एक्सप्रेस ट्रेनों में यह सुविधा शुरू कर दी गई है।
अब छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट सुविधा का मरहम
लगातार ट्रेनों को रद्द करने रेलवे के फैसले से क्षेत्र के लोगों का आक्रोश भड़क रहा है। छात्र युवा नागरिक जोन संघर्ष समिति के साथ ही जिला कांग्रेस कमेटी ट्रेनों को बंद करने का विरोध कर आंदोलन शुरू कर दिया है। उन्होंने रेल रोको आंदोलन करते हुए छत्तीसगढ़ से मालगाड़ियां और कोयला परिवहन रोकने की चेतावनी दी है। रेलवे के खिलाफ भड़क रहे आक्रोश को देखते हुए अब SECR ने 200 से अधिक एक्सप्रेस ट्रेनों में सिर्फ छह गाड़ियों में जनरल टिकट बहाल करने का फैसला लिया है।
इन गाड़ियों में एक और 14 जून से बहाल होगा जनरल टिकट…….
SECR ने लंबे समय से मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों में बंद पड़े जनरल टिकट की सुविधा को फिर से बहाल करने का आदेश जारी किया है। लेकिन, अभी सिर्फ छह ट्रेनें जिनमें दुर्ग -छपरा -दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस, दुर्ग – निजामुद्दीन -दुर्ग संपर्कक्रांति एक्सप्रेस, दुर्ग राजेंद्रनगर – दुर्ग एक्सप्रेस और दुर्ग – नवतनवा एक्सप्रेस में 1 जून से रेल यात्रियों को जनरल टिकट की सुविधा देने का आदेश जारी किया है। इसी तरह दुर्ग – भोपाल – दुर्ग अमरकंटक एक्सप्रेस और जम्मूतवी एक्सप्रेस में 14 जून से जनरल टिकट की सुविधा बहाल करने का फैसला लिया है।
रेलवे जोन से होकर गुजरती है 343 ट्रेन, कोरोना काल से बंद हैं 87 ट्रेनें………
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर जोन से होकर 343 एक्सप्रेस और लोकल ट्रेनें चलती है। कोरोना काल के दौरान इन सभी गाड़ियों का परिचालन बंद कर दिया गया था। बाद में धीरे-धीरे कर कुछ गाड़ियों को स्पेशल नाम देकर शुरू किया गया। फिर कोरोना का संक्रमण खत्म हुआ, तब ज्यादातर ट्रेनों को बहाल कर दिया गया। लेकिन, इसके बाद भी छत्तीसगढ़ से होकर गुजरने वाली 87 ट्रेनों को अब तक शुरू नहीं किया गया है। वहीं, पिछले तीन माह से कोयला परिवहन के नाम से 40 से अधिक ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। जबकि, अभी भी 36 से अधिक गाड़ियां जून तक कैंसिल हैं। खास बात यह है कि रेलवे की ओर से 200 से अधिक मेल व एक्सप्रेस गाड़ियां चल रही है, जिसमें रेलवे बोर्ड के आदेश के बाद भी अब तक जनरल टिकट की सुविधा नहीं दी जा रही है।

CPRO बोले- एक्सप्रेस ट्रेनों में बहाल की जा रही जनरल टिकट की सुविधा……..
रेलवे जोन के CPRO साकेत रंजन का कहना है कि एक्सप्रेस ट्रेनों में कोरोना काल से बंद जनरल टिकट सुविधा धीरे-धीरे बहाल की जा रही है। अभी फिलहाल छह एक्सप्रेस ट्रेनों में जनरल टिकट सुविधा मुहैया कराने का आदेश जारी किया गया है। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस ट्रेनों में तकनीकी खामियों के चलते एक साथ जनरल टिकट की सुविधा मुहैया नहीं कराई जा सकती। फिर भी रेलवे प्रशासन की कोशिश है कि सभी एक्सप्रेस ट्रेनों में जल्द ही जनरल टिकट से यात्रा करने की सुविधा उपलब्ध करा दी जाए।