Monday, September 26, 2022

सौतेले पिता ने 5 साल की बच्ची को डुबाकर मार डाला.. फिर जुर्म छुपाने नदी में बहा दिया, चेक डेम में मिली लाश..

बिलासपुर– 5 साल की बच्ची के सौतेले पिता ने उसकी हत्या कर दी, सौतेला रिश्ता होने के कारण पहले नदी के पानी में डुबाकर, फिर बहाव की ओर बच्ची को फेककर हत्या की गई। पुलिस ने शक के आधार पर आरोपी पिता से पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ, घटना तोरवा थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के अनुसार तोरवा के पटेल मोहल्ला निवासी राधिका लहरे मजदूरी करती है, उसने गुरुवार की रात तोरवा पुलिस को बताया, कि वह सुबह घर से काम करने निकली, शाम को घर लौटने पर पता चला, कि उसकी पांच साल की बच्ची पायल लहरे दोपहर करीब 2 बजे से घर में नहीं है। घर पहुंचने के बाद उसने बच्ची की तलाश की । लेकिन , कोई पता नहीं चला । महिला की रिपोर्ट पर अपहरण की आशंका से केस दर्ज कर जांच की जा रही थी। इस दौरान पूछताछ तथा आसपास के लोगों से जानकारी लेने पर जानकारी मिली कि प्रार्थिया मन्नू बंजारे से  दूसरी शादी की है, और उसके दो बच्चे हैं, एक 10 वर्षीय बालक तथा गुमी हुई 5 वर्षीय बालिका। बालिका के साथ मन्नू बंजारे के संबंध बहुत अच्छे नहीं थे, आए दिन वह बालिका के साथ मारपीट किया करता था, घटना दिन भी दोपहर 12 से 1 बजे के बीच बालिका को उसके सौतेले पिता द्वारा अरपा नदी के तरफ ले जाते हुए देखा गया था। मामले में तोरवा पुलिस जांच कर ही रही थी इसी दौरान जानकारी मिली की कर्रा एनीकट थाना मस्तूरी में एक नाबालिग बालिका की शव मिली है, जो नदी के पानी में बहकर आई है। सूचना पर उक्त बालिका की माता को खबर दिया गया, मस्तूरी की पुलिस टीम वहां जांच कर रही थी, वहां पर तोरवा की पुलिस टीम भी बालिका के माता के साथ पहुंची, शव देखकर बालिका की माता अपनी बेटी के रूप में पहचान किया। बालिका के पिता के संदिग्ध व्यवहार के आधार पर उससे पूछताछ किया गया, प्रारंभ में वह पुलिस को गुमराह करता रहा परंतु कड़ाई से पूछताछ की गई तो वह बालिका की हत्या करना बताया। उसने बताया कि बालिका उसकी सौतेली पुत्री थी, और मोहल्ले में खेलने जाना, टीवी देखना और खर्चे के लिए पैसे मांग करना इस बात पर वह बालिका से नाराज रहता था। पहले भी एक दो बार वह उसकी पिटाई किया था, कल दोपहर में बच्ची अपने पड़ोसी के घर टीवी देख रही थी, तब आरोपी मन्नू लहरे उर्फ मन्नू बंजारे घर आया तो देखा की बालिका घर पर नहीं है। तब वह पड़ोसी के घर से उसे लेकर आया कुछ देर बाद बालिका बोली मुझे नहाने जाना है। तब संदेही भी उसके साथ नदी में नहाने गया, इस दौरान वह थोड़े गहरे पानी में ले जाकर बालिका को कुछ देर तक नदी में डूबा कर रखा, और सांस रुक जाने पर थोड़ी दूर गहरी पानी में फेंक दिया। घटना की जानकारी ना हो यह सोचकर वह फिर से घर में आ कर सो गया। शाम को बालिका की मां घर आई और बच्ची के बारे में पूछी तब वह बोला, कि आसपास खेल रही होगी, काफी देर तक बालिका घर नहीं आई, तो दोनों ढूंढने निकले, जब काफी ढूंढने के बाद भी बालिका नहीं मिली तो थाना तोरवा में आकर अपराध दर्ज कराया.. बहरहाल पुलिस आरोपी पिता को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।
  

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

बिलासपुर– 5 साल की बच्ची के सौतेले पिता ने उसकी हत्या कर दी, सौतेला रिश्ता होने के कारण पहले नदी के पानी में डुबाकर, फिर बहाव की ओर बच्ची को फेककर हत्या की गई। पुलिस ने शक के आधार पर आरोपी पिता से पूछताछ की, तो मामले का खुलासा हुआ, घटना तोरवा थाना क्षेत्र की है।

जानकारी के अनुसार तोरवा के पटेल मोहल्ला निवासी राधिका लहरे मजदूरी करती है, उसने गुरुवार की रात तोरवा पुलिस को बताया, कि वह सुबह घर से काम करने निकली, शाम को घर लौटने पर पता चला, कि उसकी पांच साल की बच्ची पायल लहरे दोपहर करीब 2 बजे से घर में नहीं है। घर पहुंचने के बाद उसने बच्ची की तलाश की । लेकिन , कोई पता नहीं चला । महिला की रिपोर्ट पर अपहरण की आशंका से केस दर्ज कर जांच की जा रही थी। इस दौरान पूछताछ तथा आसपास के लोगों से जानकारी लेने पर जानकारी मिली कि प्रार्थिया मन्नू बंजारे से  दूसरी शादी की है, और उसके दो बच्चे हैं, एक 10 वर्षीय बालक तथा गुमी हुई 5 वर्षीय बालिका। बालिका के साथ मन्नू बंजारे के संबंध बहुत अच्छे नहीं थे, आए दिन वह बालिका के साथ मारपीट किया करता था, घटना दिन भी दोपहर 12 से 1 बजे के बीच बालिका को उसके सौतेले पिता द्वारा अरपा नदी के तरफ ले जाते हुए देखा गया था। मामले में तोरवा पुलिस जांच कर ही रही थी इसी दौरान जानकारी मिली की कर्रा एनीकट थाना मस्तूरी में एक नाबालिग बालिका की शव मिली है, जो नदी के पानी में बहकर आई है। सूचना पर उक्त बालिका की माता को खबर दिया गया, मस्तूरी की पुलिस टीम वहां जांच कर रही थी, वहां पर तोरवा की पुलिस टीम भी बालिका के माता के साथ पहुंची, शव देखकर बालिका की माता अपनी बेटी के रूप में पहचान किया। बालिका के पिता के संदिग्ध व्यवहार के आधार पर उससे पूछताछ किया गया, प्रारंभ में वह पुलिस को गुमराह करता रहा परंतु कड़ाई से पूछताछ की गई तो वह बालिका की हत्या करना बताया। उसने बताया कि बालिका उसकी सौतेली पुत्री थी, और मोहल्ले में खेलने जाना, टीवी देखना और खर्चे के लिए पैसे मांग करना इस बात पर वह बालिका से नाराज रहता था। पहले भी एक दो बार वह उसकी पिटाई किया था, कल दोपहर में बच्ची अपने पड़ोसी के घर टीवी देख रही थी, तब आरोपी मन्नू लहरे उर्फ मन्नू बंजारे घर आया तो देखा की बालिका घर पर नहीं है। तब वह पड़ोसी के घर से उसे लेकर आया कुछ देर बाद बालिका बोली मुझे नहाने जाना है। तब संदेही भी उसके साथ नदी में नहाने गया, इस दौरान वह थोड़े गहरे पानी में ले जाकर बालिका को कुछ देर तक नदी में डूबा कर रखा, और सांस रुक जाने पर थोड़ी दूर गहरी पानी में फेंक दिया। घटना की जानकारी ना हो यह सोचकर वह फिर से घर में आ कर सो गया। शाम को बालिका की मां घर आई और बच्ची के बारे में पूछी तब वह बोला, कि आसपास खेल रही होगी, काफी देर तक बालिका घर नहीं आई, तो दोनों ढूंढने निकले, जब काफी ढूंढने के बाद भी बालिका नहीं मिली तो थाना तोरवा में आकर अपराध दर्ज कराया.. बहरहाल पुलिस आरोपी पिता को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।