Thursday, October 6, 2022

यूक्रेन में फंसे छत्तीसगढ़ के स्टूडेंट्स ने भूपेश सरकार से लगाई मदद की गुहार…

रायपुर। यूक्रेन में रूसी हमले के बीच छत्तीसगढ़ से मेडिकल की पढ़ाई करने गए छात्र-छात्राओं के साथ उनके परिवार वालों की परेशानी बढ़ा दी है. ऐसे में छात्रों ने छत्तीसगढ़ सरकार से जल्द कदम उठाने की अपील की है.

प्रदेश के 60 से ज्यादा छात्र यूक्रेन में एमबीबीएस करने गए हैं। इनमें से दर्जनों ने राज्य सरकार से मदद मांगी है। फिलहाल राज्य सरकार यह स्पष्ट नहीं कर पाई है कि यूक्रेन में छत्तीसगढ़ के कितने नागरिक फंसे हैं। इसकी जानकारी जुटाने और मदद के लिए राज्य सरकार ने गणेश मिश्र को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इधर जिन छात्रों की अभी तक छत्तीसगढ़ वापसी नहीं हो पाई है उनके परिजनों की चिंता बढ़ गई है। परिजनों ने जल्द से जल्द छात्रों को स्वदेश लाने की गुहार राज्य सरकार और केंद्र सरकार से लगाई है।

रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े जंग को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार ने यूक्रेन में फंसे छात्रों और उनके परिजनों के लिए हेल्प डेस्क शुरू किया है। नोडल अधिकारी गणेश मिश्र ने बताया कि प्रदेश के तीस पालकों ने यूक्रेन में फंसे अपने बच्चों और दो छात्रों ने यूक्रेन से फोन करके जानकारी दी है। संपर्क करने वालों की लिस्टिंग की जा रही है। लिस्ट यूक्रेन में भेजकर दूतावास में रह लोगों से मदद मांगी जा रही है।

GiONews Team
Editor In Chief

Stay Connected

4,364FansLike
5,464FollowersFollow
3,245SubscribersSubscribe

Latest Articles

रायपुर। यूक्रेन में रूसी हमले के बीच छत्तीसगढ़ से मेडिकल की पढ़ाई करने गए छात्र-छात्राओं के साथ उनके परिवार वालों की परेशानी बढ़ा दी है. ऐसे में छात्रों ने छत्तीसगढ़ सरकार से जल्द कदम उठाने की अपील की है.

प्रदेश के 60 से ज्यादा छात्र यूक्रेन में एमबीबीएस करने गए हैं। इनमें से दर्जनों ने राज्य सरकार से मदद मांगी है। फिलहाल राज्य सरकार यह स्पष्ट नहीं कर पाई है कि यूक्रेन में छत्तीसगढ़ के कितने नागरिक फंसे हैं। इसकी जानकारी जुटाने और मदद के लिए राज्य सरकार ने गणेश मिश्र को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। इधर जिन छात्रों की अभी तक छत्तीसगढ़ वापसी नहीं हो पाई है उनके परिजनों की चिंता बढ़ गई है। परिजनों ने जल्द से जल्द छात्रों को स्वदेश लाने की गुहार राज्य सरकार और केंद्र सरकार से लगाई है।

रूस और यूक्रेन के बीच छिड़े जंग को लेकर छत्तीसगढ़ सरकार ने यूक्रेन में फंसे छात्रों और उनके परिजनों के लिए हेल्प डेस्क शुरू किया है। नोडल अधिकारी गणेश मिश्र ने बताया कि प्रदेश के तीस पालकों ने यूक्रेन में फंसे अपने बच्चों और दो छात्रों ने यूक्रेन से फोन करके जानकारी दी है। संपर्क करने वालों की लिस्टिंग की जा रही है। लिस्ट यूक्रेन में भेजकर दूतावास में रह लोगों से मदद मांगी जा रही है।